Breaking News

हजारीबागः फर्जी प्रमाणपत्र के आरोप में दो शिक्षक बर्खास्त, 6 ने दिया त्यागपत्र

हजारीबागः जिले में 2 सरकारी स्कूल में सेवा देने वाले शिक्षक मनीष कुमार और कंचन कुमारी की सेवा शनिवार को समाप्त कर दी गई. यह फैसला हजारीबाग उपायुक्त ने जिला स्थापना समिति की बैठक के दौरान लिया है.
5 सितंबर शिक्षक दिवस में जहां शिक्षकों को सम्मानित किया जा रहा है, लेकिन आज के ही दिन हजारीबाग जिला प्रशासन में 2 ऐसे शिक्षक जो फर्जी तरीके से बच्चों को पढ़ा रहे थे उनकी सेवा समाप्त करते हुए उन्हें बर्खास्त कर दिया है. दरअसल दोनों के पास जांच के दौरान B.Ed की डिग्री फर्जी जांच के दौरान पाई गई है.

माध्यमिक विद्यालय के लिए जिला स्थापना समिति की बैठक
उपायुक्त हजारीबाग आदित्य कुमार आनंद की अध्यक्षता में शनिवार को माध्यमिक विद्यालय के लिए जिला स्थापना समिति की बैठक हुई. बैठक में मुख्य रूप से फर्जी बीएड प्रशिक्षण प्रमाण पत्र के आधार पर सेवा दे रहे दो शिक्षकों को जांचोपरांत दोषी पाए जाने पर उनकी सेवा मुक्त करने का निर्देश दिया. मनीष कुमार जो उत्क्रमित उच्च विद्यालय चंपाडीह पदमा में सेवा दे रहे थे. वहीं कंचन कुमारी भी उत्क्रमित उच्च विद्यालय जर्जरा चुरचू में अपनी सेवा दे रहीं थीं.

वहीं, स्नातक प्रशिक्षित छह शिक्षकों ने स्वेच्छा से अपने निजी कारणों से अपने पद का त्याग किया. इस अवसर पर 22 शिक्षकों की सेवा संपुष्टि एवं प्रवरण वेतनमान पर विचार किया गया. इस बैठक में उप विकास आयुक्त अभय कुमार सिन्हा, अपर समाहर्ता भूहदबंदी प्रदीप तिग्गा, जिला शिक्षा पदाधिकारी लुदी कुमारी, जिला कल्याण पदाधिकारी उपस्थित रहे.

Check Also

राज्य में झामुमो कांग्रेस सरकार के संरक्षण में गरीबों आदिवासियों की जमीन लूट रहे माफिया:बाबूलाल मरांडी

🔊 Listen to this पिछले 5 वर्षों में सैकड़ों एकड़ जमीन की हुई है लूट …