Breaking News

गुजरात में फंसी हैं झारखंड की 30 बच्चियां, बीजेपी नेता आरती कुजूर ने मुख्यमंत्री से लगाई वापस लाने की गुहार

रांचीः भाजपा महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष आरती कुजूर ने झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग के अध्यक्ष प्रियंक कानूनगो और रांची के सांसद संजय सेठ को पत्र लिखा है. जिसमें उन्होंने रांची जिले के अनगड़ा प्रखंड के सुदूरवर्ती पंचायत से 30 बच्चियों को सिलाई-कढ़ाई के नाम पर दिल्ली ले जाने के मामले पर कार्रवाई करने का आग्रह किया है.

30 बच्चियां हुईं थी लापता

बता दें कि अनगड़ा के सुदूर ग्रामीण क्षेत्र जोकि जंगल और पहाड़ों से घिरा हुआ है, जहां के लोगों का पेशा खेती है. ऐसे ग्रामीण क्षेत्र से पढ़ने वाली बच्चियों को सिलाई-कढ़ाई के नाम पर अभिभावकों को जानकारी दिए बगैर गुजरात ले जाने का मामला प्रकाश में आया है. ये सभी बच्चियां 6 अगस्त 2020 से अपने घर से लापता थी. परिजनों ने बच्चियों को ढूंढने का हर संभव प्रयास किया, लेकिन उन्हें बच्चियों के बारे में कोई जानकारी नहीं मिल पाई.

शिपिंग यार्ड में मछली ढोने और पैकिंग करने का काम
लेपसर बूढ़ा कोचा निवासी स्वर्गीय जीतू बेतिया की पुत्री सुनीता कुमारी के मोबाइल नंबर पर संपर्क करने पर परिजनों को उनके गुजरात में होने की जानकारी मिली. बच्चियों ने कहा कि उन्हें सिलाई-कढ़ाई का प्रशिक्षण देने के नाम पर गुजरात लाया गया है. यहां किसी शिपिंग यार्ड में मछली ढोने और पैकिंग करने का काम कराया जा रहा है. यह काम शाम के 6:00 बजे से लेकर सुबह 6:00 बजे तक यानी कि पूरी रात कराया जाता है. जिससे कई बच्चों की तबीयत खराब हो गई है और ये लड़कियां जब घर आना चाहती हैं तो उस सिपिंग यार्ड के संचालकों की तरफ से उन्हें डराया-धमकाया जा रहा है. साथ ही साथ घर जाने के एवज में मोटी रकम की मांग भी की जा रही है.

कार्रवाई करने का किया आग्रह
भाजपा महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष आरती कुजूर ने मुख्यमंत्री झारखंड, राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग के अध्यक्ष प्रियंक कानूनगो और रांची के सांसद से बच्चियों को वापस लाने और दोषियों को चिन्हित कर कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने का आग्रह किया है.

Check Also

सितंबर से चालू हो जाएगा कांटाटोली फ्लाईओवर

🔊 Listen to this नगर विकास एवं आवास विभाग के सचिव अरवा राजकमल ने जुडको …