Breaking News

दारोगा-इंस्पेक्टर तबादले के लिए बनी नई नीति, बड़े पैमाने पर होगा फेरबदल

रांची: झारखंड पुलिस में जूनियर पुलिस अफसरों का बड़े पैमाने पर तबादला होगा. राज्य पुलिस मुख्यालय ने दारोगा और इंस्पेक्टर स्तर के पुलिस पदाधिकारियों के तबादले को लेकर नई नीति बनाई है.
क्या है नई नीति में
नई नीति के तहत जिलों और पुलिस की इकाइयों को चार श्रेणी में बांटा गया है. राज्य गठन के बाद आठ साल या उससे अधिक अवधि तक ‘ए’ श्रेणी के जिलों में रहने वाले जूनियर अफसरों को उन जिलों से हटाया जाएगा. विधानसभा चुनाव के पहले जिलों में तीन साल या उससे अधिक समय से तैनात दारोगा-इंस्पेक्टर स्तर के कर्मियों का तबादला किया गया था. हालांकि रेल, सीआईडी, एसीबी, विशेष शाखा में पोस्टेड जूनियर अफसरों को तब तबादले से दूर रखा गया था.

किस तरह से हुआ जिलों की श्रेणी का बंटवारा
‘ए’ श्रेणी के जिलों में शहरी जिलों मसलन रांची, जमशेदपुर, धनबाद, बोकारो, हजारीबाग, सरायकेला-खरसांवा को रखा गया है. संताल परगना के जिलों को ‘बी’ श्रेणी, नक्सल प्रभाव वाले जिलों को ‘सी’ श्रेणी में जबकि ‘डी’ श्रेणी में सीआईडी, विशेष शाखा, रेल जैसी इकाइयों को रखा गया है. लंबे समय से ‘सी’ या ‘डी’ श्रेणी में पोस्टेड अफसरों को ‘ए’ या ‘बी’ श्रेणी में तैनात किया जाएगा. ‘ए’ श्रेणी में आठ साल या उससे अधिक तैनात रहे अफसरों को वहां से हटाकर ‘सी’ या ‘डी’ श्रेणी के इकाइयों में तैनात किया जाएगा.

पुलिस मुख्यालय में चल रही तैयारी
राज्य पुलिस मुख्यालय में बड़े पैमाने पर अफसरों के तबादले की तैयारी चल रही है. जल्द ही पुलिस मुख्यालय में बोर्ड की बैठक के बाद तबादलों पर मुहर लगा दिया जाएगा. एएसआई स्तर के कर्मियों का बीते साल या आठ साल से तबादला नहीं हुआ है. एएसआई स्तर के कर्मियों के तबादले के लिए पुलिस एसोसिएशन ने डीजीपी एमवी राव से गुहार लगाई थी. इंस्पेक्टर में प्रोन्नति पाने वाले अफसरों का भी तबादला होना है.

Check Also

राज्य में झामुमो कांग्रेस सरकार के संरक्षण में गरीबों आदिवासियों की जमीन लूट रहे माफिया:बाबूलाल मरांडी

🔊 Listen to this पिछले 5 वर्षों में सैकड़ों एकड़ जमीन की हुई है लूट …