Breaking News

हाथरस गैंगरेप मामला : पीड़िता की मौत, इशारों में बयां की थी दरिंदगी

  • एक नामजद लवकुश को गिरफ्तार कर लिया गया है. शेष दो आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयास में पुलिस जुटी हुई है

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के हाथरस में हुए गैंगरेप पीड़िता की आज मौत हो गई. पीड़िता ने दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया. चंदपा थाना क्षेत्र की रहने वाली युवती के साथ 14 सितंबर को गैंगरेप की वारदात हुई थी. गैंगरेप के बाद उसके ऊपर जानलेवा हमला भी किया गया था.

दरिंदगी की शिकार पीड़िता की मौत

हाथरस गैंगरेप पीड़िता को वारदात के बाद इलाज के लिए अलीगढ़ के जेएन मेडिकल में भर्ती कराया गया था. सोमवार को ही पीड़िता को सफदरजंग रेफर किया गया था. जहां पर उसकी हालत नाजुक बनी थी. आरोप है कि युवती के साथ गांव के कुछ लोगों ने खेत में गैंगरेप किया था. परिवार से मिली जानकारी के मुताबिक युवती का शव शाम तक गांव ले जाया जाएगा. उसके बाद उसका अंतिम संस्कार गांव में ही किया जाएगा.

बसपा अध्यक्ष ने की फास्ट ट्रैक कोर्ट में मुकदमा चलाने की मांग

पीड़िता की मौत पर बसपा अध्यक्ष मायावती ने दुख जताया है. साथ ही मांग कि है कि सरकार पीड़ित परिवार की हर संभव सहायता करे व फास्ट ट्रैक कोर्ट में मुकदमा चलाकर अपराधियों की जल्द सजा सुनिश्चित करे.

क्या है पूरा मामला?

हाथरस जिले की चंदपा कोतवाली क्षेत्र में पिछले दिनों गांव के ही एक युवक ने युवती की गला दबाकर हत्या का प्रयास किया था. मामले में पुलिस ने सामूहिक दुष्कर्म की धारा को भी जोड़ा था. साथ ही मामले में तीन अन्य लोगों के नाम नामजद एफआईआर दर्ज की गई थी. तीन में से एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया था. शेष आरोपियों की तलाश में पुलिस जुटी है.

गला दबाकर हत्या का भी प्रयास किया गया

बीती 14 सितंबर को एक युवती अपनी मां और भाई के साथ खेत में चारा काटने गई थी. आरोप है कि उस समय गांव का युवक संदीप खेत पर आया और युवती को घसीट कर ले गया, लेकिन किसी तरह युवती वहां से भाग निकली. परिजनों ने युवक पर युवती की गला दबाकर हत्या का प्रयास करने का आरोप लगाया था.

आनन-फानन में लड़की को बागला जिला अस्पताल लाया गया, जहां से उसे अलीगढ़ रेफर कर दिया गया. घटना के बाद इस मामले में राजनीति शुरू हो गई थी. पार्टियों के नेता आए दिन एसपी व डीएम से पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने की मांग कर रहे थे. युवती अभी तक अस्पताल में भर्ती थी, इसीलिए उसका बयान पंजीकृत नहीं हो पाया था.

तीनों आरोपियों पर सामूहिक दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज

इसके बाद युवती के बयानों के आधार पर पुलिस ने मामले में धारा 376-डी बढ़ाया और तीन नामजदों रवि, रामू और लवकुश के नाम शामिल किए. बता दें कि धारा 376-डी के तहत तीनों आरोपियों पर सामूहिक दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज किया गया. इनमें से एक नामजद लवकुश को गिरफ्तार कर लिया गया है. शेष दो आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयास में पुलिस जुटी हुई है.

अपर पुलिस अधीक्षक प्रकाश कुमार ने बताया कि 20 वर्षीय युवती की हत्या के संबंध में आरोपी के खिलाफ धारा 307 और 325 एससी एसटी एक्ट में मामला दर्ज हुआ था. युवती और उसके परिवार के 161 के बयान लेकर समुचित धाराओं में वृद्धि की गई है. मामले में पुलिस अधीक्षक द्वारा जिला जज से अनुरोध किया जाएगा कि केस को शीघ्र अतिशीघ्र फास्ट ट्रैक कोर्ट में निस्तारण कराया जाए.

Check Also

वोटर्स के मन में भाजपा और पीएम मोदी के प्रति नाराजगी

🔊 Listen to this बीजेपी आदिवासी विरोधी है इसलिए हेमंत को जेल और हेमंता को …