Breaking News

सरकार एवं अधिकारी राज्य की जनता को लूटने में लगे हैं : सीपी सिंह

पूर्व मंत्री सीपी सिंह ने सूबे की सरकार पर बोला बड़ा हमला

मेदिनीनगर: राज्य में बिजली,पानी, अपराध व उग्रवाद की बढ़ती घटनाएं,होल्डिंग टैक्स में अप्रत्याशित वृद्धि,बालू की कालाबाजारी,भ्रष्टाचार समेत कई मुद्दों को लेकर भाजपा ने गीता भवन से बाजार होते हुए छह मुहान चौक तक हाहाकार प्रदर्शन किया। प्रदर्शन में भाजपा कार्यकर्ताओं ने विभिन्न नारे लगाए।छह मुहान चौक पर सभा किया।कार्यक्रम की अगुवाई जिला अध्यक्ष विजयनंद पाठक एवं संचालन जिला महामंत्री श्याम बाबू ने किया। कार्यक्रम में रांची के विधायक सह पूर्व मंत्री सीपी सिंह,सांसद विष्णु दयाल राम,डाल्टनगंज विधायक आलोक चौरसिया,पाकी विधायक डॉ शशिभूषण मेहता,छतरपुर विधायक पुष्पा देवी,महापौर अरुणा संकर, उप महापौर मंगल सिंह, प्रदेश प्रशिक्षण प्रमुख मनोज सिंह,भाजपा के वरिष्ठ नेता श्याम नारायण दुबे, पूर्व सांसद मनोज कुमार,विनोद सिंह शामिल हुए।जिला अध्यक्ष विजयनंद पाठक ने कहा कि इस सरकार ने अब तक जनता को सिर्फ छलने और लूटने का कार्य किया है।जो अब जनता जान चुकी है।अब इस सरकार को जनता ज्यादा दिन बर्दाश्त नहीं करने वाली है।कार्यकर्ताओं को आह्वान किया कि जब तक बिजली-पानी समेत अन्य समस्याओं का समाधान नहीं हो जाता है। तब तक हमें आंदोलन के माध्यम से लगातार संघर्ष करते रहना है।उन्होंने कहा कि चमन को सींचने में शायद कुछ पत्तियां झड़ गई होंगी,
यही इल्जाम है हम पर चमन से बेवफाई का।जिन्होंने रौंद डाली खिलती कलियां अपने पांव से,
वही दावा करते हैं इस चमन के रहनुमाई का।मुख्य अतिथि रांची के विधायक सह पूर्व मंत्री सीपी सिंह ने हेमंत सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि सरकार के मंत्री एवं पदाधिकारी जनता को लूटने में लगे हुए हैं। बालू पर प्रति वाहन से दो हजार रुपए सरकार के विधायक मंत्री लेते हैं। तो 15 सो रुपए सरकारी अधिकारी वसूलते हैं।इस प्रकार बालू में बेतहाशा वृद्धि हुई है। कहा कि राज्य में अबुआ राज नहीं बबुआ राज चल रहा है।इनको जनता की किसी भी समस्या से कोई लेना देना नहीं है। सरकार के एक मंत्री ने विवादित बयान दिया। कहां की हम 20% हैं तो आप 80% हैं जब हम सुरक्षित नहीं रहेंगे तो आप भी नहीं रह पाएंगे।उन्होंने कहा कि इस सरकार के मंत्री अधिकारी बेलगाम हो चुके हैं। सिर्फ जनता के पैसों की लूट खसोट में लगे हुए हैं। पिछले कई दिनों से राज्य में बिजली और पानी की घोर किल्लत से राज्य की जनता में हाहाकार मचा हुआ है।पर राज्य सरकार संवेदनहीन और बेपरवाह बैठी हुई है। उन्होंने कहा कि होल्डिंग टैक्स में अप्रत्याशित वृद्धि कर ये सरकार जनता को लूट लेना चाहती है। उन्होंने स्थानीय मेयर, डिप्टी मेयर, वार्ड पार्षदों एवं स्थानीय जनता से अनुरोध किया कि राज्य सरकार के द्वारा बढ़ाए गए होल्डिंग टैक्स का पुरजोर विरोध करें।उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने अपने पद का नाजायज फायदा उठाते हुए रांची डालटेनगंज मुख्य पथ पर 11 एकड़ जमीन अपनी पत्नी के नाम पर कराने का काम किया है। इसके पहले हेमंत सोरेन ने दुमका से लेकर रांची तक इतना जमीन ले लिया है कि जिसकी कल्पना कोई नहीं कर सकता। फिर भी उनकी जमीन लेने की हवस मिट नहीं रही है।
