Breaking News

हजारीबाग : PLFI के एरिया कमांडर सहित 4 लोग गिरफ्तार, पुलिस के चंगुल में महिला विंग की प्रमुख

हजारीबाग: जिला पुलिस को बड़ी सफलता मिली है. पुलिस ने चार पीएलएफआई उग्रवादियों को गिरफ्तार किया है, जिसमें एरिया कमांडर भी शामिल है. महिला विंग की मुख्य कमांडर और संरक्षक को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है.

लेवी वसूली करने का मामला

हजारीबाग पुलिस ने प्रतिबंधित नक्सली संगठन पीएलएफआई के एरिया कमांडर सहित चार लोगों को गिरफ्तार करने में सफलता पाई है. संगठन के महिला विंग की मुख्य कमांडर और संरक्षक काजल विश्वकर्मा उर्फ मैडम जी को भी रांची के सिकीदरी से गिरफ्तार किया गया है. एरिया कमांडर नंद किशोर महतो उर्फ नंदू को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है. इन लोगों की निशानदेही पर पुलिस ने एक देसी कट्टा, एक देसी राइफल, तीन जिंदा कारतूस, एक इंडिगो कार और 4 मोबाइल फोन भी बरामद किया है. पुलिस अधीक्षक कार्तिक एस ने बताया कि संगठन के लोगों ने बड़कागांव और उरीमारी के साथ रामगढ़ के पतरातू थाना में भी विभिन्न कंपनियों से लेवी वसूली करने का मामला दर्ज है. एरिया कमांडर पर आधा दर्जन मामले विभिन्न थाना क्षेत्रों में दर्ज है.

एसआईटी का गठन

हजारीबाग पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि मुफस्सिल थाना क्षेत्र के हत्यारी मोड के पास एक लाइन होटल में लेवी वसूलने के लिए कुछ उग्रवादी जमा हुए हैं. कैसे व्यापारियों से लेवी वसूला जाए इसकी रणनीति बना रहे हैं. ऐसे में एसआईटी का गठन करके पुलिस ने यह सफलता प्राप्त की है, जिसमें सबसे महत्वपूर्ण गिरफ्तारी महिला विंग की प्रमुख संरक्षक काजल उर्फ मैडम जी की है, जो रांची की रहने वाली है. इनका मुख्य काम संगठन के सदस्यों को हथियार पहुंचाना, पैसा वसूलना और महिला विंग को मजबूत करना था. नंद किशोर महतो उर्फ महतो उर्फ नंदू उर्फ मोटू एरिया कमांडर को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. इसका क्षेत्र बड़कागांव, हजारीबाग और रामगढ़ के साथ-साथ बोकारो का कुछ क्षेत्र आता है, जिसे पीएलएफआई ने इस क्षेत्र में लेवी वसूलने का जिम्मा दे रखा था.

गिरफ्तारी से संगठन पर पड़ेगा असर

तीसरे का नाम सफीक अंसारी है, जो हजारीबाग के इचाक का रहने वाला है. इस व्यक्ति का मुख्य काम विभिन्न व्यवसायियों का मोबाइल नंबर संगठन को उपलब्ध कराना था, ताकि उनसे लेवी वसूली जा सके. वहीं, संगठन के अन्य सदस्य को हथियार पहुंचाने के लिए भी यह काम किया करता था. यह खुद को समाज में वाइट कलर के रूप में प्रस्तुत भी करता था. चौथे व्यक्ति जिसकी गिरफ्तारी हुई है. उसका नाम वीर कुमार उर्फ हीरालाल है. वह बोकारो का रहने वाला है. यह महिला विंग को मदद करता है और महिला विंग को हथियार पहुंचाने का भी काम करता है. एसपी ने पीएलएफआई से जुड़े चार नक्सलियों की गिरफ्तारी को महत्वपूर्ण बताया है. उनका यह भी मानना है कि गिरफ्तारी से संगठन पर तो असर पड़ेगा ही, साथ ही साथ अपराध का ग्राफ भी क्षेत्र में गिरेगा. उन्होंने व्यापारीयों से अपील भी की है कि अगर कोई संगठन लेवी मांगता है तो वह गुप्त सूचना पाकर पुलिस को दे. पुलिस उनकी मदद करेगी.

Check Also

कुख्यात अमन साहू का सहयोगी 3 लाख का इनामी प्रमोद यादव मुठभेड़ में ढेर

🔊 Listen to this रांची। कोसी-सीमांचल क्षेत्र के साथ-साथ कई इलाकों में अपना आतंक फैला …