Breaking News

हजारीबाग : मजदूरों का लाभ कार्ड, पीडीएस दुकान व आवास के नाम पर अवैध वसूली का मामला उजागर

  • भुक्तभोगियों ने ठगी मामले के विरुद्ध आलाधिकारियों से की शिकायत
  • पीडीएस दुकान के आवंटन के नाम पर 60 हजार की ठगी का आरोप

राहुल कुमार

हजारीबाग। ज़िला के कटकमसांडी मे आवास निर्माण, मशरूम की खेती, पीडीएस दुकान आवंटित कराने व मजदूरों के लेबर निबंधन कार्ड का लाभ दिलाने के नाम पर ग्रामीणों से लाखों की ठगी किए जाने के मामले को लेकर कटकमसांडी प्रखंड क्षेत्र के दर्जनों ग्रामीणों ने श्रमिक मित्र के विरुद्ध जिले के आलाधिकारियों से लिखित शिक़ायत कर कार्रवाई की मांग की है। पत्र में कहा गया है कि श्रमिक मित्र नरेश मेहता अपनी पत्नी नीमा देवी के साथ मिलकर ग्रामीणों से सरकारी लाभ दिलाने के नाम पर लाखों रूपए की ठगी की है। पत्र में पांच साल पूर्व उज्जवल महिला स्वयं सहायता समूह को पीडीएस दुकान आवंटित कराने के नाम पर नरेश मेहता एकमुश्त 60 हजार रूपया लेने का आरोप है।

कानूनी प्रक्रिया में फंसाने की धमकी दी जा रही है

पैसे की वापसी की मांग करने पर नरेश मेहता द्वारा कानूनी प्रक्रिया में फंसाने की धमकी दी जा रही है‌। पत्र में पीएम आवास के नाम पर सावित्री देवी से पांच हजार, आवास व लाल कार्ड बनाने के नाम पर रिंकी देवी से दस हजार, लेबर निबंधन के नाम पर मुकेश कुमार मेहता से दो हजार, मशरूम की खेती के नाम पर सीमा कुमारी से 15 हजार व रिंकू देवी से पांच हजार की अवैध वसूली की बात कही गई है। वहीं सलाई मुंडा सहित दर्जनों ग्रामीणों से जमीन बीमा के नाम पर हजारों रूपया लेने का आरोप लगाया गया है। ग्रामीणों के मुताबिक लेबर निबंधन में प्रत्येक व्यक्ति से 490 रूपए की अवैध वसूली की गई है। बताया कि डोड़वा निवासी नरेश मेहता प्रखंड में श्रमिक मित्र के साथ साथ कृषक मित्र भी है। वहीं उसकी पत्नी नीमा देवी भी जल सहिया के साथ साथ डहुरी गांव की कृषक मित्र के दो दो पद पर कार्यरत हैं। इस सम्बन्ध में ग्रामीणों ने मुखिया साजदा परवीन की अध्यक्षता में एक बैठक कर आरोपी पति पत्नी को पद से हटाने का प्रस्ताव पारित कर बीडीओ व बीएओ को अवगत कराया है। पत्र में प्रकाश महंतों, सावित्री देवी, रिंकी देवी, पूनम देवी, रामदेव मेहता, रिंकू देवी, गीता देवी, मालती देवी, बिंदु देवी, कुंती देवी, सीताराम महंतों, ललीता देवी, शांति नाग, मुकेश कुमार मेहता, सलाई मुंडा सहित सैकड़ों ग्रामीण महिला पुरूष का नाम शामिल हैं।

निबंधन में अगर कोई अधिक पैसे लेता है, तो यह जांच का विषय है
इस सम्बन्ध में श्रम अधीक्षक अरविंद कुमार ने बताया कि श्रमिक मित्र का काम मजदूरों का निबंधन कराना है। साथ ही साथ मजदूरों के लाभ दिलाने के लिए आवेदन करना है। श्रमिको का निबंधन आनलाईन पोर्टल द्वारा होता है। इसमें श्रमिको का आधार नम्बर वन बैंक खाता लिया जाता है। बताया कि असंगठित क्षेत्र में निबंधन निशुल्क है। जबकि बीओसीडब्ल्यू के लिए 110 रूपए शुल्क लगता है। उन्होंने बताया कि इस काम के लिए प्रखंडों में अलग अलग श्रमिक मित्र प्रतिनियुक्त किए गए हैं। निबंधन में अगर कोई अधिक पैसे लेता है, तो यह जांच का विषय है।
इस सम्बन्ध में आराभुसाई पंचियत की मुखिया साजदा परवीन ने कहा कि श्रमिक मित्र नरेश मेहता की शिकायत लगातार आ रही है। नरेश मेहता पर इचाक प्रखंड में भी ठगी का आरोप लगा है। बताया कि सम्बन्धित विभाग को जांच के लिए लिखित शिक़ायत दी जा चुकी है।

Check Also

पतरातू में मतदाता जागरूकता अभियान

🔊 Listen to this पतरातू(रामगढ़)। आगामी लोकसभा निर्वाचन में नागरिकों द्वारा शत प्रतिशत मतदान करने …