Breaking News

सीरम इंस्टीट्यूट से 68 करोड़ टीके खरीदेगी सरकार

हर महीने 6 करोड़ टीका बनाने जा रही है सीरम
भारत की पहली कोरोना वैक्सीन ‘कोविशिल्ड’ 73 दिनों में इस्तेमाल के लिए बाजार में उपलब्ध होगी. कोविशिल्ड को पुणे की बायोटेक कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट बना रही है. राष्ट्रीय टीकाकरण कार्यक्रम के तहत भारत सरकार भारतीयों को कोरोना का मुफ्त टीका लगाएगी.

शनिवार को दिया गया थर्ड फेज के ट्रायल का पहला डोज

पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के पदाधिकारियों ने बिजनेस टुडे को एक्सक्लूसिव जानकारी में बताया है कि, ‘भारत सरकार ने हमें विशेष निर्माण प्राथमिकता लाइसेंस दिया है. इसके तहत हमने ट्रायल प्रोटोकॉल की प्रक्रिया को तेज कर दिया है ताकि ट्रायल 58 दिनों में पूरा हो जाए. इस तरह शनिवार को तीसरे फेज के ट्रायल का पहला डोज दिया गया है, दूसरा डोज शनिवार से 29 दिनों के बाद दिया जाएगा. ट्रायल का अंतिम डाटा दूसरा डोज दिए जाने के 15 दिन के बाद सामने आएगा. इसके बाद हम कोविशिल्ड को व्यावसायिक इस्तेमाल के लिए बाजार में लाने की योजना बना रहे हैं.” इससे पहले इस वैक्सीन का ट्रायल पूरा होने में 7 से 8 महीने लगने की बात कही जा रही थी.

17 केंद्रों पर 1600 लोगों के बीच शुरू हुआ ट्रायल

लेकिन इस प्रक्रिया में अब शनिवार से ही तेजी ला दी गई है. 17 केंद्रों में 1600 लोगों के बीच कोविशिल्ड वैक्सीन का ट्रायल 22 अगस्त से शुरू कर दिया गया है. इस प्रक्रिया में हर केंद्र पर लगभग 100 लोगों पर कोरोना वैक्सीन का परीक्षण किया जा रहा है.

Check Also

जिले में स्वास्थ्य एवं शिक्षा सुविधाएं होंगी सुदृढ़,उपायुक्त ने की विशेष घोषणा

🔊 Listen to this डीएमएफटी से प्रत्येक वर्ष प्राप्त होने वाले राजस्व में एक महीने …