Breaking News

हिरणों के ट्रेन से कटकर मौत मामले में रेल कर्मियों के खिलाफ FIR, पीटीआर ने दर्ज किया मामला

पलामू: टाइगर रिजर्व के इलाके में 5 हिरणों के ट्रेन से कटकर मौत मामले में 11 रेल कर्मियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज किया गया है. जिसमें 5 रेलवे ड्राइवर 5 रेलवे गार्ड और एक स्टेशन मास्टर का नाम शामिल है. इस घटना के बाद पीटीआर ने रेलवे के 10 ड्राइवर और गार्ड के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई है. वहीं, लोगों ने पीटीआर के इलाके गुजरने वाली ट्रेनों के रफ्तार को कम करने को कहा है.

क्या है मामला

31 अगस्त को पलामू टाइगर रिजर्व के बफर एरिया में हिरण की ट्रेन से कटने से मौत हो गई थी. इस घटना के कारण 11 रेल कर्मियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराया गया है. बता दें पहले भी ट्रेन से वन्य जीव शिकार होते रहे हैं. कोर एरिया में हाथी, बायसन, हिरण, शीतल, सांभर समेत कई जीव के ट्रेनों से कटने से मौत हुई है. बता दें कि रेलवे का सेंट्रल इंडस्ट्रियल कोर (सीआईसी सेक्शन) का केचकी रेलवे स्टेशन से लेकर हेहेगड़ा रेलवे स्टेशन तक पलामू टाइगर रिजर्व के इलाके में है.

क्या कहते हैं उपनिदेशक

उपनिदेशक ने बताया कि पलामू टाइगर रिजर्व के इलाके में करीब 9 किलोमीटर रेलवे लाइन कोर एरिया से होकर गुजरती है. इसे लेकर पहले से ही गाइडलाइन जारी किया गया है. जहां 20 से 30 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से ट्रेनें चलनी हैं, जबकि इससे बाहर ट्रेनों की रफ्तार करीब 110 किलोमीटर है.

पीटीआर खरीदेगा स्पीड मीटर

पीटीआर में ट्रेनों के स्पीड मापने वाली मशीनों को लगाया जाएगा. इसके अलावा ऐसी मशीन भी लगाई जाएंगी, जो ट्रेनों के आने के दौरान शोर करेगी. उपनिदेशक कुमार आशीष ने इसकी पुष्टि की है, उन्होंने बताया इस तरह की करीब 10 मशीनें खरीदी जाएंगी.

Check Also

कुख्यात अमन साहू का सहयोगी 3 लाख का इनामी प्रमोद यादव मुठभेड़ में ढेर

🔊 Listen to this रांची। कोसी-सीमांचल क्षेत्र के साथ-साथ कई इलाकों में अपना आतंक फैला …