Breaking News

झारखंड में आज काेराेना से 10 मरे, 468 मरीज मिले 

रांची। राज्य में कोरोना का संक्रमण लगातार तेजी से बढ़ रहा है। सोमवार को भी शाम तक 468 नए लोगों में इसके संक्रमण की पुष्टि हुई। वहीं, 10 कोरोना मरीजों की इलाज के क्रम में मौत हो गई। हालांकि इनमें ज्यादातर लोग पहले से ही कई अन्य गंभीर बीमारियों से जूझ रहे थे। इसके अलावा आज 696 मरीज स्वस्थ भी हुए हैं। सोमवार को राज्य के लगभग सभी जिलों में नए मरीज मिले। रांची में सबसे अधिक 233 मरीज मिले हैं। जमशेदपुर में कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत का आंकड़ा सोमवार को भी सर्वाधिक रहा। यहां टीएमएच में इलाजरत चार मरीजों की मौत हो गई। इनमें गोलमुरी की 62 वर्षीय महिला, नोवामुंडी की 59 वर्षीय महिला, जुगसलाई की 48 वर्षीय महिला तथा जमशेदपुर के एक 69 वर्षीय बुजुर्ग शामिल हैं। ये सभी सांस संबंधित बीमारियों से जूझ रहे थे।

साहिबगंज में दो मरीजों की मौत

साहिबगंज में दो मरीजों की मौत हुई है जिनमें एक वृद्ध हृदय रोग से भी ग्रसित थे। प. सिंहभूम के ही एक अन्य मरीज की भी इलाज के क्रम में मौत की सूचना है। दूसरी ओर रिम्स में इलाजरत हजारीबाग के एक मरीज की मौत हो गई। वहीं, पलामू तथा सिमडेगा के भी एक-एक मरीजों की रांची में मौत होने की सूचना है। रिम्स में पलामू की जिस महिला की मौत हुई है, वह मेदिनीनगर शहर थाना क्षेत्र अंतर्गत बेलवाटीका गुरुनानक कॉलोनी की रहने वाली थी। पिछले कुछ दिनों से रांची में उनका इलाज चल रहा था।

फिर बढऩे लगी मरीजों के स्वस्थ होने की दर

झारखंड में एक बार फिर मरीजों के स्वस्थ होने की दर तेजी से बढऩे लगी है। अब इसका आंकड़ा 49.38 फीसद पर पहुंच गया है। इस तरह, लगभग आधे मरीज अब स्वस्थ हो चुके हैं। हालांकि राष्ट्रीय स्तर पर वर्तमान में यह दर 68.33 फीसद है। बता दें कि झारखंड में पिछले दिनों यह दर घटकर 35 फीसद तक नीचे पहुंच गई थी। पिछले दो-तीन दिनों में बड़ी संख्या में मरीजों के स्वस्थ होने के कारण आंकड़ों में सुधार हुआ है।

हजारीबाग में मिले 14 मरीज

जमशेपुर में 67, रांची में 233, पलामू में 60, गढ़वा में 39, रामगढ1 में 33, बोकारो तथा स‍िमडेगा में 29-29, कोडरमा में 25, देवघर में 24, गुमला में 18, साहिबगंज में 15, हजारीबाग में 14, प स‍िंहभूम में 12, ग‍िर‍िडीह में 10, दुमका में आठ, लोहरदगा में छह, चतरा में चार, गोड़डा में तीन, जामताड़ा में दो, पाकुड में एक नए मरीज म‍िले हैं।

 

Check Also

कुंदरुकला में 20 वर्ष बाद गांव की रक्षा हेतू ग्राम देवताओ की हुई पूजा अर्चना

🔊 Listen to this सरना स्थलों में दर्जनों बकरा भेड मुर्गा की बलि दी गई …