Breaking News

स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 – बेहतर प्रदर्शन के लिए मुख्य सचिव सुखदेव सिंह ने बधाई दी

रांची । स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 में राज्य के बेहतर प्रदर्शन के लिए मुख्य सचिव श्री सुखदेव सिंह ने प्रदेश के नगर विकास एवं आवास विभाग,नगर निकायों और राज्य के नागरिकों को बधाई दी है। झारखंड सरकार के नगर विकास एवं आवास विभाग के सचिव  विनय कुमार चौबे ने नगर विकास विभाग,राज्य शहरी विकास अभिकरण और नगर निकायों के पदाधिकारियों,कर्मियों तथा राज्य के नागरिकों को बधाई देते हुए कहा है कि ये क्षण राज्य और राज्यवासियों के लिए गौरव की बात है । ये परिणाम हमारे लिए प्रेरणास्रोत है,विभाग द्वारा स्वच्छ्ता के क्षेत्र में किया जा रहा प्रयास आगे भी जारी रहेगा। राज्य शहरी विकास अभिकरण के निदेशक अमित कुमार नें भी सभी नगर निकायों के पदाधिकारियों,कर्मियों,सफाईकर्मियों शहरी नागरिकों को सहयोग के लिए धन्यबाद दिया है और उम्मीद जताया है कि आगे भी इस अभियान में सभी का सहयोग मिलता रहेगा।

झारखंड प्रदेश के जिन शहरों को अवार्ड मिला है वो इस प्रकार है–

• स्वच्छता के क्षेत्र में किए जा रहे प्रयास के लिए झारखंड को बेस्ट परफॉर्मिंग स्टेट ( सौ यूएलबी तक के राज्यों में ) के सम्मान से सम्मानित किया गया है।

• देश के 3 – 10 लाख तक की आबादी वाले शहरों की श्रेणी में सिटीजन फीडबैक के क्षेत्र में जमशेदपुर अव्वल।

• देश के पूर्वी क्षेत्र के 50 हजार से 1 लाख तक की आबादी वाले शहरों में मधुपुर को सिटीजन फीडबैक के लिए बेस्ट सिटी का सम्मान।

• देश के पूर्वी क्षेत्र के 25से 50 हजार तक आबादी तक वाले शहरों में जुगसलाई को इनोवेशन एंड बेस्ट प्रैक्टिसेज के लिए बेस्ट सिटी का सम्मान।

• देश के पूर्वी क्षेत्र के 25 से 50 हजार तक आबादी वाले शहरों में सिटीजन फीडबैक के लिए खूंटी को बेस्ट सिटी का सम्मान।

सर्वेक्षण में देशभर से 4242 शहरों नें हिस्सा लिया
गौरतलब है कि इस सर्वेक्षण में देशभर से 4242 शहरों नें हिस्सा लिया था जिसमें झारखंड के भी 41 नगर निकाय शामिल हैं । इस वर्ष 4 जनवरी से ये सर्वेक्षण शुरु हुआ था और करीब एक माह तक अलग अलग शहरों में विभिन्न माध्यमों से सर्वे किया गया था । भारत सरकार नें इस सर्वेक्षण के लिए ऑनलाइन और भौतिक सत्यापन की व्यवस्था की थी । स्वच्छता की इस प्रतियोगिता में कुल 6000 अंक निर्धारित किए गए थे जिसमें सर्विस लेवल प्रोग्रेस के लिए 1500 अंक , डायरेक्ट ऑब्जर्वेशन के लिए 1500 अंक , सर्टिफिकेशन के लिए 1500 अंक और सिटिजन फिडबैक के लिए 1500 अंक का प्रावधान किया गया था ।

