Breaking News

कोरोना वैक्सीन :  जुलाई 2021 तक 25 करोड़ लोगों को टीका मुहैया कराएगी सरकार

  • स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन सिंह ने बताया है कि सरकार को कोरोना वैक्सीन क 400 से 500 करोड़ प्राप्त होगा

नई दिल्ली । देश में कोरोना संकट के बीच वैक्सीन को लेकर अब तक की सबसे बड़ी खबर आ रही है। स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन सिंह ने बताया है कि सरकार, जुलाई 2021 तक देश में 25 करोड़ लोगों को कोरोना की वैक्सीन मुहैया कराएगी। उन्होंने ये बात आज संडे संवाद कार्यक्रम के दौरान कही। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा है कि सरकार का लक्ष्य, जुलाई 2021 तक 25 करोड़ लोगों को वैक्सीन मुहैया कराने का है। उन्होंने साथ ही कहा है कि सरकार को कोरोना वैक्सीन क 400 से 500 करोड़ प्राप्त होगा और इसमें से अगले साल जुलाई तक 25 करोड़ लोगों के टीका के इस्तेमाल का लक्ष्य रखा गया है।

हमारी ये प्राथमिकता है कि देश के प्रत्येक व्यक्ति के लिए वैक्सीन कैसे सुनिश्चित की जाए

स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने संडे संवाद कार्यक्रम के दौरान कहा कि हमारी सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए चौबीसों घंटे काम कर रही है कि वे कोरोना वैक्सीन के तैयार होने के बाद उसके का और समान वितरण करे। स्वास्थ्य मंत्री ने आगे कहा कि हमारी ये प्राथमिकता है कि देश के प्रत्येक व्यक्ति के लिए वैक्सीन कैसे सुनिश्चित की जाए। उन्होंने कहा कि कोरोना वैक्सीन के सभी पहलुओं में एक उच्च-स्तरीय विशेषज्ञ निकाय है।

उन्होंने साथ ही कहा कि हमारा मोटा अनुमान और लक्ष्य है कि जुलाई 2021 तक लगभग 25 करोड़ लोगों को कोरोना वैक्सीन मुहैया कराई जाएगी। सरकार ने कहा है कि वह कुल 400 से 500 करोड़ डोज़ प्राप्त करेगी और इसका लोगों के इलाज में उपयोग करेगी।

भारत में फिलहाल तीन वैक्सीन का ट्रायल जारी

दुनियाभर में कोरोना वायरस महामारी का कहर जिस तेजी से बढ़ रहा है, उसके साथ कोरोना की वैक्सीन खोजने में भी तेजी लाई गई है। भारत में भी कोरोना की वैक्सीन पर काम चल रहा है। देश में फिलहाल तीन कोरोना वैक्सीन पर काम चल रहा है। इसमें भारत बायोटेक-आइसीएमआर की कोवैक्सिन(Covaxin), जायडस कैडिला की जाइकोव-डी और ऑक्सफोर्ड की कोरोना वैक्सीन है। भारत में बड़े पैमाने पर अलग-अलग कोरोना वैक्सीन के ट्रायल चल रहे हैं।

सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया ऑक्‍सफर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा बनाई गई वैक्‍सीन का फेज 3 ट्रायल चल रहा है। बाकी दो वैक्सीन ट्रायल के अलग-अलग चरणों में है। इस बीच फार्मा कंपनी डॉ रेड्डी लैबोरेटरीज ने बताया कि रूस में आखिरी चरण का ट्रायल होने के बाद और फिर रेगुलेटरी अप्रूवल मिलने के बाद वह रूस की वैक्‍सीन का भारत में डिस्‍ट्रीब्‍यूशन करेगी।

Check Also

महिला मतदान पदाधिकारियों को मालाएं पहनाकर बढ़ाया गया हौसला

🔊 Listen to this सफलतापूर्वक निर्वाचन संपन्न कराने की शुभकामनाओं के साथ जिला स्तरीय वरीय …