Breaking News

चाणक्य आइएएस एकेडमी की ओर से अमेरिकन इंस्टीट्यूट में किया गया प्रतिभा सम्मान समारोह सह मोटिवेशनल सेमिनार का आयोजन

12वीं पास 30 से अधिक टॉपर विद्यार्थियों को किया गया सम्मानित

आर्थिक रूप से कमजोर विद्यार्थियों के लिए चाणक्य आइएएस एकेडमी शुल्क में देगी 40 फीसदी तक की छूट

सिविल सेवा के क्षेत्र में कैरियर की राह आसान बना रहा है चाणक्य आइएएस एकेडमी : अनवर हुसैन

गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा और अनुकूल वातावरण मुहैया कर चाणक्य आइएएस एकेडमी बना सबसे बेहतर संस्थान: अमर कुमार

हजारीबाग। स्थानीय झिंझरिया पुल स्थित अमेरिकन इंस्टीट्यूट सभागार में चाणक्य आइएएस एकेडमी एवं अमेरिकन इंस्टीट्यूट के तत्वाधान में 12वीं पास विद्यार्थियों के लिए प्रतिभा सम्मान समारोह सह मोटिवेशनल सेमिनार का आयोजन अमेरीकन इंस्टीट्यूट के निदेशक सुदेश कुमार प्रसाद की अध्यक्षता में रविवार को किया गया, जिसमें 12वीं पास 30 से अधिक टॉपर विद्यार्थियों को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में स्वागत भाषण देते हुए कार्यक्रम के संचालक व लेखक विपिन कुमार ने चाणक्य आइएएस एकेडमी के इस पहल की सराहना की और कहा कि ऐसे कार्यक्रम से विद्यार्थियों का उत्साहवर्धन होगा, उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम में चाणक्य आइएएस एकेडमी के वाइस प्रेसिडेंट विनय मिश्रा व जेनरल मैनेजर रीमा मिश्रा शामिल होने वाले थे और अपने हाथों से ही सभी टॉपरों को सम्मानित करने वाले थे पर किसी आवश्यक कार्यों से उनकी मौजूदगी तो नहीं हो पाई लेकिन उन्हीं के मार्गदर्शन में यह कार्यक्रम संचालित हो रहा है। बतौर मुख्य अतिथि चाणक्य आइएएस एकेडमी के झारखंड एकेडमिक हेड अनवर हुसैन व शिक्षक अमर कुमार भी इस कार्यक्रम में शरीक हुए। मुख्य अतिथि अनवर हुसैन, शिक्षक अमर कुमार, चाणक्य आइएएस एकेडमी के हजारीबाग सेंटर हेड मोहन कुमार, ब्रांच मैनेजर अवधेश कुमार, अमेरिकन इंस्टीट्यूट के निदेशक सुदेश प्रसाद, लेखक विपिन कुमार समेत अन्य अतिथियों के हाथों दीप प्रज्वलन के साथ कार्यक्रम की शुरुआत हुई। मौके पर मौजूद बड़ी संख्या में विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए चाणक्य आइएएस एकेडमी के झारखंड एकेडमिक हेड अनवर हुसैन ने कहा कि दुनिया का हर शख्स सफलता की बुलंदियों को छूना चाहता है लेकिन सभी के सपने हकीकत में तब्दील नहीं होते। बल्कि उसी के सपने हकीकत में बदलते हैं, जिन्होंने समय की अहमियत को समझा और बेहतर मार्गदर्शन में सही दिशा में सकारात्मक सोंच के साथ अपने कदम आगे बढ़ाए। उन्होंने कहा कि यहां मौजूद विद्यार्थी 12वीं पास कर चुके हैं। अब आपके पास मौका है कि आप अपने ज़िंदगी के बेहतर रास्ते का चुनाव करें। उन्होंने सिविल सेवा की परीक्षा से जुड़ी कई अहम बातें विद्यार्थियों को बताई और कहा कि मन में जज़्बा हो और मेहनत करने का जुनून हो तो आप आइएएस बनने के सपने को पूरा कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि हजारीबाग कौशल्या प्लाजा स्थित चाणक्य आइएएस एकेडमी संस्थान में हर वह सुविधाएं उपलब्ध है, जो सुविधाएं दिल्ली जैसे महानगरों में विद्यार्थियों के लिए उपलब्ध कराए जाते हैं। उन्होंने कहा कि चाणक्य आइएएस एकेडमी की देश भर में 24 शाखाएं संचालित हैं और सभी में दिल्ली जैसी सुविधाएं उपलब्ध है। यही वजह है कि बड़ी संख्या में वैसे विद्यार्थी जो बड़े शहरों में रहकर सिविल सेवा की तैयारी कर पाने में असक्षम थे, अब चाणक्य आइएएस एकेडमी से तैयारी कर अपने सपनों को साकार कर रहें हैं। साथ ही चाणक्य आइएएस एकेडमी के देश भर के विभिन्न शाखाओं