Breaking News

यूपीए में नहीं एनडीए में है भितरघात का खतराः फुरकान अंसारी

  • मधुपुर उपचुनाव में जीतेंगे यूपीए प्रत्याशी
  • देवघर अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट व एम्स हमारी सरकार की देन
  • पंद्रह साल के कार्यकाल में निशिकांत दुबे ने नहीं किया विकास का कोई काम

देवघर। पूर्व सांसद सह वरिष्ठ कांग्रेस नेता फुरकान अंसारी ने एनडीए पर जमकर प्रहार करते हुए कहा है कि मधुपुर विधानसभा उपचुनाव में यूपीए में नहीं बल्कि एनडीए में भितरघात का खतरा है। एनडीए में किसका टिकट कटा है और कौन टिकट खरीद के लाया है यह मतदाता सब जानते हैं। भोंपू और माइकिंग से कुछ नहीं होता है आज के मतदाता जागरूक है और मोबाइल फोन के जरिए पल-पल की जानकारी लेते रहते हैं। इस सीट से यूपीए प्रत्याशी सह राज्य के मंत्री हाफिजूल हसन भारी मतों से जीतेंगे और झारखंड विधानसभा के सदस्य बनेंगे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व गृहमंत्री अमित शाह चुनाव के वक्त खजाना खोल देते हैं। जबकि हमारे कार्यकर्ता लालची नहीं है।

हमारे कार्यकर्ता सिर्फ अपने उद्देश की तरफ बढ़ते जाते हैं। पूर्व सांसद ने गोड्डा लोकसभा क्षेत्र के भाजपा सांसद डॉ निशीकांत दुबे पर प्रहार करते हुए कहा कि स्थानीय सांसद का 2 मई के बाद सरकार गिराने का दावा एक थोथी दलील है। उन्होंने कहा कि सांसद के तीसरे कार्यकाल में भी गोड्डा सांसद ने विकास का कोई काम नहीं किया है। मधुपुर व देवघर में उन्होंने कौन सा काम किया है यह हिसाब दे दें। देवघर अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट व देवीपूर में एम्स की स्वीकृति हमारे सांसद कार्यकाल के समय हमारी सरकार की देन है। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने यूपीए शासनकाल में देश के हर राज्य में एक एम्स अस्पताल देने का काम किया था। लेकिन झारखंड में कहीं जमीन नहीं मिलने के कारण देवीपुर में जमीन मिलने पर एम्स का निर्माण कार्य शुरू हुआ।

मधुपुर व जसीडीह रेलवे स्टेशन को आधुनिक बनाने का काम लालू प्रसाद यादव के रेलमंत्री के कार्यकाल के समय हमने कराया था। इसके अलावा रेलवे स्टेशन में प्लेटफार्म व फुट ओवर ब्रिज जैसे कई विकास कार्य हमारे कार्यकाल में हुआ है। गोड्डा सांसद मीडिया में बने रहने के लिए विकास कार्यों का झूठा श्रेय लेने का प्रयास कर रहे हैं। जनता सब जानती है और समय पर सबक सिखाने का भी काम करती है। मधुपुर विधानसभा उपचुनाव में हमारे कार्यकर्ता तन मन धन से जुटे हुए हैं। झूठे और मक्कार लोगों को जनता समय आने पर सबक सिखाने का भी काम करती है।

Check Also

जब राजनीति विज्ञान से प्रोफ़ेसर बना जा सकता है तो +2 शिक्षक क्यों नहीं ?

🔊 Listen to this राज्य के +2 विद्यालयों में राजनीति विज्ञान शिक्षक को शामिल करने …