Breaking News

भाजपा ने राज्य सरकार पर बोला तीखा हमला

राज्य सरकार के इशारे पर श्रद्धेय अटल जी का हुआ अपमान

अटल जी झारखंड की तीन करोड़ जनता के दिलों में बसते हैं दीपक: प्रकाश

विधानसभा सचिव को सामान्य प्रोटोकॉल भी मालूम नहीं:समीर उरांव

रांची।भाजपा के राज्यसभा सदस्य समीर उरांव को विधानसभा भवन में पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न श्रद्धये अटल बिहारी वाजपेई के प्रतिमा पर माल्यार्पण नहीं करने दिए जाने के बाद भाजपा ने राज्य सरकार पर जोरदार हमला बोला है।भाजपा प्रदेश अध्यक्ष एवम सांसद दीपक प्रकाश ने आज राज्य सरकार पर कड़ा हमला बोला।श्री प्रकाश ने कहा कि हेमंत सरकार सत्ता मद इतनी डूब चुकी है कि इन्हें अब सामान्य मर्यादा का भी आभास नही। उन्होंने कहा कि आज यह साबित हो चुका की परिवारवादी पार्टियों को परिवार के अलावा कुछ याद नही रहता।

इन्हें देश,राज्य और समाज के लिये सर्वस्व न्योछावर करने वाले महापुरुष कभी याद नही आ सकते।श्री प्रकाश ने कहा कि आज भारत रत्न स्व अटल जी की पुण्यतिथि पर विधानसभा परिसर में स्थित उनकी प्रतिमा पर राज्य सरकार या विधानसभा सचिवालय के द्वारा श्रधांजलि अर्पित नही किया जाना यह प्रमाणित करता है कि सरकार की नीति और नीयत कैसी है।

उन्होंने कहा कि अटल जी को हेमंत सरकार जितना अपमानित कर ले पर वे तो झारखंड की सवा तीन करोड़ जनता के दिलों में बसते हैं।राज्य की जनता उन्हें अपना मसीहा मानती है।

श्री प्रकाश ने कहा कि सरकार की ऐसी बदनीयती राज्य को गलत दिशा में धकेलने की कोशिश कर रही है।यह झारखंड की परंपरा और रीति रिवाज संस्कृति के खिलाफ है। राज्य सरकार ऐसे व्यवहार से बाज आये नही तो जनता इसका मुहतोड़ जवाब देगी।

विधान सभा सचिव को सामान्य प्रोटोकॉल मालूम नही:समीर उरांव

भाजपा प्रदेश महामंत्री एवम सांसद समीर उरांव ने प्रदेश कार्यालय में प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि आज प्रदेश की जनता अपमानित महसूस कर रही है। उन्होंने कहा कि संसद या विधानसभा परिसर में जो प्रतिमाएं या तस्वीर लगी होती है उसका सम्मान सरकार और सदन का नैतिक दायित्व है।

यह दुर्भाग्यपूर्ण स्थिति है कि आज श्रद्धेय अटल जी की दूसरी पुण्यतिथि है।झारखंड विधानसभा परिसर में उनकी आदमकद प्रतिमा स्थापित है। परंतु उनके प्रतिमा पर सभा सचिवालय या सरकार के द्वारा कोई श्रद्धान्जलि अर्पित नही की गई।

श्री उरांव ने कहा कि हद तो तब हो गई जब भाजपा के प्रदेश पदाधिकारियों ने विधानसभा परिसर की प्रतिमा पर माल्यार्पण करना चाहा तो पहले घुसने से रोका गया जबकि मैं स्वयं पूर्व सदस्य हूँ वर्तमान में राज्य सभा सदस्य हूँ, मेरे साथ फूल माला लिये हुए प्रदेश महामंत्री श्री आदित्य साहू,प्रदेश मीडिया प्रभारी शिवपूजन पाठक ,प्रदेश कार्यालय मंत्री हेमंत दास एवम अन्य कार्यकर्ता उपस्थित थे। कहा कि मैंने विधानसभा अध्यक्ष से बात करने की कोशिश की जिनका मोबाइल ऑफ था। विधानसभा सचिव से हुई बात ने मुझे काफी आहत किया। उनकी बातचीत की शैली ने एक जिम्मेवार पदाधिकारी की सोच और क्षमता को कटघरे में खड़ा कर दिया है। उनके ध्यान में यह भी नही था कि आज अटल जी की पुण्यतिथि भी है।अपनी जिम्मेवारियों से मुंह मोड़ते हुए उल्टा उन्होंने हम सब को ही याद न दिलाने का आरोप मढ़ दिया।
श्री उरांव ने कहा कि सरकार महापुरूषो को याद करने में भी भेदभाव कर रही है। हेमंत सरकार महापुरूषों को भी दलीय सीमा में बांध रही है।श्री उरांव ने विधानसभा सचिव पर कार्रवाई की मांग करते हुए कहा कि हेमंत सरकार राज्य की जनता से माफी मांगें।

श्रद्धेय अटल जी जन जन के नेता रहे:आदित्य साहू

प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए प्रदेश महामंत्री आदित्य साहू ने कहा कि श्रद्धेय अटल जी हेमंत सरकार के सम्मान के मोहताज नही। परंतु राज्य सरकार अटल जी का अपमान करके जन भावनाओं का अपमान किया है।
उन्होंने कहा कि राज्य की जनता जानती है कि कैसे अटल जी ने अलग राज्य के सपनो को साकार किया है। परंतु राज्य सरकार की नीयत इस सच से मुंह मोड़ने जैसा है। उन्होंने कहा कि बादल से सूर्य के तेज को नही ढाका जा सकता। राज्य की जनता इस सच्चाई को दिल से महसूस करती है।

श्री साहू ने

राज्य सरकार अपने इस कृत्य केलिये माफी मांगे नही जनता इसका हिसाब करेगी। प्रेसवार्ता में मीडिया प्रभारी शिवपूजन पाठक भी उपस्थित रहे।

Check Also

महात्मा फूले जी ने शिक्षा की ताकत से समाज मे लाई क्रांति : दीपक गुप्ता

🔊 Listen to this जिला कांग्रेस कार्यालय में ओबीसी ने मनाई महात्मा फुले की 197 …