Breaking News

प्राइवेट स्कूल एंड चिल्ड्रन वेलफेयर एसोसिएशन ने खेल गांव में राज्य स्तरीय प्रतिभा सम्मान समारोह का आयोजन किया

पासवा ने 10,000 से अधिक विद्यार्थियों को किया सम्मानित

छात्र छात्राओं के हौसला अफजाई के लिए झारखंड में यह अपने आप का पहला अनोखा आयोजन : डॉ रामेश्वर उरांव

रांची। प्राईवेट स्कूल एंड चिल्ड्रेन वेलफेयर एसोसिएशन (पासवा) की ओर से आज सोमवार 8 अगस्त को राजधानी रांची के खेलगांव स्थित हरवंश टाना भगत स्टेडियम में आयोजित राज्यस्तरीय छात्र प्रतिभा सम्मान समारोह एक साथ 10,000 से अधिक छात्र छात्राओं को सम्मानित नया इतिहास रचने का काम किया गया। सीबीएसई, आईसीएसई और जैक बोर्ड द्वारा आयोजित 10वीं और 12वीं परीक्षा के टॉपर और 80 प्रतिशत से अधिक अंक लाने वाले छात्र-छात्राओं को राज्य के वित्तमंत्री डॉ0 रामेश्वर उरांव, पद्मश्री मुकुंद नायक , पासवा के राष्ट्रीय अध्यक्ष सैयद शमायल अहमद और प्रदेश अध्यक्ष आलोक कुमार दूबे समेत अन्य अतिथियों द्वारा सम्मानित किया गया। झारखंड ही नहीं संभवत देशभर में यह पहला मौका होगा जब इतनी बड़ी संख्या में एक साथ 10,000 से अधिक प्रतिभावान छात्र छात्राओं को सम्मानित किया गया।

समारोह के दौरान विभिन्न बोर्ड परीक्षाओं में दसवीं और बारहवीं परीक्षा टॉप करने वाले 10वीं और 12वीं के टॉपरों को नगद राशि और मेडल तथा प्रशस्ति पत्र देकर पुरस्कृत किया गया जबकि 80 प्रतिशत या उससे अधिक अंक लाने वाले विद्यार्थियों को मेडल और प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया।
इस मौके पर वित्त मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव ने कहा कि झारखंड में पहली बार इतने बड़े पैमाने पर हो रहे राज्यस्तरीय छात्र प्रतिभा सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। उन्होंने कहा कि छात्र-छात्राओं की हौसला अफजाई को लेकर झारखंड में यह अपने आप का पहला अनोखा आयोजन रहा। उन्होंने कहा कि अपने जीवन में झारखंड में इतने बड़े पैमाने पर छात्र छात्राओं को सम्मानित करने के लिए इसका कार्यक्रम आयोजित होते हुए उन्होंने पहले कभी नहीं देखा था लेकिन पासवा की ओर से इस तरह का भव्य आयोजन कर राज्य के सामने एक उदाहरण पेश किया गया है।

उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम का उद्देश्य मुख्य रूप से वैसे प्रतिभावान छात्र छात्राओं को सम्मानित करना और प्रोत्साहित करना है जो टॉप तो नहीं बन सके लेकिन उन में भी प्रतिभा छिपी हुई है यही कारण है कि यह बच्चे भले ही टॉप करने में सफलता हासिल नहीं की लेकिन जिस तरह से उन्होंने 80 प्रतिशत और उससे अधिक अंक लाए हैं यह उनकी प्रतिभा को दर्शाता है और उनकी सफलता को किसी भी मायने में कम नहीं आंका जाना चाहिए,यह बच्चे हैं भविष्य में आगे चलकर नए कीर्तिमान गढ़ने का करने का काम करेंगे। न्होंने कहा कि किसी भी परीक्षा में टॉपर तो सीमित होते हैं लेकिन विभिन्न कारणों से जो विद्यार्थी कुछ अंक लाने से टॉपर बनने से चूक जाते है, उनका हौसला बढ़ाना है, ताकि भविष्य में ये बच्चे भी टॉपर बन सके।
पासवा के राष्ट्रीय अध्यक्ष शमायल अहमद ने कहा कि प्रदेश अध्यक्ष आलोक कुमार दूबे के नेतृत्व में एक साल के अंदर ही संगठन ने छात्रों, अभिभावकों और शिक्षकों तथा निजी स्कूल संचालकों की परेशानियों को दूर करने की आवाज उठाकर शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लाने की दिशा में महत्वपूर्ण कार्य किया है। उन्होंने कहा कि जिस तरह से प्रदेश अध्यक्ष आलोक कुमार दूबे के नेतृत्व में पासवा की ओर से संगठन को दुरुस्त करने की दिशा में एक अद्भूत मिसाल पैदा की गयी है और निजी स्कूल संचालकों को एक बैनर तले एकत्रित करने का प्रयसा किया है, वह अपने आप में संगठन खड़ा करने का अद्भूम मिसाल है।
पासवा के प्रदेश अध्यक्ष आलोक कुमार दूबे ने बताया कि अलग झारखंड राज्य गठन के 22 वर्षाें में विद्यार्थियों को सम्मानित करने के लिए पहली बार इतने बड़े पैमाने पर राज्यस्तरीय समारोह का आयोजन किया गया, संभवतः विद्यार्थियों को सम्मानित करने का यह देशभर में सबसे बड़ा आयोजन होगा। समारोह में विभिन्न निजी स्कूलों के शिक्षकों, प्राचार्य, निदेशक और संचालकों को भी सम्मानित किया गया। वहीं कई स्कूलों की ओर से समारोह के दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए ।
कार्यक्रम को सफल बनाने में प्रदेश पासवा के लाल किशोर नाथ शाहदेव,डा.राजेश गुप्ता, अरविन्द कुमार, आलोक बिपीन टोप्पो,राशीद अंसारी, मेहुल दूबे, मुजाहिद इस्लाम,संजय प्रसाद, शुभोजित अधिकारी, पिंकी मिश्रा, डा.सुषमा केरकेट्टा, माजिद अंसारी, अमीन अंसारी, फलक फातिमा मुख्य रूप से उपस्थित थे।

 

Check Also

पतरातू में मतदाता जागरूकता अभियान

🔊 Listen to this पतरातू(रामगढ़)। आगामी लोकसभा निर्वाचन में नागरिकों द्वारा शत प्रतिशत मतदान करने …