Breaking News

जमशेदपुरः रिश्वत लेते पुलिस कर्मी गिरफ्तार, एसीबी ने भेजा जेल

जमशेदपुरः एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने नीमडीह थाना में पदस्थापित एएसआई को रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया है. मामले में एसीबी के डीएसपी ने बताया कि मारपीट के मामले में नाम हटाने के बदले रिश्वत लेने के आरोप में एएसआई को रंगे हाथ गिरफ्तार किया गया है.

नीमडीह थाना में प्रमोद शर्मा ने नितेश तिवारी के खिलाफ मामला दर्ज
जमशेदपुर से सटे सरायकेला खरसावां जिले के चांडिल अनुमंडल अंतर्गत नीमडीह थाना में पदस्थापित एएसआई अरुण कुमार वर्मा को जमशेदपुर के एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने रंगे हाथ रिश्वत लेते गिरफ्तार कर लिया है. जानकारी देते हुए एसीबी के डीएसपी जितेंद्र दुबे ने बताया कि कुछ दिन पहले प्रमोद शर्मा और नितेश तिवारी नामक दो लोगों के बीच मारपीट हुई थी. घटना के बाद नीमडीह थाना में प्रमोद शर्मा ने नितेश तिवारी के खिलाफ मामला दर्ज कराया था. मामले का अनुसंधान अरुण कुमार वर्मा कर रहे थे.

5,000 रिश्वत की मांग की

वहीं नितेश तिवारी ने बताया कि मारपीट मामले में एएसआई अरुण कुमार वर्मा से संपर्क किया और उन्हें क्लीनचिट देने के लिए 5,000  रिश्वत की मांग की जिसके बाद उन दोनों के बीच सहमति बन गई और नितेश तिवारी ने एएसआई अरुण वर्मा को ढाई हजार रुपये भुगतान भी कर दिया. रिश्वत देने के बाद नितेश तिवारी ने रिश्वत लेने की शिकायत एसीबी के डीएसपी जितेंद्र दुबे से की. जिसके बाद आरोप को सही पाया गया. बुधवार को बाकी बची शेष रकम ढाई हजार रुपए अरुण कुमार वर्मा को दिए जाने की तिथि तय की गई. इस दौरान एसीबी टीम कुछ दूरी पर इंतजार करने लगी इसी बीच नितेश तिवारी ने अरुण कुमार वर्मा को थाना से कुछ दूरी पर बुलाया और ढाई हजार रुपए उसके हाथ में दिए तभी एसीबी की टीम ने घेराबंदी कर रिश्वत लेते हुए अरुण कुमार वर्मा को गिरफ्तार कर लिया है. एसीबी के डीएसपी जितेंद्र दुबे ने बताया है कि एएसआई की गिरफ्तारी के बाद मामले की पूरी जांच कर आगे की कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

Check Also

दो बाइक की आपस में हुई टक्कर, एक व्यक्ति की मौत

🔊 Listen to this मगढ l अरगड्डा-नई सराय मुख्य मार्ग के हर घंटा चेक पोस्ट …