Breaking News

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने महान विरासत कांग्रेस की श्रृंखला धरोहर की 15वीं कोशिश जारी की

  • मंदिर गई श्रृंखला में सरदार वल्लभभाई पटेल की कहानी समर्पण की गई

रांची। झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सह खाद्य आपूर्ति एवं वित्त मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव ने कहा कि एक सफल बैरिस्टर सरदार वल्लभ भाई पटेल की सरदार बनने की कहानी समर्पण और मजबूत इरादे के धागे से बनी हुई है। सरदार बनना इतना आसान नहीं था।उसके लिए जरूरी था शानदार वकालत को छोड़ने का साहस जो पटेल साहब ने ही दिखाए। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष डॉ रामेश्वर उरांव आज राष्ट्र निर्माण की अपने महान विरासत कांग्रेस की श्रृंखला धरोहर की 15 वीं वीडियो को अपने सोशल मीडिया व्हाट्सएप इंस्टाग्राम फेसबुक एवं ट्विटर पर जारी पोस्ट को शेयर करने के उपरांत मीडिया कर्मियों से बातचीत के दौरान अपने उद्गार व्यक्त कर रहे थे। डॉ उरांव ने कहा कि इंग्लैंड से कानून की पढ़ाई पूरी करके 1913 में भारत लौटे सरदार वल्लभभाई पटेल गुजरात के सबसे प्रसिद्ध वकील थे। 1917 में प्लेग संकट में पटेल साहब उस प्रवृत्ति को त्यागते हुए अहमदाबाद मुंसिपालिटी बोर्ड के सदस्य के साथी स्वच्छता समिति के चेयरमैन का दायित्व चुने गए। उस महामारी के दौरान पटेल साहब खुद जनता की सहायता के लिए अहमदाबाद की सड़कों पर उतर गए। नालियों की सफाई और दवा के छिड़काव पर बारीकी से नजर रखने लगे।हालांकि इससे पहले पटेल प्लेग के शिकार भी हो चुके थे। लेकिन अपने पद की जिम्मेदारी के भाव ने उनको जनता के दुख दर्द में शामिल कर दिया। उस समय की बारी में हरिजन पत्रिका के 10 फरवरी 1951 के अंक में पालन करते हैं पटेल की आंखें कहती हैं। मैंने स्वच्छता समिति के चेयरमैन का दायित्व दिया है। अगर मैं अपने पद का दायित्व छोड़ता हूँ तो यह लोगों के साथ विश्वासघात होगा। मैं बचाव में जुटे सफाई कर्मचारियों को यहां प्लेग के जोखिम में छोड़कर अपनी सुरक्षा के लिए कैसे भाग सकता हूँ। इसी बीच चंपारण सत्याग्रह की सफलता से गांधी जी की लोकप्रियता चरम पर थी।ऐसे में गांधीजी को गुजरात सभा के अध्यक्ष पद पर चुना गया तो गांधीजी के निवेदन पर ही सरदार पटेल ने गुजरात सभा में सेक्रेटरी के रुप में सक्रिय राजनीति में कदम रखा। आगे चलकर 1920 में सरदार पटेल गुजरात कांग्रेस के पहले अध्यक्ष बने। प्लेग संकट में तो पटेल साहब की नेतृत्व झलक मात्र थी। अभी मील के कई पत्थर गाड़ने बाकी थे।अभी तो पटेल साहब की लौह इरादों से ब्रिटिश हुकूमत की नींव हिलनी बाकी थी।

