Breaking News

ज्ञानोदय विकास स्कूल बड़कागांव में हुआ बाल कवि सम्मेलन, लोटपोट हुए श्रोता

बड़कागांव संवाददाता

हिन्दी भाषा के प्रचार-प्रसार के उद्देश्य से छात्रों में छिपी रचनात्मक प्रतिभा को उभारने तथा आपसी सौहार्द विकसित करने हेतु ज्ञानोदय विकास स्कूल बड़कागांव में कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। जिसमें कक्षा 5 से कक्षा 10 तक के 80 विद्यार्थियों ने भाग लिया।
प्रतियोगिता के निर्णायक मंडल में निर्णायकों के रूप में – हिंदी के शिक्षक लालदेव महतो, कुलदीप कुमार राणा, अनिता कुमारी, तोहिद आलम एवं अनामिका कुमारी सम्मिलित थे। विद्यालय के प्रधानाध्यापक रियासत हसन ने विद्यार्थियों के रचनात्मक कौशल का विकास कर उसकी अभिव्यक्ति द्वारा ही एक विशेष पहचान तथा सम्मान देना कवि सम्मेलन का उद्देश्य बताया। उन्होंने इस सम्मेलन में हिन्दी भाषा के महत्व को बताते हुए कवि सम्मेलन में भाग लिए सभी बाल कवियों को प्रतिभागिता के लिए शुभकामनाएँ दिए।
हर विषय पर कविता
बाल कवियों ने समाज के विभिन्न ज्वलंत विषयों पर अपने मन के भावों को स्वरचित कविताओं के माध्यम से बड़े प्रभावी ढंग से प्रस्तुत किया। छात्र कवियों की प्रस्तुति में हर विषय सम्मिलित था- राजनीति हो, भ्रष्टाचार, बचपन, पर्यावरण संरक्षण, बाल श्रम उन्मूलन, मानव स्वार्थ, समाज में बढ़ती दुष्प्रवृतियाँ, देश प्रेम हो। विद्यालय के सचिव सिकंदर कुमार सोनी ने बाल कवियों को मौलिक कविता लेखन के लिए प्रेरित किया। सभी प्रतिभागियों की आकर्षक और मनोहर प्रस्तुति के लिए साधुवाद लोगों को साधुवाद दिया ।
बाल कवि हुए पुरस्कृत
इस कवि सम्मेलन में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाली कक्षा नौ की छात्रा कुमारी गोमती, द्वितीय स्थान पर कक्षा दस की सोनम कुमारी, तृतीय स्थान पर कक्षा नौ की रिमझिम कुमारी, चौथे स्थान पर कक्षा नौ की श्वेता कुमारी एवं पांचवें स्थान पर कक्षा नौ की सोनम भवानी रही सभी विजय रही प्रतिभागियों को विद्यालय के द्वारा उपहार भेंट किया जाएगा। मौके पर विद्यालय के सचिव सिकंदर कुमार सोनी, प्राचार्य रियासत हसन, उप प्राचार्य अरुण कुमार, शिक्षक लालदेव महतो, कुलदीप कुमार राणा, राजू राणा, अनामिका कुमारी, अनिता कुमारी, रूपा कुमारी, शिवनारायण कुमार, तोहिद आलम, मीना कुमारी, प्रतिक्षा कुमारी, आकांक्षा कुमारी, रिचा वर्मा, राजेश कुमार जयसवाल, साबिया प्रवीण, आरती कुमारी, चमेली कुमारी के अलावा विद्यार्थी एवं शिक्षक मौजूद थे।

Check Also

वर्ष 2030 तक दुनिया में हम तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने वाले हैं : राष्ट्रपति

🔊 Listen to this राष्ट्रपति ने तीन को चांसलर मेडल,58 को गोल्ड मेडल और 29 …