इस वर्ष का अवार्ड इसलिए भी खास

झारखंड पिछले तीन वर्षों से शहरों के साथ साथ राज्य स्तर की प्रतिस्पर्द्धा श्रेणी में भी टॉप रैंकिंग में शुमार है । राज्य को 2018 में देश का बेस्ट परफॉर्मिंग स्टेट, 2019 में द्वितीय बेस्ट परफॉर्मिंग स्टेट और एकबार पुनः 2020 में भी देश का बेस्ट परफॉर्मिंग स्टेट (सौ यूएलबी वाले राज्यों में) का तगमा हासिल हुआ है । इस वर्ष का अवार्ड इसलिए भी खास है कि स्वच्छता को लेकर राज्य के माननीय मुख्यमंत्री सह विभागीय मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन हर वक्त तत्पर रहते हैं और उनके मार्गदर्शन में शहरी स्वच्छता के क्षेत्र में विभाग की ओर से कई नई पहल शुरु की गयी है।

अब नजर डालते हैं शहरी स्वच्छता के क्षेत्र में झारखंड सरकार और नगर निकायों द्वारा किए गए कुछ महत्वपूर्ण प्रयासों पर ।

• बहुआयामी रणनीति का प्रयोग किया गया । इसके अंतर्गत जहां एक ओर शहरों में उपयुक्त क्षमता वृद्धि के माध्यम से स्वच्छ भारत मिशन के क्रियान्वयन हेतु अनुकूल वातावरण तैयार किया गया वहीं दूसरी ओर नागरिकों को मिशन की गतिविधियों में सक्रिय रुप से भागीदारी के लिए प्रोत्साहित किया गया।

• प्रदेश के सभी शहरों में डोर टू डोर कचरा उठाव सुनिश्चित् किया गया।

• शहरों में दो शिफ्ट के साथ साथ रात में भी कचरा उठाव और स्विपिंग शुरु किया गया।

• ठोस व तरल अपशिष्ट प्रबंधन के लिए सूखा और गीला कचरा अलग उठाने की व्यवस्था हुयी।

• छोटे शहरों की सफाई पर विशेष ध्यान दिया गया।

• प्रदेश के 39 शहरों को ओडीएफ + किया गया।

• प्रदेश के दो शहरों जमशेदपुर और साहिबगंज को ओडीएफ ++ किया गया।

• संपूर्ण मिशन अवधि में प्रदेश के शहरों में 2,17,691 व्यक्तिगत शौचालय का निर्माण कराया गया।

• संपूर्ण मिशन अवधि में प्रदेश के शहरों में 590 (5196 सीट) सामुदायिक शौचालयों का निर्माण किया गया।

• मिशन अवधि में कुल 320 (640 सीट) मोडुलर शौचालयों एवं 308 (617 सीट) मोडुलर मूत्रालय का निर्माण कराया गया।
• सभी नगर निकायों के कचरा संग्रह वाहनों में ट्रैकिंग प्रणाली अधिष्ठापित की गयी।

• नगर निकायों में स्वच्छता ऐप के माध्यम से शिकायत निवारण सफलतापूर्वक किया जा रहा है।

• नगर निकायों के कार्यों का डॉक्यूमेंटेशन भी सही तरीके से किया जा रहा है।

• सामुदायिक व सार्वजनिक शौचालयों के साफ सफाई,परिचालन और प्रबंधन पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है।

• शौचालयों में पानी की उपलब्धता और रखरखाव पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है।

• व्यापक रुप से जन जागरुकता एवं विषय आधारित स्वच्छता अभियान चलाया जा रहा है।

• अक्सर वरिष्ठ नागरिक,स्वच्छता दूत,वार्ड पार्षद आदि के लिए कार्याशाला भी आयोजित किए जाते हैं । लगातार शौचालय प्रयोग और कचरा प्रबंधन को प्रोत्साहित किया जाता रहा है।

• आम नागरिकों की जागरुकता एवं सहभागिता सुनिश्चित करने हेतु स्वच्छ होटल,स्वच्छ धार्मिक स्थल,स्वच्छ अस्पताल प्रतियोगिता और सर्वोत्तम शौचालय प्रतियोगिता आयोजित किया गया।

• जमशेदपुर को *(3 सितारा ) सिटी प्रमाणित किया गया है।

Check Also

महिला मतदान पदाधिकारियों को मालाएं पहनाकर बढ़ाया गया हौसला

🔊 Listen to this सफलतापूर्वक निर्वाचन संपन्न कराने की शुभकामनाओं के साथ जिला स्तरीय वरीय …