Breaking News

हाथरस घटना और उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा राहुल और प्रियंका के साथ किए गए दुर्व्यवहार के खिलाफ विरोध मार्च

  • दलित बेटी को कैंडल जलाकर दी गई श्रद्धांजलि

रांची। हाथरस की घटना और उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के खिलाफ आज किये गये दुव्र्यवहार के खिलाफ झारखंड प्रदेश प्रोफेशनल कांग्रेस के बैनर तले पार्टी के वरिष्ठ नेताओं-कार्यकत्र्ताओं ने राजधानी रांची स्थित अलबर्ट एक्का चौंक पर विरोध मार्च निकाला एवं कैंडल जलाकर दलित बेटी के लिए कैंडल जलाकर श्रद्धांजलि अर्पित की। घंटे भर से ज्यादा कांग्रेस जनों ने योगी आदित्यनाथ एवं प्रधानमंत्री के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

योगी सरकार पीड़ित परिवार को धमका कर चुप कराना चाहती है

इस मौके पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष डा रामेश्वर उराँव ने कहा कि एक ओर भाजपा-आरएसएस के नेता हिन्दू धर्म की रक्षा की बात करते है, वहीं हिन्दू धर्म पर विश्वास रखने वाला कोई भी व्यक्ति रात में चिता को मुखाग्नि नहीं देता है।हिन्दू धर्म को मानने वाले एक पिता के लिए इससे बड़ा कोई दुर्भाग्य नहीं हो सकता कि वह अपनी बेटी चिता जला ना पाये और अंतिम समय उसका मुख देख ना पाये। उन्होंने कहा कि इसके लिए सीधे तौर पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री जिम्मेवार है। यूपी में लगातार अन्याय पर अन्याय हो रहा है। पूरे परिवार को नजरबंद कर रखा गया है। योगी सरकार पीड़ित परिवार को धमका कर चुप कराना चाहती है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में जंगलराज में बेटियों पर जुल्म हो रहा है और सरकार तथा भाजपा नेता सीनाजोरी कर रहे है। इस सरकार में जीते जी बेटियों को सम्मान नहीं मिला और अंतिम संस्कार की गरिमा को भी छीन लिया गया।

भाजपा का नारा है, बेटी बचाओ नहीं, तथ्य छुपाओ, सत्ता बचाओ

कार्यक्रम का नेतृत्व कर रहे प्रदेश प्रोफेशनल कांग्रेस के अध्यक्ष आदित्य विक्रम जयसवाल ने कहा कि भाजपा का नारा है, बेटी बचाओ नहीं, तथ्य छुपाओ, सत्ता बचाओ। यूपी में एक और दलित बेटी के साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया गया है और जिस तरह से घटना को अंजाम दिया गया है, उसे सोच कर भी रूह कांपती है। दुष्कर्मियों ने पीड़िता के दोनों पांव और कमर तोड़ डाली और बाद में भी उसके साथ किस तरह से कुकृत्य किया गया है, यह किसी से छिपा नहीं है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में संविधान की सरकार या अपराधियों की सरकार, यह सभी सोचने के लिए मजबूर है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जबरन पीड़िता का अंतिम संस्कार कराया, बेटी की अंतिम यात्रा को भी रीति रिवाज से पूरा नहीं होने दिया गया, इससे अपमानजनक और क्या हो सकता है। हाथरस में बाल्मिकी समाज के परिवार पर अत्याचार और बर्बरता की सब हदें पार कर बहाशी जानवारों ने उसकी जुबां काट दी, कब तक इंसानियम कुचली जाएगी और कब तक हैवानियत बरपायी जाएगी।