वैश्विक महामारी कोविड-19 के दौर में पटेल को याद करना अहम है

उन्होंने कहा कांग्रेस विधायक दल नेता आलमगीर आलम ने कांग्रेस की धरोहर पन्द्रहवीं वीडियो को अपने सोशल मीडिया हैंडल फेसबुक ट्विटर व्हाट्सएप इंस्टाग्राम पर जारी करते हुए कहा कि वैश्विक महामारी कोविड-19 के दौर में पटेल को याद करना अहम है कि उन्होंने प्लेग फैलने पर किस तरह के कदम उठाए थे और किस तरह अदम्य साहस का परिचय दिया। दिसंबर 1917 में अहमदाबाद में प्लेग फैल गया। स्कूल कचहरी बंद हो गए और ढेर सारे लोग शहर छोड़कर चले गए।अहमदाबाद की ख्याति वहां के कपड़ा उद्योग के कारण थी।पटेल उस समय गांधी के प्रभाव में आ चुके थे।उन्होंने व्यक्तिगत सुरक्षा की अनदेखी करते हुए शहर छोड़ने से इंकार कर दिया और अहमदाबाद की गलियों में सीवर की सफाई कराते और प्लेटग प्रभावित इलाकों में दवाओं का छिड़काव कराते थे। जो राजनीति एवं सेवाभाव की एक अद्भुत मिसाल थी।

इस धरोहर वीडियो के माध्यम से देश की जनता देख रही है

झारखंड सरकार में कांग्रेस के मंत्री बादल पत्रलेख एवं बन्ना गुप्ता ने धरोहर वीडियो को जारी करते हुए कहा कि अहमदाबाद प्लेग के दौरान पटेल की सेहत पर भी बुरा असर पड़ा। लेकिन यह पहला मौका था। जब उनकी नेतृत्व क्षमता से लोग प्रभावित हुए। जब सूट बूट और फराटे दार अंग्रेजी बोलने वाले पटेल ने गांधी के आकर्षण में राजनीति में ना आने की अपनी कसम तोड़ते हुए गुजरात सभा के सेक्रेटरी के रूप में राजनीति में कदम रखा कांग्रेस पार्टी अपने बुजुर्गों और देश के लिए किए गए कार्यों को कभी जीते जी भूल नहीं सकती। आजादी पाने के लिए हमारे महान विभूतियों ने जो कुर्बानियां और बलिदान दी हैं इस धरोहर वीडियो के माध्यम से देश की जनता देख रही है।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे, लाल किशोर नाथ शाहदेव एवं डॉ राजेश गुप्ता छोटू ने अपने सोशल मीडिया के माध्यम से धरोहर वीडियो की पन्द्रहवीं एपिसोड को झारखंड की जनता के नाम समर्पित करते हुए कहा है कि पटेल जनता के साथ देश की सेवा में अपनी पूरी जिंदगी लगा दी ,इससे वर्तमान भारत के समाजसेवी और नेताओं को सीखने की जरूरत है ,पटेल के व्यवहार को मूर्त रूप देकर न सिर्फ प्लेग और कोविड जैसी प्राकृतिक आपदाओं से लड़ा और जीता जा सकता है बल्कि देश को भी प्रगति के पथ पर लाया जा सकता है।

यह श्रृंखला आगे भी जारी रहेगी

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी द्वारा धरोहर वीडियो की आज जारी श्रृंखला में सरदार बल्लभ भाई पटेल का पदार्पण महानायक के रुप में हुआ जिसने पूरी दुनिया में भारत वासियों की एक अलग पहचान बना दी। पटेल ने देशवासियों के लिए जो काम किया वह इतिहास के लिए और पूरी दुनिया के लिए अविस्मरणीय घटना है और उसी मार्ग पर कांग्रेस पार्टी और देश आगे बढ़ रही है। कांग्रेस प्रवक्ताओं ने कहा धरोहर वीडियो के माध्यम से कांग्रेस के किए गए कार्यों को देश की जनता के सामने लाने का काम किया जा रहा है यह श्रृंखला आगे भी जारी रहेगी।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी सोशल मीडिया के कोऑर्डिनेटर गजेंद्र प्रसाद सिंह के नेतृत्व में हजारों काग्रेस के पदाधिकारियों, कार्यकर्ताओं, विधायक ,सांसद, मंत्रियों ने धरोहर वीडियो को अपने सोशल मीडिया के माध्यम से जनता के समक्ष प्रेषित किया है जो काफी ट्रेंड कर यहा है।

Check Also

पति संग हुई नोकझोंक,पत्नी दो बच्चे लेकर निकली घर से,थाना में पति ने दिया आवेदन

🔊 Listen to this भुरकुंडा।भुरकुंडा थाना में एक पति ने अपनी पत्नी और दो बच्चे …