Breaking News

भारत ने ‘स्पूतनिक-वी’ वैक्सीन को दी आपातकालीन मंजूरी

नई दिल्ली : केंद्र सरकार ने रूस की वैक्सीन स्पूतनिक वी को आपातकालीन मंजूरी दे दी है. सूत्रों ने यह जानकारी दी है.

केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) की विषय विशेषज्ञ समिति (एसईसी) ने ‘स्पूतनिक वी’ के आपात इस्तेमाल को मंजूरी दिए जाने के डॉ. रेड्डीज लैबोरैटरीज के आवेदन पर सोमवार को संज्ञान लिया. भारत का औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआई) इस सिफारिश पर अंतिम निर्णय लेगा. यदि इस टीके को मंजूरी मिल जाती है तो यह भारत में उपलब्ध तीसरा कोविड-19 रोधी टीका होगा. सूत्रों ने कहा कि देश में आपात इस्तेमाल के लिए इस टीके का रूस से आयात किया जाएगा.

डॉ. रेड्डीज ने पिछले साल सितंबर में इस टीके के चिकित्सकीय परीक्षण और भारत में इसके वितरण अधिकार के लिए ‘रशियन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट फंड’ (आरडीआईएफ) के साथ भागीदारी शुरू की थी.

देश में भारत बायोटेक के ‘कोवैक्सीन’ और सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा निर्मित ऑक्सफोर्ड-एस्ट्रोजनेका के ‘कोविशील्ड’ टीके को पहले ही आपात इस्तेमाल की मंजूरी मिल चुकी है. ‘स्पूतनिक वी’ के तीसरे चरण के परीक्षण के अंतरिम विश्लेषण में इसके 91.6 प्रतिशत प्रभावी होने की बात सामने आई जिसमें रूस के 19,866 स्वयंसेवियों पर किए गए परीक्षण का डेटा शामिल किया गया.

इससे पहले भारत सरकार ने देश में बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के चलते रेमडेसिविर इंजेक्शन के निर्यात पर भी रोक लगा दी थी.

भारत में कोरोना
देश में कोरोना वायरस के पिछले 24 घंटों में 1,68,912 नए मामले दर्ज होने के बाद अब तक मामलों की कुल संख्या बढ़कर 1,35,27,717 हो गई है.

स्वास्य मंत्रालय ने यहां सोमवार को बताया कि अमेरिका के बाद वायरस से सबसे बुरी तरह से प्रभावित देशों की सूची में भारत फिर से दूसरे नंबर पर आ गया है. इस समयावधि में 904 लोगों की मौतें हुई हैं और इसी के साथ देश में अब तक मरने वालों की संख्या 1,70,179 हो गई है.

Check Also

झारखंड पुलिस की कार्यप्रणाली को लेकर सरकार की हो रही किरकिरी

🔊 Listen to this सिमडेगा और चाईबासा की घटना ने पुलिसिया कार्रवाई पर लगाया है …