Breaking News

वर्चस्व के लिए खून-खराबा, गोलीबारी और बमबाजी से थर्राया निचितपुर कोलियरी

धनबाद  : झारखंड की एक कोयला खदान में वर्चस्व की जंग में सोमवार को खून-खराबा हो गया. गोलीबारी और बमबाजी से पूरा इलाका थर्रा उठा. हिंसा की यह घटना धनबाद जिला में संचालित कोल इंडिया की सब्सिडियरी कंपनी भारत कोकिंग कोल लिमिटेड (बीसीसीएल) के सिजुआ क्षेत्र स्थित निचितपुर कोलियरी में हुई. हिंसा में कई लोग घायल हो गये, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

टकराव में दर्जनों राउंड गोलियां चलीं

बीसीसीएल सिजुआ क्षेत्र के निचितपुर कोलियरी में संचालित डेको आउटसोर्सिंग में सोमवार को बंद सर्मथकों तथा कंपनी समर्थक एवं कर्मियों के बीच टकराव में दर्जनों राउंड गोलियां चलीं. बमबाजी भी हुई. गोलीबारी से पूरा इलाका थर्रा उठा. गोलीबारी में कंपनी समर्थक जमील अंसारी, विनोद विश्वकर्मा तथा विक्की पासवान घायल हो गये. घायलों का इलाज किसी निजी अस्पताल चल रहा है.
रवि चौहान ने 24 अगस्त को बंदी का नोटिस दिया था

घटना की सूचना मिलते ही सिटी एसपी आर राम कुमार दोपहर कंपनी के कैम्प स्थल पर पहुंचे. सिटी एसपी ने पूरे मामले की जानकारी ली. बताया जाता है कि सोमवार को जनता मजदूर संघ (अंसगठित) सिजुआ क्षेत्र के क्षेत्रीय अध्यक्ष (बच्चा गुट) रवि चौहान ने 24 अगस्त को बंदी का नोटिस दिया था. इसके आलोक में झंडा बैनर के साथ करीब दर्जनों लोग काम बंद कराने पहुंच गये.

इस बीच, कंपनी के कर्मचारियों और कंपनी समर्थकों ने दूसरे गुट को ललकारा और आगे बढ़ गये. देखते ही देखते दोनों गुट आमने-सामने आ गये. दोनों ओर से पुलिस की उपस्थिति में ही फायरिंग तथा बमबाजी शुरू हो गयी. करीब 20 मिनट तक की गोलीबारी के बाद बाघमारा डीएसपी नितिन खंडेलवाल तथा कतरास के अंचल इंस्पेक्टर भिखारी राम पुलिस बल के साथ पहुंचे.

डीएसपी ने पुलिस बल के साथ बंद समर्थकों को वहां से खदेड़ दिया

डीएसपी ने पुलिस बल के साथ बंद समर्थकों को वहां से खदेड़ दिया. इस मामले में बाघमारा के डीएसपी नितिन खंडेलवाल ने कहा कि बंदी का आह्वान किया गया था. बंद समर्थक करीब 50 लोगों ने निचितपुर कोलियरी में पहुंचकर दहशत फैला दी. घटनास्थल से कई खोखे बरामद किये गये हैं. उन्होंने कहा कि गोली तो चली है, लेकिन बमबाजी की सूचना नहीं है. पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है. जो भी दोषी होंगे, उन्हें बख्शा नहीं जायेगा.

Check Also

स्वास्थ्य मामले में जागरूकता से ही बचाव संभव : डॉ. पल्लवी पाण्डेय

🔊 Listen to this विश्व स्वास्थ्य दिवस के अवसर पर मोरहाबादी मैदान में स्वास्थ्य चिकित्सा …