Breaking News

प्रणब दा के निधन पर पूरा झारखण्ड मर्माहत, हेमंत सोरेन, बाबूलाल ने दुख जताया

  • उनका पूरा जीवन राष्ट्र की सेवा को समर्पित था

मुख्यमंत्री  हेमन्त सोरेन ने भारत रत्न पूर्व राष्ट्रपति  प्रणव मुखर्जी के निधन से गहरा दुःख व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री ने कहा यह सम्पूर्ण राष्ट्र के लिए अपूरणीय क्षति है। उनका पूरा जीवन राष्ट्र की सेवा को समर्पित था। भगवान उनकी आत्मा को शांति दें। दुःख की इस घडी में मेरी संवेदनाएं उनके परिजनों के प्रति है।

स्वास्थ्य एवं आपदा प्रबंधन मंत्री  बन्ना गुप्ता

स्वास्थ्य एवं आपदा प्रबंधन मंत्री  बन्ना गुप्ता जी ने पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी जी के निधन पर शोक व्यक्त किया हैं। अपने शोक संदेश में उन्होंने कहा है कि प्रणब मुखर्जी जी से उनके आत्मीय संबंध थे, एक अभिभावक के रूप में उनका हमेशा सानिध्य प्राप्त हुआ था। बन्ना गुप्ता ने कहा कि देश ने आज एक रत्न खो दिया है, अपने कुशल राजनीतिक विचारधारा, प्रभावशाली व्यक्तित्व, व्यवहारिक ज्ञान और स्पष्टवादिता स्वभाव के कारण वे पक्ष विपक्ष में लोकप्रिय थे।

केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा का शोक संदेश
देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रनव मुखर्जी के निधन की खबर सुनकर मर्माहत हूं।उनके निधन से देश ने एक महान नेता,विचारक और एक स्टेट्समैन खो दिया।उनका सारा जीवन देश की सेवा के लिए समर्पित था।भगवान उन्हें अपने श्रीचरणों में स्थान दें।उनके परिजनों के प्रति मेरी संवेदना।ॐ शांति।

बाबूलाल मरांडी

भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी जी ने पूर्व राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी जी के निधन पर दुःख व्यक्त किया है। श्री मरांडी ने कहा कि राष्ट्र उनके अमूल्य योगदान का सदैव ऋणी रहेगा। देश को और भारतीय राजनीति को उनकी कमी हमेशा महसूस होगी। दिवंगत आत्मा को शांति और इनके प्रियजनों, शुभेच्छुओं को इस असीम दुख को सहने की शक्ति मिले, ईश्वर से यही प्रार्थना है।

 रघुवर दास, पूर्व मुख्यमंत्री

बहुमुखी व्यक्तित्व के धनी, विद्वान राजनेता भारत रत्न प्रणब मुखर्जी जी के निधन की सूचना से मर्माहत हूँ। उनका जाना एक युग की समाप्ति है। ईश्वर उन्हें अपने श्रीचरणों में स्थान दें। साथ ही उनके परिजनों और शुभचिंतकों को यह आघात सहने की शक्ति प्रदान करे। मेरे प्रति उनका स्नेह अविस्मरणीय है। रविंद्र भवन का शिलान्यास करने वे रांची आए थे, तब मुझे उनका सानिध्य प्राप्त हुआ। उनके साथ बिताए हुए पल मुझे सदैव याद रहेंगे। वह हमेशा कहते थे की सत्ता मिलने पर गरीब और जरूरतमंद की सेवा ही उसका एकमात्र लक्ष्य होना चाहिए। उनका यूं चले जाना मेरे लिए व्यक्तिगत क्षति है, लेकिन उनकी सीख हमेशा मेरे साथ रहेगी।
सांसद दीपक प्रकाश

पूर्व राष्ट्रपति भारत रत्न प्रणव मुखर्जी के निधन पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष एवम सांसद दीपक प्रकाश ने गहरा शोक प्रकट किया है. श्री प्रकाश ने कहा कि स्व मुखर्जी सहज ,सरल व्यक्तित्व के साथ बहुमुखी प्रतिभा के धनी थे। एक राजनीतिक, सामाजिक कार्यकर्ता के साथ सदन के सदस्य, सरकार के मंत्री या फिर भारत के राष्ट्रपति के रूप में उन्होंने देश को नई दिशा दी। कहा कि स्व मुखर्जी भारतीय संस्कृति के संवाहक रहे। श्री प्रकाश ने उनकी आत्मा की शांति केलिये ईश्वर से प्रार्थना की।

मधु कोड़ा, पूर्व मुख्यमंत्री झारखण्ड

भारत रत्न, पूर्व राष्ट्रपति श्री प्रणव मुखर्जी के निधन से गहरा आघात पहुंचा है। वह संसदीय राजनीति के स्तम्भ थे। उनका जाना देश व राजनीति के लिए अपूरणीय क्षति है। ईश्वर से प्रार्थना है कि दुःख की इस घड़ी में शोकाकुल परिवार को शक्ति दें तथा दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करें।

गीता कोड़ा, सांसद, सिंहभूम

भारत रत्न, पूर्व राष्ट्रपति श्री प्रणव मुखर्जी के निधन की सूचना से अत्यंत ही मर्माहत हूं। संसदीय राजनीति का उन्हें लम्बा अनुभव प्राप्त था। उनका जाना देश व राजनीति के लिए अपूरणीय क्षति है। ईश्वर से प्रार्थना करती हूं कि दुःख की इस घड़ी में शोकाकुल परिवार को सम्बल दें तथा दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करें।

 

 

Check Also

सितंबर से चालू हो जाएगा कांटाटोली फ्लाईओवर

🔊 Listen to this नगर विकास एवं आवास विभाग के सचिव अरवा राजकमल ने जुडको …