Breaking News

खूंटी- मनरेगा के अंतर्गत सिंचाई कूप निर्माण से सशक्त हुए किसान

  • योजना का लाभ लेकर जीवन में मिली उम्मीद

खूंटी। जिले के कर्रा प्रखण्ड अंतर्गत ग्राम बमरजा के लाभुक किसान के जीवन को उन्नत करने की दिशा में मनरेगा के तहत संचालित ये योजना सार्थक सिद्ध हुई है। सफलता के पथ पर बढ़ते ये किसान अब आत्मविश्वास की ऊर्जा से प्रभावित हैं।
किसान कोयलो उराँव के जीवन मे एक आशा की किरण तब मिली जब उन्होंने को मनरेगा अंतर्गत सिंचाई कूप के के लिए ग्राम सभा में चर्चा कर अपने नाम से सिंचाई कूप मांग की I इसके लिये उन्होंने ग्राम सभा की कॉपी ग्राम रोजगार सेवक को प्रदान करने के उपरांत प्रखंड स्तर से योजना की प्रशासनिक स्वीकृति प्रदान की गयी .

सम्पूर्ण खेत मे सिंचाई के लिए पानी की कमी के कारण खेती में परेशानी आ रही थी। किसान कोयलो दूसरे खेत में खेती करता था, अपने खेत में सिंचाई के साधन न होने के कारण खेती करने में असमर्थ था।  परेशानियां तब छटी जब उन्होंने मनरेगा के अंतर्गत कुआँ निर्माण से ना केवल अपने खेत मे खेती करने के लिए समर्थ हुए हैं बल्कि अब  आत्मविश्वास से भरे आंखों में उम्मीदों की लहर भी दिखने लगी है।

चुनौती

सूखा प्रभावित तथा पिछड़ा क्षेत्र जहाँ आवागमन के साधन भी कम हैं, आर्थिक पिछड़ापन होने के बावजूद भी डुमारी गाँव का यह किसान अपने बच्चों को अच्छे स्कूल में शिक्षित कर रहे हैं। यही नहीं किसानों के लिए खेती के पर्याप्त संसाधन नहीं होना, समय पर बारिश नहीं होना यह सब बड़ी चुनौतियां बनकर सामने आई हैं।

किसान के जीवन में योजना का सकारात्मक प्रभाव

किसान कोयलो उराँव का कहना है कि पहले वो चार से पांच गुना ज़्यादा खेती कर फसल उपजा रहे हैं I इस वर्ष सब्जी खेती (आलू, मटर, बिन, करेला, गोभी, प्याज़, टमाटर, आरु इत्यादि) से कुल लाभ लगभग 2,10,000 रुपया तक हुआ है। अभी निकट भविष्य में भी सब्जी नकद बिक्री की जाएगी तथा अधिक से अधिक लाभ मिलने की संभावनाएं हैं I मनरेगा के अंतर्गत सिंचाई कूप निर्माण कर नगद खेती कर रहे हैं, जिससे डुमारी गांव के ही नहीं बल्कि कर्रा प्रखंड के काफी किसानो को भी प्रेरणा मिल रही है . लाभुक का कहना है कि अब वह हर मौसम में खेती करते हैं और परिवार के भरण पोषण, बच्चो की शिक्षा के खर्च के साथ-साथ खेती में भी पूंजी लगा कर कर्रा प्रखंड में एक उभरते हुए किसान के रूप में लोगो को प्रेरित कर रहे हैं I मनरेगा से मिली ये उपलब्धियां लोगों तक बेहतर संदेश देने में सहायक सिद्ध हुई हैं। अब ऊर्जावान ये किसान उन्नत भी हैं और कुशल भी।

Check Also

भुरकुंडा : रीवर साइड में नारायणी साड़ी सेंटर का हुआ उद्घाटन

🔊 Listen to this आजसू नेता रोशनलाल चौधरी ने किया उद्घाटन भुरकुंडा (रामगढ़): रीवर साइड …