Breaking News

धार्मिक भावनाओं के साथ खिलवाड़ कर रही राज्य सरकार: अंशु पाण्डेय

रामगढ़।अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के जिला संयोजक अंशु पाण्डेय ने प्रेस बयान जारी कर होली, रामनवमी, सरहुल आदि पर्वो पर जो राज्य सरकार के द्वारा गाइडलाइन जारी की गई है उसका विरोध किया।अंशु पाण्डेय ने कहा कि कोरोना वायरस की आड़ में राज्य सरकार धार्मिक भावनाओं के साथ खिलवाड़ करने का काम कर रही है।

मुख्यमंत्री जी खुद बंगाल जाकर लाखो की भीड़ को संबोधित कर रहे,मधुपुर उपचुनाव में सैकड़ो लोगो के साथ मिलकर चुनाव प्रचार कर रहे। विधायको के साथ टूर्नामेंट खेल रहे वहाँ उन्हें बढ़ती कोरोना वायरस नही दिखती।लेकिन जहाँ बात हिंदुओं की त्योहार मनाने की बात आती है तो तुरंत सरकार को कोरोना की याद आ जाती है। रामनवमी का त्योहार हिंदुओं का सबसे बड़ा त्योहार है। अब जब लगभग 500 वर्षों के बाद अयोध्या में श्री राम का भव्य मंदिर बन रहा। पूरे देश के हिन्दू धूम धाम से रामनवमी मनाने की तैयारी कर रहे है। उस समय झारखंड में रामनवमी ना मनाने का तुगलकी फरमान निंदनीय है।

अंशु पाण्डेय ने कहा कि सरहुल केवल एक त्योहार नही है। बल्कि ये झारखंड की संस्कृति की है और जो मुख्यमंत्री जी खुद को आदिवासियों के हितैषी बताते है। वो सरहुल पर्व ना मनाने की बात कैसे कर रहे है। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद राज्य सरकार से मांग करती है कि राज्य सरकार के द्वारा जो रामनवमी और सरहुल ना मनाने का जो फरमान जारी किया गया है। उसे अविलंब वापस लिया जाए।

Check Also

जब राजनीति विज्ञान से प्रोफ़ेसर बना जा सकता है तो +2 शिक्षक क्यों नहीं ?

🔊 Listen to this राज्य के +2 विद्यालयों में राजनीति विज्ञान शिक्षक को शामिल करने …