Breaking News

झारखंड: शिक्षक दिवस के मौके पर झारखंड को मिला सम्मान

  • शिक्षा के प्रति समर्पित बानो के शिक्षक स्मिथ कुमार सोनी को मिला राष्ट्रपति पुरस्कार
  • केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने दी बधाई

ब्रजेश कुमार/आशीष शास्त्री

सिमडेगा । बानो के शिक्षक स्मिथ कुमार सोनी को आज का द्रोणाचार्य कहा जाए तो अतिशयोक्ति नहीं होगी। इनके समर्पण की क्या बात करें जब अधिकांश शिक्षक मार्निग वाक करते हैं, उस समय भी स्मिथ बच्चों को शिक्षा देते रहते हैं। आज अहले सुबह भी स्मिथ बानो के कुछ बच्चों को समझा रहे थे कि कैसे DIGI -SET से जो टेस्ट होना है उसमे भाग ले सकते हैं। शिक्षा के प्रति समर्पित ऐसे शिक्षक आज विरले ही देखने को मिलते है। शिक्षा के प्रति यही उदारता आज इन्हें राष्ट्रपति पुरस्कार तक पहुंँचा दी है। राष्ट्रपति पुरस्कार के लिए इनका चयन होने पर सांसद अर्जुन मुंडा ने उन्हें बधाई दी है।

शास्त्रों में स्मिथ कुमार सोनी जैसे शिक्षकों के लिए ही गुरु को ये दर्ज़ा मिला है

गुरु को भगवान से उपर का दर्जा दिया गया है। निश्चित रूप से शास्त्रों में स्मिथ कुमार सोनी जैसे शिक्षकों के लिए ही गुरु को ये दर्ज़ा मिला है। आज के द्रोणाचार्य स्मिथ कुमार सोनी जो शिक्षा दान के लिए दिन रात समर्पित रहते हैं।करीब तीन वर्ष पूर्व बानो प्रोजेक्ट स्कूल बंद होने की स्थिति में पहुंच गया था। तब स्मिथ कुमार सोनी को इस स्कूल की जिम्मेदारी सौंपी गयी। एक वर्ष की कड़ी मेहनत और लगन से शिक्षक सोनी ने इस स्कूल का कायाकल्प कर शिक्षा को नई दिशा प्रदान करते हुए बच्चियों का रिजल्ट शत प्रतिशत पहुंचा दिए।

स्मिथ वर्तमान में बानो के मध्य विद्यालय में पदस्थापित हैं

ऐसे ही अनेक उपलब्धि को समेटे सिमडेगा के शिक्षक सुमित कुमार सोनी राष्ट्रीय पुरस्कार के लिए चुने गए हैं । जो मूल रूप से गुमला जिले के बसिया निवासी स्मिथ ने अंबाटोली कोलेबिरा स्कूल से शिक्षण की शुरुआत 1994 में की थी। स्मिथ के मित्र शिक्षक श्याम सुंदर सिंह के अनुसार स्मिथ शुरु से ही अपना हर काम परफेक्ट करने के लिए पूरी ताकत झोंकने वाले शिक्षक हैं। बच्चों को पढ़ाने और उनका सर्वांगीण विकास करने के लिए उनका समर्पण सदा ही शिक्षकों के लिए अनुकरणीय रहा है। स्मिथ वर्तमान में बानो के मध्य विद्यालय में पदस्थापित हैं।

सरकार ने उनकी लगन सेवा समर्पण और उनके बेहतर अनुभव और तौर तरीका को देखते हुए स्मिथ को राज्य स्तरीय परिवर्तन दल में उन्हें शामिल कर लिया। उनके कई सुझाव शिक्षा सुधार में अपनाए गए। उनके विद्यालय ने हमेशा ही स्वच्छता के लिए पुरस्कार जीता रिजल्ट में भी स्मिथ का स्कूल हमेशा अग्रणी रहा और जिला और राज्य स्तर पर कई बार उनको पुरस्कार के लिए चुना जा चुका है।

यह एक शिक्षक और शिक्षा के लिए सही सम्मान

उन्होंने बताया कि उनके लिए हर छात्र और छात्राएंँ उनके बेटा और बेटी के समान हैं। वे बिना भेदभाव किए सभी को एक समान शिक्षा देते हैं। राष्ट्रपति पुरस्कार के लिए चुने जाने पर उन्होंने हर्ष जताते हुए कहा कि यह एक शिक्षक और शिक्षा के लिए सही सम्मान है।

इस दौरान इनके सुकृत्य पर राष्ट्रपति सम्मान से नवाजे जाने पर सांसद प्रतिनिधियों में सुशील श्रीवास्तव (सिमडेगा), मनोज कुमार (खूँटी), शैबू साहू (गुमला) ने बधाई दिये। साथ ही सम्मानित शिक्षक श्री सोनी ने बधाई दिए जाने पर उन्हें धन्यवाद देते हुए कहा कि सिमडेगा के अभी भी बहुत से विद्यालयों में कई समस्याएँ हैं।जिसमें थोड़ा ध्यान दे दिये जाने पर सभी विद्यालय आदर्श विद्यालय हो जाएंगे।

Check Also

BJP के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवर दास ने की बाबाधाम में पूजा, हेमंत सरकार पर साधा निशाना

🔊 Listen to this मौके पर पूर्व श्रम नियोजन मंत्री राज पालिवार और बीजेपी के …