में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई और अब हजारीबाग शाखा में सबसे अधिक समय दे रही हैं। श्रीमति मिश्रा चाहती हैं कि आने वाले समय में यूपीएससी का सबसे बेहतर रिजल्ट हजारीबाग शाखा का हो, क्योंकि सिविल सेवा में वह झारखंड को अव्वल देखना चाहती हैं। वहीं संस्थान के शिक्षक अमर कुमार ने कहा कि चाणक्य आइएएस एकेडमी की सबसे बड़ी विशेषता है कि जो विषय विशेषज्ञ शिक्षक दिल्ली स्थित संस्थान में कक्षाएं लेते हैं, वही शिक्षक हजारीबाग स्थित संस्थान या चाणक्य आइएएस एकेडमी के देश भर में स्थित अन्य संस्थानों में कक्षाएं लेते हैं, जो यह साबित करता है कि चाणक्य आइएएस एकेडमी के किसी भी संस्थान में रहकर आप सिविल सेवा की तैयारी कर रहे हैं तो आपको गुणवत्ता और सुविधाएं भी राष्ट्रीय स्तर की ही प्राप्त होगी। उन्होंने कहा कि वर्ष 1993 में चाणक्य आइएएस एकेडमी की शुरुआत जब इंटरनेशनल मोटीवेशनल स्पीकर व सक्सेस गुरू एके मिश्रा ने की थी, तब कंधे से कंधा मिलाकर उनके छोटे भाई और चाणक्य आइएएस एकेडमी के वाइस प्रेसिडेंट विनय मिश्रा की अहम भूमिका की वजह से आज संस्थान की 24 शाखाएं सफलता पूर्वक देश भर में संचालित किए जा रहे हैं। साथ ही इन तीस वर्षों के दौरान 5 हजार से भी अधिक सिविल सर्विसेज और विभिन्न राज्यों के स्टेट पीसीएस में बड़ी संख्या में अभ्यर्थी सफलता हासिल कर आज सफलता की बुलंदियों पर काबिज़ हैं। इसलिए यहां मौजूद सभी विद्यार्थी भी सिविल सेवा में जाने के बारे में सोंच सकते हैं और भविष्य में देश सेवा में महत्वपूर्ण योगदान दे सकते हैं। श्री कुमार ने कहा कि चाणक्य आइएएस एकेडमी मेधावी विद्यार्थियों के लिए वरदान साबित हो रही है। अभी हाल ही में 12वीं आर्ट्स में राज्य की थर्ड टॉपर आंचल को चाणक्य आइएएस एकेडमी के वाइस प्रेसिडेंट विनय मिश्रा व जेनरल मैनेजर रीमा मिश्रा ने गोद लेने के साथ उनके आइएएस बनने तक की पूरी जिम्मेदारी ले ली, जो यह बताता है कि चाणक्य आइएएस एकेडमी अपने सामाजिक दायित्वों का निर्वहन भी बखुबी कर रहा है। उन्होंने कहा कि आंचल सिर्फ एक बच्ची नहीं है बल्कि आर्थिक रूप से कमजोर ऐसे कई विद्यार्थियों को चाणक्य आइएएस एकेडमी उनके मंजिल में दिए जलाने का कार्य कर रही है। वहीं संस्थान के हजारीबाग शाखा के ब्रांच मैनेजर अवधेश कुमार ने सिविल सेवा से जुड़ी संस्थान में कराए जा रहे तैयारियों की विस्तृत जानकारी विद्यार्थियों को दी। संस्थान के हजारीबाग सेंटर हेड मोहन कुमार ने घोषणा करते हुए कहा कि ऐसे विद्यार्थी जो आर्थिक रूप से संपन्न नहीं है, उनके लिए संस्थान 40 फीसदी तक शुल्क में छूट देगी ताकि आर्थिक मजबूरी के कारण आपके ख्वाब हकीकत में तब्दील होने से वंचित रह जाए और वैसे विद्यार्थी भी सफलता हासिल कर सिविल सेवा में आकर देश सेवा कर सकें।
मौके पर लेखक विपिन कुमार की ओर से विद्यार्थियों के लिए प्रश्नोत्तरी का भी आयोजन किया गया और सफल विद्यार्थियों को पुरस्कृत किया गया। मौके पर मुख्य अतिथि व चाणक्य आइएएस एकेडमी के झारखंड एकेडमिक हेड अनवर हुसैन, शिक्षक अमर कुमार, हजारीबाग सेंटर हेड मोहन कुमार, ब्रांच मैनेजर अवधेश कुमार, कार्यक्रम के संचालक व लेखक विपिन कुमार, अमेरीकन इंस्टीट्यूट के निदेशक सुदेश कुमार प्रसाद के अलावा चाणक्य आइएएस एकेडमी के सुभाष प्रसाद, राकेश कुमार, शिक्षक रितेश कुमार सिंह, राजेश कुमार, आदित्य कुमार, भास्कर कुमार, प्रकाश कुमार, मिथुन कुमार, परमेश्वर महतो व बड़ी संख्या में विद्यार्थी एवं अभिभावक मौजूद थे।

 

Check Also

पतरातू में मतदाता जागरूकता अभियान

🔊 Listen to this पतरातू(रामगढ़)। आगामी लोकसभा निर्वाचन में नागरिकों द्वारा शत प्रतिशत मतदान करने …