Breaking News

अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति की बैठक संपन्न, हजारीबाग में 10 मई को होगी किसान पंचायत

हजारीबाग।आज सोमवार को हजारीबाग मंजूर भवन में अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति की बैठक किसान संग्राम समिति के अध्यक्ष राजेन्द्र गोप की अध्यक्षता में हुई।बैठक में मुख्य रूप से अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के संयोजक महेंद्र पाठक ,अखिल भारतीय किसान महासभा के सचिव पूरण महतो ,झारखंड राज्य किसान सभा के सचिव सुजीत सिन्हा , राष्ट्रीय जनता दल किसान प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष अवधेश पाल मौजूद थे। बैठक कोविड-19 के गाइडलाइन के आधार पर फिजिकल डिस्टेंशन को पालन करते हुए किया गया। बैठक निर्णय लिया गया की किसान विरोधी ,मजदूर विरोधी काला कानून के विरोध में दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन के समर्थन में कोविड-19 के गाइडलाइन के आधार पर फिजिकल डिस्टेंशन को पालन करते हुए किसान पंचायत एवं किसान जनसंवाद का आयोजन किया जाएगा ।

10 मई को हजारीबाग में किसान पंचायत और 17 मई को रांची के मोराबादी मैदान में किसान महापंचायत का आयोजन में हजारीबाग प्रमंडल से हजारों की संख्या में लोग भाग लेंगे । नेताओं ने कहा केंद्र की सरकार कोरोना के नाम पर लोगों को डरा रही है।सरकारी हथकंडे को अपनाकर लोगों को मानसिक प्रताड़ना भी कर रही है। जहां-जहां चुनाव हो रहे हैं। वहां पर भारतीय जनता पार्टी सहित दूसरे दलों के लोग खुलेआम बगैर गाइडलाइन का पालन करते हुए लाखों की संख्या में लोग जुट रहे हैं। यहां शिक्षण संस्थान सहित कई प्रतिष्ठानों को बंद करने की आदेश दिया गया है । नेताओं ने कहा की शिक्षण संस्थान को बंद करना लोगों को मानसिक प्रताड़ना से कम नहीं है। एक तरफ लोग 1 साल से कोरोना महामारी के कारण हुए लॉकडाउन से आर्थिक रूप से कमजोर हो चुके तो दूसरी तरफ सरकारी डंडे से भी लोग परेशान हैं। इसीलिए प्रभावित लोगों को राहत देने के लिए केंद्र एवं राज्य सरकार को आगे आना चाहिए।

कोविड-19 के नाम पर जेब लगवा कर केंद्र की सरकार लगातार सार्वजनिक संस्थानों को बेच रही है। और देश में चल रहे किसान मजदूर छात्र आंदोलन को कुचलने के लिए भी कानून के सहारा ले रही है। इसीलिए बड़े पैमाने पर गांव गांव में किसान संवाद एवं किसान पंचायत के माध्यम से केंद्र के जन विरोधी नीतियों को विरोध किया जाएगा। बैठक में अधिवक्ता अनिरुद्ध कुमार को प्रमंडल के संयोजक बनाया गया ,बैठक में कृष्ण कुमार मेहता, निमन यादव सहीद अनसारी गुलाम जिलानी महेंद्र प्रजापति, नीजाम अनसारी, गणेश कुमार सिटु, प्रकाश रजक मौजूद थे।

Check Also

मुख्यमंत्री चम्पाई सोरेन सरायकेला-खरसावां के गम्हरिया प्रखंड स्थित अपने पैत्रिक गांव जिलिंगगोड़ा में लोगों की सुनी परेशानी

🔊 Listen to this त्वरित और यथोचित निराकरण का दिया भरोसा जन समस्याओं का समाधान …