Breaking News

झारखंड में सरकार से भी बड़े हैं कुछ जिला के पदाधिकारी, मुख्यमंत्री और गृह विभाग के आदेश को नहीं मानते

  • जिला में अपने स्वार्थ के लिए कर रहे मनमानी
  • रामगढ़ जिला में इस कारण आम लोगों को हो रही परेशानी
  • रामगढ़ के एसडीपीओ के क्षेत्र को काटने से हो रही परेशानी
  • एक ही क्षेत्र में दो पुलिस पदाधिकारियों के काम करने से आम लोग दिग्भ्रमित
  • रामगढ़ एसडीपीओ और मुख्यालय डीएसपी आमने-सामने

रांची। झारखंड राज्य में अधिकारियों की मनमानी कोई नई बात नहीं है। यहां पदस्थापित बड़े अधिकारी सरकार के आदेश को दरकिनार करते हुए अपने स्वार्थ के लिए अपनी नियम को लागू करते हैं। जिसका परिणाम क्षेत्र की जनता को झेलना पड़ता है। खासकर वर्तमान सरकार के दौरान अधिकारियों की मनमानी कुछ अधिक बढ़ी हुई दिख रही है।

राज्य के कई जिलों में पदस्थापित वरीय अधिकारी मुख्यमंत्री और गृह विभाग के आदेशों को भी दरकिनार कर अपना कानून चला रहे हैं। वरीय पदाधिकारियों के अपने नियम कानून के कारण आम लोग परेशान हो चले हैं। इससे कनीय पदाधिकारियों को भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। झारखंड के रामगढ़ जिला में ऐसा एक मामला चर्चा का विषय बना हुआ है। जिला के पुलिस अधीक्षक रामगढ़ अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी के कार्य क्षेत्र को दो भागों में बांट दिया है। ऐसा राज्य का गृह विभाग नहीं किया है। जानकारी के अनुसार रामगढ़ अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी के क्षेत्र में सात थाना और दो ओपी आते हैं।

वर्तमान पुलिस अधीक्षक ने इस क्षेत्र को बांट दिया है। वर्तमान समय रामगढ़ अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी के कार्य क्षेत्र में गोला,बरलांगा और रजरप्पा थाना क्षेत्र नहीं आते हैं। इन क्षेत्रों का कार्य मुख्यालय डीएसपी द्वारा किया जा रहा है। लेकिन वर्तमान समय यह बंटवारा परेशानी का सबब बन गया है। रामगढ़ अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी के रूप में नए डीएसपी किशोर कुमार रजक अपने अनुमंडल क्षेत्र में कार्य कर रहे हैं।

डीएसपी किशोर कुमार गोला रजरप्पा थाना क्षेत्र का भी दौरा कर क्षेत्र की समस्याओं को देख रहे हैं। जबकि वर्तमान में मुख्यालय डीएसपी भी गोला रजरप्पा और बरलांगा थाना का दौरा कर कार्य कर रहे हैं। एक ही क्षेत्र में दो डीएसपी के कार्य करने से क्षेत्र के कनीय पुलिस पदाधिकारियों की स्थिति भी पेंडुलम की हो गई है। एक ही क्षेत्र में दो पुलिस अधिकारियों के काम करने से आम लोगों के बीच भी असमंजस की स्थिति बन गई है।

वर्तमान में एक ही कार्य क्षेत्र में दो अनुमंडल पुलिस पदाधिकारियों के कार्य करने से विवाद होता दिख रहा है। पूर्व में भी रामगढ़ अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी अनुज उरांव ने इस संबंध में आवाज उठाई थी। लेकिन उनकी बातों पर भी ध्यान नहीं दिया गया था। अब वर्तमान एसडीपीओ किशोर कुमार रजक ने भी अपने कार्य क्षेत्र को लेकर सक्रियता बढ़ा दी है। वही जानकारी के अनुसार झारखंड के कुछ जिलों में जिला के पुलिस अधीक्षक की मनमानी को लेकर बहुत जल्द ही झारखंड उच्च न्यायालय में पीआईएल दर्ज होने जा रही है।

Check Also

पतरातू में मतदाता जागरूकता अभियान

🔊 Listen to this पतरातू(रामगढ़)। आगामी लोकसभा निर्वाचन में नागरिकों द्वारा शत प्रतिशत मतदान करने …