Breaking News

शिबू सोरेन को मेदांता हॉस्पिटल ने किया डिस्चार्ज, अभी दिल्ली में रहेंगे

  • कुछ दिनों तक वह दिल्ली में ही रहकर स्वास्थ्य लाभ करेंगे

रांची : झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और झारखंड मुक्ति मोर्चा  के सबसे बड़े नेता शिबू सोरेन ने कोरोना को मात दे दी है. कोरोना के संक्रमण से मुक्त होने के बाद उन्हें रविवार को अस्पताल से छुट्टी दे दी गयी है. स्वस्थ होने के बावजूद अभी शिबू सोरेन झारखंड नहीं आयेंगे. आगामी कुछ दिनों तक वह दिल्ली में ही रहकर स्वास्थ्य लाभ करेंगे.

पिछले दिनों दिशोम गुरु शिबू सोरेन और उनकी पत्नी रूपी सोरेन में कोरोना के संक्रमण की पुष्टि हुई थी. इसके बाद वह होम आइसोलेशन में ही रह रहे थे. 25 अगस्त की रात को अचानक उनकी तबीयत बिगड़ गयी. आनन-फानन में 26 अगस्त को उन्हें सड़क मार्ग से बोकारो और फिर वहां से गुड़गांव के मेदांता अस्पताल भेजा गया.

सूबे के मुखिया और शिबू सोरेन के पुत्र हेमंत सोरेन खुद बोकारो तक सड़क मार्ग से शिबू सोरेन के साथ गये थे. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने तभी कहा था कि गुरुजी की सेहत को लेकर चिंता करने की कोई बात नहीं है. उनकी सेहत ठीक है. चूंकि उनकी मेडिकल हिस्ट्री है, इसलिए उन्हें बेहतर इलाज के लिए गुड़गांव भेजा जा रहा है.

अन्य बीमारियां भी अब कंट्रोल में

गुड़गांव के मेदांता अस्पताल में इलाज के बाद शिबू सोरेन कोरोना के संक्रमण से मुक्त हो गये हैं. साथ ही उनकी अन्य बीमारियां भी अब कंट्रोल में हैं. सो, अस्पताल ने उन्हें छुट्टी दे दी है. हालांकि, तीन बार झारखंड के मुख्यमंत्री रह चुके श्री सोरेन फिलहाल दिल्ली में ही स्वास्थ्य लाभ करेंगे. कुछ दिनों के बाद जब वह पूरी तरह स्वस्थ हो जायेंगे, तभी झारखंड लौटेंगे.

उल्लेखनीय है कि अगस्त के महीने में मुख्यमंत्री आवास में बड़ी संख्या में लोगों में कोरोना के संक्रमण की पुष्टि हुई थी. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और उनकी पत्नी समेत सीएम आवास के अधिकारियों और कर्मचारियों की तीन-तीन बार कोरोना जांच की गयी. हालांकि, तीनों ही जांच में हेमंत सोरेन और उनकी पत्नी की रिपोर्ट निगेटिव आयी.

 

Check Also

नीट पेपर लीक मामले में झारखंड के हजारीबाग से एक और गिरफ्तारी

🔊 Listen to this हजारीबाग। नीट पेपर लीक मामले में सीबीआई ने मंगलवार को हजारीबाग …