Breaking News

देवघर : हाइटेंशन विद्युत तार की चपेट में आने से मजदूर की मौत

  • आक्रोशित लोगों ने तीन घंटे तक देवघर दुमका रोड़ को रखा जाम
  • घटनास्थल पर नहीं पहुंचे विद्युत विभाग के अधिकारी
  • जाम हटाने के लिए पुलिस प्रशासन को करनी पड़ी कड़ी मशक्कत

देवघर। बुधवार की दोपहर 12 बजे के आसपास को कुंडा थाना क्षेत्र के बैद्यनाथपुर बंधा में 11 हजार वोल्ट विद्युत तार की चपेट में आने से आमगाछी निवासी 22 वर्षीय युवक रविंद्र दास की मौके पर ही मौत हो गई। घटना से आक्रोशित लोगों ने तीन घंटा तक देवघर दुमका रोड़ को जाम कर दिया। सड़क जाम हटाने के लिए पुलिस प्रशासन को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी।

 

एसडीओ दिनेश कुमार यादव द्वारा परिवारिक लाभ के तहत मुआवजा दिए जाने के अलावा विद्युत विभाग की ओर से नियमानुसार दो लाख तक मुआवजा राशि दिलाने का आश्वासन दिए जाने के बाद अपराह्न 3:30 बजे के आसपास सड़क जाम हटाया गया और यातायात व्यवस्था सुचारू रूप से संचालित हो सकी। घटना के संबंध में बताया जाता है कि घटना की जानकारी शीघ्र बिजली विभाग को दी गई लेकिन कोई अधिकारी तुरंत मौका ए वारदात पर नहीं पहुंचे। हद तो तब हो गई जब सूचना मिलने के एक घंटा बाद बिजली विभाग की ओर से करंट को काटा गया। प्रवाहित करंट काटने में विलंब होता देख लोग आक्रोशित हो गए सड़क जाम कर मुआवजा दिए जाने की मांग करने लगें। घटना की सूचना मिलने के बाद कुंडा थाना प्रभारी यशवंत कुमार सिंह दलबल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे लेकिन आक्रोशित लोगों ने उनकी एक नहीं सूनी। जिसके बाद उन्होंने सड़क जाम की सूचना एसडीओ दिनेश यादव, एसडीपीओ विकास चंद्र श्रीवास्तव सहित वरिय अधिकारियों को दी। जिसके बाद दोनों रिखिया थाना प्रभारी, मोहनपुर प्रभारी, कुंडा थाना प्रभारी दलबल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और आक्रोशित लोगों को काफी समझने का प्रयास किया। लेकिन आक्रोशित लोगों ने एक नहीं सूनी।

अधिकारियों के काफी समझाने व नियमानुसार मुआवजा देने और विद्युत विभाग से भी मुआवजा दिलाने की बात कहने के बाद लोग शांत हुए।जिसके बाद शव को बिजली विभाग की ओर से शव को काफी मशकत के बाद बिजली के तार से शव को अलग कर निकाला गया। शव को पुलिस गाड़ी में रखकर पोस्टमार्टम के लिए ले जाते समय मेन रोड पर पुनः रोक दिया। शव का पोस्टमार्टम सदर अस्पताल में किए जाने के बाद शव अंतिम संस्कार के लिए परिजनों को सौंप दिया।

एक घर में पूटी का कार्य कर रहता मृतक

घटना के संदर्भ में बताया जाता है कि मृतक रविंद्र दास आमगछि का रहने वाला था। वह अपने सहयोगी बासकी दास के साथ पिछले दस दिनों से पटेल शर्मा के घर पर पुटी का कार्य कर रहा था। बुधवार को कार्य के दौरान 11 हजार वोल्ट के विद्युत तार की चपेट में आ गया। जिससे घटनस्थल पर उसकी मौत हो गयी। उसको बचाने के क्रम में उसके पार्टनर बासकी दास का पैर टूट गया। जिसका इलाज सदर अस्पताल में किया जा रहा है।

घर उपर से गुजरे तार को हटाने की मांग

मुहल्लावासियो ने बिजली विभाग की अधिकारी सहित जिला प्रशासन से बांध से महेशमारा तक लोगों के घर के छत के ऊपर से गुजरे तार को हटाने या तार की ऊंचाई बढ़ाने की मांग की है। लोगों का कहना था कि तार नहीं हटा गया तो आगे भी बड़ी घटना होने की संभावना है। मुहल्ले के लोग छत पर जाने से डरते है।

आश्रित को अधिकारियों ने दी आथिर्क सहायता

घटना के अधिकारियों ने मानवता के नाते मृतक के आश्रित को अपनी ओर से तत्काल आर्थिक सहायता प्रदान की। जिसमें एसडीपीओ विकास चंद्र श्रीवास्तव व देवघर सीओ ने 5-5 हजार का सहयोग दिया। जबकि मोहनपुर सीओ ने पारिवारिक लाभ के तहत सहायता राशि देने का अश्वासन दिया।

Check Also

भुरकुंडा पुलिस ने लूटपाट करने वाले गिरोह के चार सदस्यों को किया गिरफ्तार

🔊 Listen to this एक एयर पिस्टल और धारदार हथियार बरामद भुरकुंडा(रामगढ़)l भुरकुंडा में हथियार …