Breaking News

बिहार में बाढ़ का कहर: 10 नदियों में उफान, सहरसा और मधेपुरा भी चपेट में

पटना। नेपाल और बिहार के जलग्रहण क्षेत्रों में हो रही बारिश से दस नदियों में उफान के कारण आज बाढ़ की चपेट में सहरसा और मधेपुरा जिला के भी अाने से इस विभीषिका से प्रभावित जिलों की संख्या बढ़कर 16 हो गई है।

केंद्रीय जल आयोग की ओर से बुधवार को नदियों के दैनिक जलस्तर और बाढ़ पूर्वानुमान के जारी आंकड़े के अनुसार, बिहार में बूढ़ी गंडक नदी का जलस्तर पांच स्थान पर, बागमती चार, घाघरा, अधवारा समूह, कमला-बलान और कोसी दो-दो स्थान पर तथा गंगा, गंडक, महानंदा और परमान नदी एक-एक स्थान पर खतरे के निशान से ऊपर बह रही है।
बिहार में बूढ़ी गंडक नदी का जलस्तर पश्चिम चंपारण के लालबेगियाघाट में खतरे के निशान से 10 सेंटीमीटर, मुजफ्फरपुर के सिकंदरपुर में 86 सेंटीमीटर, समस्तीपुर में 207 सेंटीमीटर, रोसड़ा में 379 सेंटीमीटर और खगड़िया में 124 सेंटीमीटर वहीं घघरा नदी सीवान के दरौल में 67 सेंटीमीटर एवं गंगपुरसिसवन में 78 सेंटीमीटर तथा गंडक नदी का गोपालगंज के डुमरियाघाट में 112 सेंटीमीटर ऊपर रिकॉर्ड किया गया।
इसी तरह बागमती नदी सीतामढ़ी जिले के ढेंग में पांच सेंटीमीटर, मुजफ्फरपुर जिले के रुन्नीसैदपुर में 147 सेंटीमीटर एवं बेनीबाद में 94 सेंटीमीटर, दरभंगा के हायाघाट में 230 सेंटीमीटर, अधवारा समूह दरभंगा के कमतौल में 105 सेंटीमीटर, एकमीघाट में 210 सेंटीमीटर, कमला बलान नदी मधुबनी के जयनगर में 31 सेंटीमीटर एवं झंझारपुर में 25 सेंटीमीटर, कोसी नदी खगड़िया के बलतारा में 202 सेंटीमीटर, कटिहार के कुरसेला में 15 सेंटीमीटर, गंगा नदी भागलपुर के कहलगांव में एक सेंटीमीटर, गंडक डुमरियाघाट में 103 सेंटीमीटर, महानंदा नदी कटिहार के झावा में 13 सेंटीमीटर तथा परमान नदी अररिया में 20 सेंटीमीटर ऊपर बह रही है।

Check Also

हजारीबाग में हर्षोल्लासपूर्वक निकला रामनवमी का दशमी जुलूस,खूब गूंजा जय श्री राम का नारा

🔊 Listen to this रामभक्ति में रंगे हजारीबाग लोकसभा के एनडीए प्रत्याशी मनीष जायसवाल, रामभक्तों …