Breaking News

खूँटी : एसडीएम की अध्यक्षता में दूर्गा पूजा को लेकर बैठक आयोजित

  • सरकार के दिशा-निर्देश पर ही मनाएँ दुर्गा पूजा – एसडीएम
  • शहर में सभी पूजा पंडाल के आने-जाने वाले रास्ते पर होगी लाईट की व्यवस्था

खूँटी । नगर पंचायत, कार्यालय के सभाकक्ष में अनुमण्डल पदाधिकारी हेमंत सती की अध्यक्षता में दुर्गापूजा महासमिति के पदाधिकारियों के साथ बैठक आहूत की गई। बैठक में सामाजिक दूरी का पालन करते हुए स्वच्छ एवं शांतिपूर्ण वातावरण में दुर्गा पूजा मनाने विषय पर चर्चा की गई एवं अन्य सुझाव भी प्राप्त किया गया।
अनुमण्डल पदाधिकारी द्वारा निर्देश दिया गया कि कोरोना काल को देखते हुए धारा 144 लागू है जिसके तहत किसी भी पूजा पंडालों पर ध्वनि विस्तारक यंत्र नहीं लगाया जाएगा। कोरोना काल में ज्यादा भीड़ न हो इसके लिए लाईट का साज-सज्जा भी नहीं किया जाना है। सभी पूजा पण्डालों पर सेनेटाईजर, तापमान मापने हेतु थर्मल मशीन होना आवश्यक है। आरती एवं पूजा के समय पंडाल में कम से कम भीड़ हो एवं सभी सामाजिक दूरी का पालन करें इस पर ध्यान दें।
अनुमंडल दंडाधिकारी ने कहा कि पूजा पंडाल/मंडप का उद्घाटन समारोह का आयोजन नहीं करेंगे। पूजा पंडालों के आसपास सामुदायिक खाद्य सामग्री, प्रसाद व भोग के वितरण का कार्यक्रम आयोजित नहीें करेंगे।

मूर्ति के सुरक्षित विसर्जन का निर्देश दिया गया

बैठक में स्वच्छ भारत अभियान के तहत डस्टबीन रखने पर चर्चा की गई। शहर में सभी पुजा पंडालों के आने-जाने वाले रास्ते पर लाईट की व्यवस्था पर चर्चा की गई। मौके कार्यपालक पदाधिकारी, श्री आशीष कुमार ने सभी बिजली मिस्त्री को निर्देश दिया कि दो शिफ्ट में कार्य करेंगे। साथ ही शहर के सभी हाई मास्ट लाईट को भी दुरुस्त करेंगे। साथ ही कार्यपालक पदाधिकारी ने कहा कि अष्टमी, नवमीं एवं दशमी को प्रत्येक पंडाल में दो-दो लेबर शिफ्टवार सुपरवाईजर की देख-रेख में 24 घंटे कार्यरत रहेंगे। इसके अतिरिक्त मूर्ति के सुरक्षित विसर्जन का निर्देश दिया गया।

नगर पंचायत कार्यालय के सभी कर्मी उपस्थित थे

अध्यक्ष महोदय, नगर पंचायत ने राजा तालाब, चैधरी तालाब एवं साहु तालाब की साफ-सफाई, रास्ते की मरम्मति, लाईट एवं जेनेरेटर की व्यवस्था करने का आश्वासन दिया जिसपर समिति के सदस्यों द्वारा हर्ष व्यक्त की गई। विशेष स्थानों पर टैंकर द्वारा जलापूर्ति करने का भी निर्देश दिया गया। बैठक में अनुमण्डल पदाधिकारी, कार्यपालक पदाधिकारी, अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, वार्ड पार्षदगण, नगर पंचायत के सभी पूजा पंडाल समिति के पदाधिकारी एवं नगर पंचायत कार्यालय के सभी कर्मी उपस्थित थे।

Check Also

जब राजनीति विज्ञान से प्रोफ़ेसर बना जा सकता है तो +2 शिक्षक क्यों नहीं ?

🔊 Listen to this राज्य के +2 विद्यालयों में राजनीति विज्ञान शिक्षक को शामिल करने …