Breaking News

प्रसिद्ध शक्तिपीठ मां छिन्नमस्तिका मंदिर कल प्रातः से भक्तों के लिए खुलेगा

  • उपायुक्त ने प्रेस वार्ता कर रजरप्पा मंदिर में श्रद्धालुओं के दर्शन हेतु जारी प्रोटोकॉल के संबंध में दी जानकारी
  • ऑनलाइन टोकन प्राप्त करने के बाद ही मिलेगी दर्शन की अनुमती
  • https://rajrappa.in/booking/ पर क्लिक कर श्रद्धालु निशुल्क रूप से प्राप्त कर सकते हैं टोकन
  • श्रद्धालु, दुकानदारों सहित अन्य सभी को करना होगा त्रिशूल मॉडल का पालन
  • श्रद्धालु सुबह 6:00 से अपराह्न 12:00 बजे तक कर सकेंगे दर्शन
  • सुबह 5:00 से 6:00 एवं दोपहर 12:00 से 2:00 तक दे सकेंगे बली

रामगढ़। जिला समाहरणालय सभागार में बुधवार की शाम को उपायुक्त संदीप सिंह ने मीडिया प्रतिनिधियों के साथ प्रेस वार्ता कर बृहस्पतिवार से रजरप्पा मंदिर में श्रद्धालुओं के दर्शन हेतु आने के संबंध में जिला प्रशासन द्वारा जारी किए गए प्रोटोकॉल की विस्तार से जानकारी दी।

प्रेस वार्ता के दौरान उपायुक्त ने सभी मीडिया प्रतिनिधियों को बताया कि बृहस्पतिवार से जिले के अन्य धार्मिक स्थलों सहित चितरपुर प्रखंड स्थित रजरप्पा मंदिर भी आम श्रद्धालुओं के लिए खुल रहा है। काफी प्रचलित होने के कारण बड़ी संख्या में लोगों के दर्शन हेतु आने की संभावना को देखते हुए जिला प्रशासन द्वारा विशेष तैयारियां की गई है। जिसके तहत जिला प्रशासन द्वारा त्रिशूल मॉडल बनाया गया है। जिसका पालन सभी श्रद्धालुओं, दुकानदारों सहित अन्य सभी लोगों को करना होगा। त्रिशूल मॉडल के तहत सभी को पूरे समय मास्क लगाए रखना होगा। सोशल डिस्टेंसिंग का अनिवार्य रूप से पालन करना होगा। इसके साथ ही जिला प्रशासन एवं रजरप्पा मंदिर समिति द्वारा यह सुनिश्चित किया जाएगा कि मंदिर अंतर्गत सभी क्षेत्रों को नियमित रूप से सैनिटाइज किया जाए।

प्रेस वार्ता के दौरान उपायुक्त ने बताया कि दर्शन हेतु आने वाले किसी भी श्रद्धालुओं को https://rajrappa.in/booking/ वेबसाइट के माध्यम से टोकन प्राप्त करना होगा बिना ऑनलाइन टोकन प्राप्त किए किसी भी श्रद्धालुओं को मंदिर में दर्शन की अनुमति नहीं होगी। कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखते हुए एक समय में सीमित संख्या में लोगों को मंदिर में दर्शन करने की अनुमति होगी इसके लिए अभी प्रति घंटे 80 श्रद्धालुओं की संख्या निर्धारित की गई है।

मंदिर में दर्शन हेतु समय सुबह 6:00 बजे से अपराहन 12:00 बजे तक निर्धारित की गई है। कोई भी व्यक्ति वेबसाइट पर जाकर समय के अनुसार टोकन प्राप्त कर सकते हैं। इसके साथ ही बली हेतु आने वाले श्रद्धालुओं के लिए भी समय का निर्धारण किया गया है। बली की प्रक्रिया के लिए सुबह 5:00 बजे से 6:00 बजे तक एवं अपराहन 12:00 बजे से 2:00 बजे तक का समय निर्धारित किया गया है। केवल इसी समय पर श्रद्धालुओं को बलि देने की अनुमति होगी।

प्रेस वार्ता के दौरान उपायुक्त ने सभी मीडिया प्रतिनिधियों को बताया कि कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखते हुए भीड़ नियंत्रण के उद्देश्य से जिला प्रशासन द्वारा रजरप्पा मंदिर में प्रवेश करने हेतु दो एंट्री प्वाइंट बनाए गए हैं। पहला गोला प्रखंड से होकर रजरप्पा मंदिर के लिए एवं दूसरा चितरपुर प्रखंड से होकर रजरप्पा मंदिर के लिए दोनों एंट्री पॉइंट पर पर्याप्त संख्या में पुलिस एवं मजिस्ट्रेट की तैनाती की गई है।

प्रेस वार्ता के दौरान अपर समाहर्ता जुगनू मिंज, अनुमंडल पदाधिकारी सुश्री कीर्ति श्री जी, पुलिस उपाधिक्षक प्रकाश सोए, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी श्रीमती रजनी रेजिना इंदवार, जिला सूचना एवं विज्ञान पदाधिकारी श्रीनिवास ओझा, मैनेजर आईटी वेदांत कुमार, सहायक जनसंपर्क पदाधिकारी शशांक शेखर मिश्रा, जिला सूचना एवं जनसंपर्क कार्यालय से नीतीश कुमार पासवान, जिले के विभिन्न मीडिया संस्थानों के प्रतिनिधियों सहित अन्य उपस्थित थे।

Check Also

डीआईजी की छापामारी टीम पर कोयला तस्करों ने किया हमला

🔊 Listen to this रामगढ़ के मांडू सर्किल में चल रहा कोयले का अवैध कारोबार …