उन्होंने कहा कि हेमंत सोरेन एक तरफ बात करते हैं सीएनटी एसपीटी एक्ट का और दूसरी तरफ इसका गुनहगार भी उनसे बड़ा कोई नहीं है। मुख्यमंत्री अपने अधिकारियों के जरिए आम लोगों से अवैध वसूली करा रहे हैं।जिससे भ्रष्टाचार अपने शिखर पर है। सांसद विष्णु दयाल राम ने कहा कि वर्तमान की राज्य सरकार की लापरवाही और ध्यान नहीं देने की वजह से बिजली संकट उत्पन्न हुई है।इस बिजली संकट के लिए सिर्फ और सिर्फ हेमंत सरकार जिम्मेवार है।यह सरकार आज तक बिजली विभाग को ट्रांसफार्मर भी उपलब्ध नहीं करा पा रही है। पूर्व की भाजपा सरकार के द्वारा उपलब्ध ट्रांसफार्मर को ही बार-बार मरम्मत करा जनता को दिया जा रहा है। जो एक सप्ताह भी नहीं टिक पा रहा है। जिससे लोगों को घोर परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।हेमन्त सरकार उस सहयोगी दल से प्रेरणा लिया है जो दिन में भी लालटेन लेकर घूमती है।उन्होंने कहा कि इस सरकार ने भ्रष्टाचार के क्षेत्र में सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। इनके अधिकारी राज्य सरकार को पैसा देकर आते हैं।और जनता से ही उसकी वसूली करते हैं।इस सरकार में पदों की बोलियां लगाई जाती हैं।डाल्टनगंज विधायक आलोक चौरसिया ने कहा कि इस सरकार की सोच राज्य को तबाह-बर्बाद करने वाली है।और मुख्यमंत्री सिर्फ अपने और अपने परिवार की तरक्की के लिए काम कर रहें हैं। इन्हें राज्य की तरक्की से कोई लेना देना नहीं है।पूर्व की भाजपा सरकार में हम लोगों ने बिजली के क्षेत्र में अभूतपूर्व कार्य किए। हमने हर वंचित घर एवं गांव को बिजली से जोड़ने का काम किया। वही इस सरकार से इसका मेंटेनेंस भी नहीं हो पा रहा है। इस भीषण गर्मी में बिजली की कटौती राज्य की जनता के साथ घोर अन्याय है।पाकी विधायक डॉ शशि भूषण मेहता ने कहा के बिजली की कमी से राज्य में हाहाकार मचा हुआ है। राज्य में उत्पादित बिजली को इस राज्य सरकार द्वारा दूसरे राज्यों को बेचा जा रहा है। और राज्य की जनता बिजली के लिए तरस रही है।जो इस राज्य की जनता के साथ घोर अन्याय है।हम कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे।उन्होंने कहा कि यहां के मुख्यमंत्री जनता के प्रति अपने कर्तव्यों को भूल गए हैं। इसीलिए जनता त्रस्त हैऔर मुख्यमंत्री व्यवसाय करने में व्यस्त हैं। ऐसे व्यवसायी मुख्यमंत्री को जनता जल्द उखाड़ फेंकेगी। धन्यवाद ज्ञापन सुरेंद्र विश्वकर्मा ने किया। इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से परशुराम ओझा, नरेंद्र पांडे, किसलय तिवारी,प्रफुल्ल सिंह,अमित तिवारी,अविनाश वर्मा,विजय ओझा, विभाकर पांडे,दुर्गा जौहरी, रामलव चौरसिया, प्रभात भुइयां, प्रदीप सिन्हा,अरविंद गुप्ता,धर्मेंद्र उपाध्याय,उदय शुक्ला,शिव कुमार मिश्रा,रूपा सिंह,ज्योति पांडे, जितेंद्र तिवारी,सीटू गुप्ता,अजय तिवारी,धीरेन्द्र दुबे,संटू सिंह,सोमेश सिंह,नवेन्दु मिश्रा,शशि भूषण पांडेय,अविनाश सिन्हा, सुनील पांडे,विजय पाठक,जवाहर चंद्रवंशी,ईश्वरी पांडे,अमलेश चौरसिया,दिलीप तिवारी,ट्विंकल गुप्ता, विपुल गुप्ता,विजय शर्मा,अजय सिंह,श्वेतांक गर्ग, मनदीप प्रजापति,किशन मखड़िया,रूपेश समेत सैकड़ों कार्यकर्ता शामिल थे।

Check Also

राज्य में झामुमो कांग्रेस सरकार के संरक्षण में गरीबों आदिवासियों की जमीन लूट रहे माफिया:बाबूलाल मरांडी

🔊 Listen to this पिछले 5 वर्षों में सैकड़ों एकड़ जमीन की हुई है लूट …