Breaking News

किसान,मजदूर विरोधी काला कानून के विरोध में 5 मई को दुमका में किसान महापंचायत:महेंद्र पाठक

  • दुमका में किसान समन्वय संघर्ष समिति झारखंड की बैठक संपन्न

दुमका। आज शनिवार को दुमका परिसदन में किसान समन्वय संघर्ष समिति झारखंड के बैनर तले मजदूर नेता सह अखिल भारतीय आदिवासी महासभा के राष्ट्रीय महासचिव पसुपती कोल की अध्यक्षता में बैठक हुई।जिसमें मुख्य रुप से अखिल भारतीय किसान समन्वय संघर्ष समिति झारखंड के संयोजक महेंद्र पाठक , झारखंड राज्य किसान सभा के सुरजीत सिन्हा ,खेत मजदूर यूनियन के कन्हाई माल पहाड़िया मौजूद थे। सर्वप्रथम दिल्ली किसान आंदोलन में शहीद 352 किसानों को 1 मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि अर्पित की गई। उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए अखिल भारतीय किसान सभा के महासचिव महेंद्र पाठक ने कहा कि देश के मोदी सरकार आंदोलनों को कुचल रही है।देश के अंदर किसान मजदूर छात्र नौजवान सभी आंदोलन पर हैं।

उन्होंने किसान आंदोलन के नेता राकेश टिकैत पर किए गए हमले को निंदा की।दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन के समर्थन में दुमका ,गोड्डा, साहिबगंज, देवघर, जामताड़ा ,पाकुड़, जिले में 20 मई तक गांव गांव में किसान पंचायत, 20 अप्रैल से 27 अप्रैल तक सभी जिलों में जिला स्तरीय किसान पंचायत एवं 5 मई को प्रमंडलीय किसान पंचायत का आयोजन किया गया है। जिसमें सभी जिलों से हजारों की संख्या में किसान गोल बंद होंगे।संथाल परगना के गांव गांव में किसान पंचायत का आयोजन करना, गांव से लेकर प्रमंडल स्तर तक प्रचार प्रसार करना, आदि कई तरह के फैसले लिए गए।

बैठक में महेन्द्र पाठक, पशुपती कोल, कन्हाई माल पहाड़िया, विमल कांति घोष, शंभू मोहाली, निताई मंडल, अजीत माँझी, मणिलाल महुली, फिरोज महतो, सोमलाल टुडु ,पंकज गुप्ता, गौरव आनी मंटू भक्ति, बलराम राय, मनुराज सोरेन, सोमलाल टुडु, सुरजीत सिन्हा, सुभाष है ब्रह्म, अशोक साह ,अरुण सहाय, चंडी चरण पुरी, बलराम राई, शाहदरा सरजू, प्रसाद जी अरुण मंडल
सहित कई लोग मौजूद थे।

Check Also

जब राजनीति विज्ञान से प्रोफ़ेसर बना जा सकता है तो +2 शिक्षक क्यों नहीं ?

🔊 Listen to this राज्य के +2 विद्यालयों में राजनीति विज्ञान शिक्षक को शामिल करने …