Breaking News

चतरा : समस्याओं को लेकर सिमरिया विधायक ने सीसीएल के मुख्य प्रबंध निदेशक को लिखा पत्र

  • स्वास्थ, बिजली, पानी और सिंचाई की समुचित होगी व्यवस्था: विधायक

अजय चौरसिया

चतरा। कोयलांचल क्षेत्र मगध आम्रपाली और अशोका-पिपरवार में विस्थापित प्रभावित परिवारों को मुआवजा और नौकरी समेत अन्य समस्याओं को लेकर सिमरिया के भाजपा विधायक किसुन कुमार दास ने सीसीएल के मुख्य प्रबंध निदेशक को पत्र लिखा। विधायक श्री दास ने पत्र के माध्यम से सीसीएल प्रबंधन का ध्यान आकृष्ट करते हुए कहा है कि टंडवा प्रखंड पूर्णतः सीसीएल के दायरे में आ चुका है। परन्तु दुर्भाग्यवश विस्थापित गांवों का समुचित विकास नहीं हो पाया है। पत्र में आगे कहा गया है कि क्षेत्र में बिजली, पानी, स्वास्थ्य और शिक्षा की कोई व्यवस्था नहीं की गई है। लोग जेनरेटर के भरोसे अपना जीवन बसर करते हैं।

पत्र में कहा गया है कि जिला प्रशासन द्वारा जमीन के सत्यापन के बावजूद सीसीएल जंगल झाड़ी का बहाना बनाकर लोगों को मुआवजा और नौकरी नहीं दे रहा है। जबकि रैयतों के पूर्वज उस जमीन पर वर्षो पर कायम हैं। विधायक ने पत्र में कहा है कि सीसीएल द्वारा रैयतों की अधिग्रहित भूमि पर वर्षो पूर्व सेक्शन नाइन लगा दिया था। इस कारण भू रैयतों को न तो नौकरी दी जा रही है न ही मुवावजा। श्री दास ने मगध आम्रपाली में कोयला ढुलाई करने वाले ट्रक मालिको की परेशानियों से भी मुख्य प्रबंध निदेशक को अवगत कराया है।

विधायक अपने क्षेत्र के विकास के प्रति गंभीर

उन्होंने कहा है कि सीसीएल और ट्रांसपोर्टरों द्वारा हाइवा औऱ ट्रकों से कोयले की ढुलाई करवाई गई, परन्तु बकाए भाड़े का भुगतान नहीं किया गया। इस परिस्थिति में सभी वाहनों का किस्त फेल हो गया है। फाइनेंसर वाहन मालिकों से गाड़ियां वापस मांग रहे हैं। विधायक श्री दास ने पत्र में सीसीएल प्रबंधन को समस्याओं से निजात दिलाने का आग्रह किया है। यह पूरी जानकारी भाजपा नेता सह विधायक के खासमखास मिथलेश गुप्ता ने दूरभाष पर दी। उन्होंने कहा विधायक अपने क्षेत्र के विकास के प्रति गंभीर है।

Check Also

शहर में 22 जनवरी को निकलेगा भव्य शोभा यात्रा:श्री राम सेना

🔊 Listen to this रामगढ़lश्री राम सेना,रामगढ़ के द्वारा 11 जनवरी को प्रेस कॉन्फ्रेंस किया …