प्रधानमंत्री के इशारे पर राहुल गांधी के साथ हुआ दुर्व्यवहार:कांग्रेस

झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे , लाल किशोरनाथ शाहदेव और राजेश गुप्ता छोटू ने उत्तर प्रदेश के हाथरस की विभत्स घटना और पीड़ित परिवार से मिलने जा रहे पार्टी के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी तथा प्रियंका गांधी से दुव्र्यवहार मामले को शर्मनाक बताते हुए दोषियों के खिलाफ अविलंब कार्रवाई की मांग की।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इशारे पर राहुल गांधी के गिरेबां में हाथ डालने की कोशिश की गयी, देश की जनता और कांग्रेस कार्यकत्र्ता समय आने पर इसका माकूल जवाब देंगे। उन्होंने कहा कि यह कौन सा कानून है कि राजनीतिक दल के एक नेता को पीड़ित परिजनों से मिलने से रोक दिया जाए। उन्होंने कहा कि एक ओर भाजपा-आरएसएस के नेता हिन्दू धर्म की रक्षा की बात करते है, वहीं हिन्दू धर्म पर विश्वास रखने वाला कोई भी व्यक्ति रात में चिता को मुखाग्नि नहीं देता है।

योगी सरकार पीड़ित परिवार को धमका कर चुप कराना चाहती है

हिन्दू धर्म को मानने वाले एक पिता के लिए इससे बड़ा कोई दुर्भाग्य नहीं हो सकता कि वह अपनी बेटी चिता जला ना पाये और अंतिम समय उसका मुख देख ना पाये। उन्होंने कहा कि इसके लिए सीधे तौर पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री जिम्मेवार है, यूपी में लगातार अन्याय पर अन्याय हो रहा है। पूरे परिवार को नजरबंद कर रखा गया है, योगी सरकार पीड़ित परिवार को धमका कर चुप कराना चाहती है।

प्रदेश प्रवक्ता राजेश गुप्ता छोटू ने कहा कि उत्तर प्रदेश में जंगलराज में बेटियों पर जुल्म हो रहा है और सरकार तथा भाजपा नेता सीनाजोरी कर रहे है। इस सरकार में जीते जी बेटियों को सम्मान नहीं मिला और अंतिम संस्कार की गरिमा को भी छीन लिया गया।

प्रदेश प्रवक्ताओं ने कहा कि भाजपा का नारा है, बेटी बचाओ नहीं, तथ्य छुपाओ, सत्ता बचाओ। यूपी में एक और दलित बेटी के साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया गया है। जिस तरह से घटना को अंजाम दिया गया है।उसे सोच कर भी रूह कांपती है। दुष्कर्मियों ने पीड़िता के दोनों पांव और कमर तोड़ डाली और बाद में भी उसके साथ किस तरह से कुकृत्य किया गया है।यह किसी से छिपा नहीं है।उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में संविधान की सरकार या अपराधियों की सरकार, यह सभी सोचने के लिए मजबूर है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जबरन पीड़िता का अंतिम संस्कार कराया। बेटी की अंतिम यात्रा को भी रीति रिवाज से पूरा नहीं होने दिया गया। इससे  अपमानजनक और क्या हो सकता है। हाथरस में बाल्मिकी समाज के परिवार पर अत्याचार और बर्बरता की सब हदें पार कर बहाशी जानवारों ने उसकी जुबां काट दी, कब तक इंसानियम कुचली जाएगी और कब तक हैवानियत बरपायी जाएगी।

शामिल थे

आज के विरोध प्रदर्शन कार्यक्रम में झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष केशव महतो कमलेश, देवजीत देवघरिया, विभय शाहदेव,जितेंद्र त्रिवेदी ,छाती मुंजाल, पायल सेठी, हिना खान ,कोमल कृति, अमरजीत, अनिल सिंह ,कृष्णा राहुल राय, पुनीत ,आयुष,आशिक,जियाउल, गौरव आनंद, सुषमा हेंब्रम मुख्य रूप से शामिल थे।

Check Also

मतदान के बाद जेबीकेएसएस समर्थित निर्दलीय प्रत्याशी ने किया धन्यवाद प्रकट

🔊 Listen to this मतदाताओं ने दिया जागरूकता का परिचय,संघर्ष के सफर में साथ देने …