Breaking News

महिला की मौत के बाद चार घंटे तक ग्रामीणों का हंगामा; थाना प्रभारी की गाड़ी पर पथराव,

ईचाक थाना क्षेत्र के हदारी गांव में मंगलवार सुबह सड़क हादसे में महिला की मौत के बाद चार घंटे तक स्थानीय लोगों ने जमकर हंगामा किया। घटनास्थल पर पहुंचे ईचाक थाना प्रभारी की गाड़ी पर लोगों ने पथराव किया, गाड़ी में तोड़फोड़ की। इस दौरान थाना प्रभारी और अन्य पुलिसकर्मियों को जान बचाकर भागना पड़ा। उधर, मामले की गंभीरता को देख घटनास्थल पर रैपिड एक्शन फोर्स, जिला पुलिस बल समेत तीन डीएसपी पहुंचे। फिलहाल, पुलिस की ओर से मृतक के परिजन को तत्काल 20 हजार रुपए की राहत राशि दी गई जिसके बाद कुछ लोग शांत हुए। जाम हटने के बाद यातायात सुचारू कर दिया गया है।

सड़क किनारे खड़ी महिला और एक युवक को टक्कर मार दी

सुबह साढ़े आठ बजे एक तेज रफ्तार बोलेरो ने हदारी गांव में सड़क किनारे खड़ी महिला और एक युवक को टक्कर मार दी। हादसे के बाद महिला को इलाज के लिए अस्पताल ले जाया जा रहा था लेकिन रास्ते में ही महिला ने दम तोड़ दिया। उधर, युवक की भी हालत गंभीर है जिसका सदर अस्पताल में इलाज चल रहा है। उधर, हादसे के बाद स्थानीय लोगों ने सड़क जाम कर दिया। घटना की सूचना के बाद पुलिस भी मौके पर पहुंची।

मुआवजे की मांग को लेकर हंगामा करने लगे

हादसे के बाद स्थानीय लोग आक्रोशित हो गए और मुआवजे की मांग को लेकर हंगामा करने लगे। लोगों का कहना था कि मृत महिला के दो छोटे बच्चे हैं जिनकी परवरिश और पढ़ाई का जिम्मा पुलिस-प्रशासन को लेना चाहिए। इस मांग को लेकर हंगामा बढ़ गया और करीब 9 बजे सुबह ग्रामीणों ने ईचाक की ओर से हजारीबाग जाने वाले सड़क पर जाम लगा दिया। उधर, जाम की सूचना के बाद ईचाक थाना प्रभारी नंदकिशोर दास घटनास्थल पर पहुंचे। इस दौरान आक्रोशितों ने बातचीत के दौरान थाना प्रभारी की गाड़ी पर पथराव कर दिया। इसके बाद थाना प्रभारी समेत पुलिसकर्मी गाड़ी से उतरकर पैदल भागे और अपनी जान बचाई। उधर, आक्रोशितों ने थाना प्रभारी की गाड़ी में तोड़फोड़ भी की।

उधर, हादसे के बाद हंगामे की सूचना के बाद सीनियर पदाधिकारियों ने मौके पर रैपिड एक्शन फोर्स, जिला बल और तीन इलाकों के डीएसपी को भेजा। इस दौरान आक्रोशितों और पुलिस के बीच बातचीत हुई। इस दौरान डीएसपी विवेकानंद ठाकुर ने अपनी ओर से मृतक के परिजनों को 20 हजार रुपए की सहायता राशि दी। इसके बावजूद आक्रोशित मानने को तैयार नहीं थे। फिर पुलिस ने बल प्रयोग कर जाम हटवाया।

ईचाक से हजारीबाग की ओर जा रही थी बोलेरो
मृत महिला की पहचान 42 साल की मीना देवी जबकि घायल युवक की पहचान 45 साल के सुनील यादव के रूप में हुई है। महिला और पुरुष सड़क किनारे खड़े थे। इस दौरान एक बोलेरो इचाक की ओर से हजारीबाग की ओर जा रही थी। इस दौरान तेज रफ्तार बोलेरो ने सड़क किनारे खड़ी मीना देवी और सुनील यादव को टक्कर मार दी। हादसे के बाद बोलेरो चालक ने नियंत्रण खो दिया और गाड़ी आगे जाकर एक नाली में घुस गई।

दुर्घटनाग्रस्त बोलेरो में चालक के अलावा एक महिला और पुरुष थे। हादसे के बाद बोलेरो सवार युवक घायल महिला और पुरुष के साथ अस्पताल गए। इस दौरान चालक और महिला को पुलिस ने थाना में बैठाए रखा। फिलहाल, पुलिस उपद्रवियों की शिनाख्त करने में जुटी हुई है। साथ ही हादसे के मामले में आगे की कार्रवाई में जुटी हुई है।

Check Also

कुख्यात अमन साहू का सहयोगी 3 लाख का इनामी प्रमोद यादव मुठभेड़ में ढेर

🔊 Listen to this रांची। कोसी-सीमांचल क्षेत्र के साथ-साथ कई इलाकों में अपना आतंक फैला …