Breaking News

तबलीगी जमात के विदेशी नागरिकों को बलि का बकरा बनाया गया : डॉ इरफान

  • तबलीगी जमात पर कोरोना के नाम किये मुकदमा को वापस लेने हेतु विधायक ने सीएम को लिखा पत्र

जामताड़ा। स्थानीय विधायक डॉ इरफान अंसारी ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को पत्र लिखकर झारखंड में तबलीगी जमात के विरुद्ध दर्ज केस को वापस लेने का किया अनुरोध किया है। लिखा है एक साजिश के तहत तबलीगी जमात पर कोरोना फैलाने के नाम और बदनाम किया गया है तथा मुकदमा दर्ज किया गया है।केंद्र सरकार अपनी नाकामी छुपाने के लिए तबलिकी जमात के विदेशी नागरिकों को बलि का बकरा बनाया है।

पूरी घटना क्रम से विदेशों में भारत की छवि धूमिल हुई

विधायक ने कहा कि इस घटनाक्रम से विदेशों में भारत की छवि धूमिल हुई है। तबलीगी जमात के विरुद्ध दर्ज केस की समीक्षा कर कांड वापस लेने का उन्होंने ने अनुरोध किया है। विधायक जी ने बताया कि मुंबई उच्च न्यायालय की औरंगाबाद पीठ ने स्पष्ट रूप से तबलीगी जमात के विरुद्ध सुनवाई करते हुए कहां है कि कोविड-19 फैलाने के नाम पर तबलीगी जमात के विदेशी नागरिकों को बलि का बकरा बनाया गया। इसी आधार पर उनका केस खारिज कर दिया। इससे यह साफ स्पष्ट हो गया कि तबलिकि जमात को एक साजिश के तहत मीडिया एवं विपक्ष के केंद्र सरकार की नाकामी को छुपाने के लिए फंसाया गया। मुंबई उच्च न्यायालय ने इस मामले को बढ़ा चढ़ा कर पेश करने के लिए प्रचार माध्यमों को भी लताड़ लगाई।कहा की प्रिंट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया ने इस मामले को ऐसे पेश किया।जैसे दिल्ली मरकज में आने वाले विदेशी ही देश में कोविड-19 संक्रमण फैलाने के लिए जिम्मेदार हैं। इस पूरे घटनाक्रम से विदेशों में भारत की छवि भी धूमिल हुई। विधायक ने कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार अपनी नाकामी छुपाने के लिए एक साजिश के तहत तबलिकी जमात को फंसाने का काम किया। ऐसे भाजपाई एवं मीडिया पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाने की मांग की।

Check Also

लोधमा में कलश यात्रा निकाली गई, हजारों श्रद्धालु हुए शामिल

🔊 Listen to this   8 से 12 जुलाई तक़ महायज्ञ का होगा अनुष्ठान रजरप्पा(रामगढ़)lरामगढ़ …