Breaking News

झारखंड- कोरोना के इलाज के लिए निजी अस्पतालों का रेट सरकार ने किया तय

 न्यूनतम चार हजार से अधिकतम 18 हजार रुपये प्रतिदिन से अधिक नहीं ले सकेंगे 

झारखंड सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने कोविड मरीजों के इलाज में निजी अस्पतालों की मनमानी पर नकेल कस दिया है. विभाग ने कैपिंग दर निर्धारित कर दिया है. जिसके तहत अब झारखंड के सभी जिलों को तीन कैटेगरी में बांटा गया है. इसमें भी एनएबीएच मान्यता प्राप्त अस्पताल और नॉन एनएबीएच अस्पतालों के लिए अलग-अलग दर तय की गयी है. जिसके तहत अब कोई भी अस्पताल कैटेगरी के अनुसार न्यूनतम चार हजार से अधिकतम 18 हजार रुपये प्रतिदिन से अधिक नहीं ले सकेंगे. यह दर निर्धारित करने से पहले स्वास्थ्य विभाग ने निजी हेल्थ केयर प्रोवाइडर्स के साथ बातचीत की थी. स्वास्थ्य विभाग ने पहले ही निर्देश दे रखा है कि जो भी कोविड मरीज आयुष्मान भारत के तहत आते हैं, उनका इलाज उसी के तहत करना है.

राज्य के सभी जिलों को तीन कैटेगरी में बांटा गया है

कैटेगरी A

इसमें रांची, पूर्वी सिंहभूम, धनबाद और बोकारो हैं.

कैटेगरी B

इसमें हजारीबाग, पलामू, देवघर, सराकेला, रामगढ़ और गिरिडीह हैं.

कैटेगरी C

इसमें चतरा, दुमका, गढ़वा, गोड्डा, गुमला, जामताड़ा, खूंटी, कोडरमा, लातेहार, लोहरदगा, पाकुड़, साहेबगंज, सिमडेगा और पश्चिमी सिंहभूम हैं.

सभी जिला के अस्पतालों को दो कैटेगरी में बांटा गया है. पहली कैटेगरी एनएबीएच और दूसरी नॉन एनएबीएच है.

ग्रुप ए जिला (एनएबीएच)

  • बिना लक्षण के मरीज के लिए 6000 (पीपीइ किट के साथ)
  • आइसोलेशन बेड 10000 (ऑक्सीजन के साथ)
  • आइसीयू नॉन वेंटिलेटर 15000 (पीपीइ किट के साथ)
  • आइसीयू वेंटिलेटर के साथ 18000.

ग्रुप ए (नॉन एनएबीएच)

  • बिना लक्षण के मरीज के लिए 5500 (पीपीइ किट के साथ)
  • आइसोलेशन बेड 8000 (ऑक्सीजन के साथ)
  • आइसीयू नॉन वेंटिलेटर 13000 (पीपीइ किट के साथ)
  • आइसीयू वेंटिलेटर के साथ 15000

ग्रुप बी जिला (एनएबीएच अस्पताल)

  • बिना लक्षण के मरीज के लिए 5500 (पीपीइ किट के साथ)
  • आइसोलेशन बेड  8000 (ऑक्सीजन के साथ)
  • आइसीयू नॉन वेंटिलेटर 12000 (पीपीइ किट के साथ)
  • आइसीयू वेंटिलेटर के साथ 14400

ग्रुप बी जिला (नॉन एनएबीएच)

  • बिना लक्षण के मरीज के लिए 5000 (पीपीइ किट के साथ)
  • आइसोलेशन बेड 6400 (ऑक्सीजन के साथ)
  • आइसीयू नॉन वेंटिलेटर 10400 (पीपीइ किट के साथ)
  • आइसीयू वेंटिलेटर के साथ 12000

ग्रुप सी जिला (एनएबीएच)

  • बिना लक्षण के मरीज के लिए 5000 (पीपीइ किट के साथ)
  • आइसोलेशन बेड 6000 (ऑक्सीजन के साथ)
  • आइसीयू नॉन वेंटिलेटर 9000 (पीपीइ किट के साथ)
  • आइसीयू वेंटिलेटर के साथ 10800

ग्रुप सी (नॉन एनएबीएच)

  • बिना लक्षण के मरीज के लिए 4000 (पीपीइ किट के साथ)
  • आइसोलेशन बेड 4800 (ऑक्सीजन के साथ)
  • आइसीयू नॉन वेंटिलेटर 7800 (पीपीइ किट के साथ)
  • आइसीयू वेंटिलेटर के साथ 9000

जांच की भी दर निर्धारित

स्वास्थ्य विभाग की ओर से कुछ प्रकार की जांच की भी दर तय की गयी है. जिसमें एबीजी जांच के लिए 400 रुपये, ब्लड सुगर लेबल के लिए 100 रुपये,  डी-डीमर्स लेबल के लिए 800 रुपये, ह्यूमोग्लोबिन के लिए 150 रुपये, सीटी चेस्ट के लिए 3500 रुपये, एक्स रे चेस्ट के लिए 500 रुपये और इसीजी के लिए 300 रुपये लगेंगे.

Check Also

मुख्यमंत्री द्वारा विभागीय समीक्षा और बड़ी बड़ी घोषणाएं केवल आईवाश: प्रदीप वर्मा

🔊 Listen to this रांचीlभाजपा प्रदेश महामंत्री एवम सांसद डॉ प्रदीप वर्मा ने आज राज्य …