Breaking News

शिक्षण संस्थानों को शहीदों के नाम करने का सरकार का निर्णय स्वागत योग्य:डॉ महतो

झारखंड सरकार के निर्णय का कांग्रेस ने किया स्वागत

रांची ।झारखंड कांग्रेस के प्रवक्ता डॉ. राकेश किरण महतो ने कहा कि झारखण्ड की गठबंधन सरकार के वे निर्णय स्वागत योग्य हैं।जिसमें सरकार ने राज्य के कई विश्वविद्यालयों का नाम बदलकर झारखंड आंदोलनकारीयों एवं शहीदों के नाम पर रखा जा रहा है। इसमें पीएमसीएच धनबाद के नाम में बदलाव कर शहीद निर्मल महतो चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल रखा गया है। जिसका विरोध भाजपा सांसद पीएन सिंह और भाजपा विधायक राज सिन्हा कर रहे हैं। वर्तमान में राज्य सरकार झारखंडी शहीदों को उचित सम्मान देने का काम कर रही है।जिसकी वजह से राज्य के आदिवासी एवं मूलनिवासी उत्साहित हैं। यह भाजपा को हजम नहीं हो रहा है। वे झारखंड आंदोलनकारी शहीद निर्मल महतो के झारखण्ड आंदोलन में योगदान पर प्रश्नचिन्ह खड़ा कर झारखण्ड आंदोलनकारियों को अपमानित कर रहे हैं।

अनाप-शनाप बयानबाजी कर रहे हैं

जिस प्रदेश से दोनों भाजपा नेता सांसद-विधायक बने हैं। उस राज्य के आंदोलनकारी व शहीदों का विरोध करना उचित नहीं है। झारखंड की गठबंधन की सरकार राज्य के सभी शहीदों एवं आंदोलनकारियों को सम्मान देना चाहती है।परंतु भाजपा ओछी राजनीति करते हुए इसका विरोध कर रही है। जब इनकी सरकार थी तो रांची महाविद्यालय जैसे राजधानी के महत्वपूर्ण शैक्षणिक संस्थान को ऐसे व्यक्ति के नाम पर नामित किया गया। जिनका इस राज्य से कभी कोई सरोकार ही नहीं था। दरअसल भाजपा अपने चुनावी घोषणा पत्र में किए गए सभी वादों से विमुख हो चुकी है एवं अब उनके पास स्वस्थ राजनीति करने के लिए मुद्दे बचे ही नहीं है। भाजपा झारखंड जैसे आदिवासी एवं मूलवासी बहुल राज्य की जन भावना के साथ लगातार खिलवाड़ करते आ रही है। इसीलिए पिछले विधानसभा चुनाव में राज्य की जनता ने इन्हें सत्ता से बेदखल कर दिया है।इसीलिए अब यह तिलमिला रहे हैं एवं अनाप-शनाप बयानबाजी कर रहे हैं।भाजपा को शहीद निर्मल महतो एवं अन्य आंदोलनकारियों के संबंध में अपना स्टैंड स्पष्ट करना चाहिए।

Check Also

भाकपा-माले ने पार्टी स्थापना दिवस हेसला में मनाया

🔊 Listen to this रामगढ़l भाकपा-माले का 56 वां स्थापना दिवस के अवसर पर 22 …