Breaking News

भाजपा विधायक रणधीर सिंह, उनकी पत्नी, बेटा-बेटी कोरोना पॉजिटिव

अब तक 20,950 पॉजिटिव केस

सारठ विधानसभा सीट से भाजपा विधायक रणधीर कुमार सिंह कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। उनकी पत्नी, बेटा और एक बेटी की रिपोर्ट भी पॉजीटिव आई है। रणधीर सिंह ने स्वयं इसकी जानकारी देते हुए बताया कि उन्होंने गुरुवार को रांची में कोरोना की जांच कराई थी। शुक्रवार को आई रिपोर्ट में उन सबके पॉजिटिव होने की जानकारी मिली है। विधायक के दो स्टाफ जीतन मंडल और किशोर मंडल की भी रिपोर्ट पॉजीटिव आई है। फिलहाल विधायक रांची स्थित अपने आवास में होम आइसोलेशन में हैं।

रणधीर सिंह ने कहा है कि हाल के दिनों में उनसे संपर्क में आए हुए सभी अपनी-अपनी कोरोना जांच करवा लें। रणधीर ने सोशल मीडिया मे लिखा है कि कोरोना की इस वैश्विक महामारी में उन्होंने एक दिन भी घर में विश्राम नहीं किया। वे लगातार जनता की सेवा और उनकी मदद में लगे रहे। गौरतलब है कि भाजपा विधायक सीपी सिंह, जेएमएम विधायक मथुरा महतो भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे, पर अब वे स्वस्थ होकर घर वापस लौट चुके हैं। कांग्रेस विधायक दीपिका पांडेय सिंह भी पॉजिटिव पाई गई हैं।

राज्य में 12 अगस्त से 14 अगस्त तक चल रहे स्पेशल ड्राइव के अलावा सरकार ने चार प्रमुख शहरों में कोरोना जांच का स्पेशल ड्राइव चलाने का फैसला किया है। ये ड्राइव 17 व 18 अगस्त को चलाये जायेंगे। इस दौरान रांची, जमशेदपुर, धनबाद व पलामू के शहरी क्षेत्र में जांच अभियान चलेगा। दो दिनों में कुल 40 हजार सैंपल की जांच की जानी है। हालांकि ये जांच रैपिड एंटीजेन टेस्ट के जरिये होगा। प्रत्येक शहर में 10-10 हजार जांच होंगे।

स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव डॉक्टर नितिन कुलकर्णी ने बताया कि इन चार शहरों में ज्यादा केस आ रहे हैं। जिसके कारण सरकार ने रैपिड एंटीजेन टेस्ट कराने का फैसला किया है. ताकि जल्द से जल्द पॉजिटिव की पहचान हो सके. जितना जल्द पॉजिटिव की पहचान होगी उतना ही जल्द कोरोना के चेन को तोड़ा जा सकता है. इसकी तैयारी करने का निर्देश सभी जिला प्रशासन को दे दिया गया है.

स्वास्थ्य सचिव का निर्देश- अफसर गाड़ियों में एसी न चलाएं, शीशे खुले रखें
स्वास्थ्य विभाग ने सरकारी अधिकारियों और कर्मचारियों को कोरोना से बचाने के लिए कई निर्देश जारी किए हैं। स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि अधिकारी गाड़ियों में एसी का उपयोग न करें। शीशे खुले रखें। मास्क जरूरी लगाएं। अपने यहां कार्यरत कर्मचारियों की समीक्षा करें और जरूरत के हिसाब से ही कर्मचारी तैनात करें। कोई भी लक्षण दिखते पर तत्काल आइसोलेट करें। स्वास्थ्य सचिव नितिन कुलकर्णी ने कहा कि अफसरों के यहां कर्मचारी छोटे बैरक में रहते हैं। इससे सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हो पाता। उन्होंने कहा कि अफसरों के यहां कार्यरत कर्मचारी संक्रमित हो रहे हैं। इसलिए इन निर्देशों का पालन जरूरी है।

Check Also

लोधमा में कलश यात्रा निकाली गई, हजारों श्रद्धालु हुए शामिल

🔊 Listen to this   8 से 12 जुलाई तक़ महायज्ञ का होगा अनुष्ठान रजरप्पा(रामगढ़)lरामगढ़ …