Breaking News

रिम्स में आज चार लोगों की मौत,  अब तक 19,601 पॉजिटिव केस

तीन लोग कोरोना पॉजिटिव थे जबकि एक युवक कोरोना संदिग्ध था

रिम्स में बुधवार को चार और लोगों की मौत हो गई। इनमें तीन लोग कोरोना पॉजिटिव थे जबकि एक युवक कोरोना संदिग्ध था। मृतकों में तीन रांची जबकि एक धनबाद का निवासी था। हरमू निवासी 50 साल के कोरोना पॉजिटिव मरीज को सांस के साथ अन्य बीमारियां थी। मरीज को सात अगस्त को एडमिट किया गया था। वहीं चुटिया निवासी 63 साल की महिला को 11 अगस्त को रात करीब ढाई बजे रिम्स लाया गया। उन्हें कोरोना वार्ड में शिफ्ट करने की तैयारी चल रही थी, इससे पहले मरीज की मौत हो गई।

धनबाद के 41 साल की महिला मरीज की भी रिम्स में इलाज के दौरान मौत हुई। महिला पहले से बीमार था। महिला मरीज को 10 अगस्त को इलाज के लिए एडमिट कराया गया था। वहीं रांची के धुर्वा थाना क्षेत्र स्थित सीआरपीएफ कैंप मोहल्ला के एक मरीज की भी रिम्स में मौत हुई है। मरीज को नौ अगस्त को भर्ती कराया गया था। मरीज कोरोना संदिग्ध था। फिलहाल, इसकी कोरोना जांच की रिपोर्ट नहीं आई है।

सैंपल की टेस्ट रिपोर्ट एसएमएस के जरिए मिलेगी

कोरोना संदिग्धों को अब अपने सैंपल की टेस्ट रिपोर्ट एसएमएस के जरिए मिलेगी। रांची सहित राज्य भर में यह सुविधा मंगलवार से शुरू कर दी गई। खूंटी, जामताड़ा और चतरा में इसका सफल ट्रायल भी किया गया। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के प्रबंध निदेशक रवि शंकर शुक्ला ने बताया कि यह सुविधा शुरू होने से लोगों को रिपोर्ट के लिए अब जांच केंद्र नहीं जाना पड़ेगा। आरटी-पीसीआर एप के माध्यम से सैंपल देने के दौरान रजिस्टर्ड कराए गए मोबाइल नंबर पर एसएमएस भेज दिया जाएगा। इसमें एक लिंक भी रहेगा, जिस पर क्लिक करते ही पीडीएफ फॉर्मेट में जांच रिपोर्ट निगेटिव है या पॉजिटिव, देख सकेंगे। पीडीएफ फार्मेट को डाउनलोड भी किया जा सकता है, ताकि जरूरत पड़ने पर उसे दिखाया भी जा सके। महत्वपूर्ण बात यह है कि एसएमएस डिलीट होने पर आरटी-पीसीआर एप के माध्यम से नाम और मोबाइल नंबर बताने पर भी रिपोर्ट का ब्योरा पलभर में मिलेगा।

पिछले एक सप्ताह में सुधरा है रिकवरी रेट
राज्य में कोरोना वायरस का कहर जारी है। लेकिन इसके बीच राहत की खबर यह है कि यहां रिकवरी रेट एक सप्ताह में 35.50 से बढ़कर 54.21% और संक्रमण रेट 5.99 से घटकर 4.65% हो गया है। लेकिन डॉक्टरों के अनुसार, कोरोना से हो रही मौत की रफ्तार और बढ़ेगी। जुलाई में जहां 115 लोगों की मौत कोरोना से हो गई, वहीं अगस्त के सिर्फ 11 दिनों में ही 111 लोगों की मौत हो चुकी है। यानी जुलाई में जहां झारखंड में एक दिन में चार लोगों की मौत हो रही थी, वहीं अगस्त में 11 लोगों की कोरोना से मौत हो रही है। वहीं राज्य में अब तक 19,601 पॉजिटिव केस मिल चुके हैं। इनमें से 255 की मौत हो चुकी है जबकि 10,555 संक्रमित स्वस्थ्य होकर घर लौट चुके हैं।

15 दिनों में और बढ़ेगी मौत, सितंबर में थमेगी
अभी राज्य में कोरोना इस कदर फैल गया है कि कोई नहीं जानता है कि कौन संक्रमित है या नहीं। ऐसे में इसे रोकना मुश्किल होता जा रहा है। 15 दिनों में यह रफ्तार और तेजी से बढ़ेगी। इसके साथ मौतें भी बढ़ेंगी। सितंबर के पहले सप्ताह तक पूरे राज्य में यह फैलेगा। लेकिन इसके साथ ही कम्युनिटी हार्ड इम्युनिटी भी बनेगी। इससे जहां अभी एक व्यक्ति से 2.4 लोग संक्रमित हो रहे हैं, वहीं सितंबर के दूसरे सप्ताह में एक संक्रमित व्यक्ति सिर्फ 1.5 लोग को ही संक्रमित कर पाएगा।

Check Also

महात्मा फूले जी ने शिक्षा की ताकत से समाज मे लाई क्रांति : दीपक गुप्ता

🔊 Listen to this जिला कांग्रेस कार्यालय में ओबीसी ने मनाई महात्मा फुले की 197 …