Breaking News

प्रेम विवाह पर महापंचायत का तुगलकी फरमान, बेटी के जिंदा होते हुए पिता से कराया श्राद्ध कर्म

  • प्रेमी युगल का सामाजिक बहिष्कार करते हुए गांव में प्रवेश करने पर रोक लगा दी
  • साथ ही जिंदे में ही उसकी तिलांजलि देते हुए श्राद्ध करने का फैसला सुनाया

धनबाद: दक्षिणी टुंडी में एक युवती को दूसरे समुदाय के साथ प्रेम विवाह करना काफी महंगा पड़ गया. महापंचायत ने प्रेमी युगल का सामाजिक बहिष्कार करते हुए गांव में प्रवेश करने पर रोक लगा दी. इसके साथ ही जिंदे में ही उसकी तिलांजलि देते हुए श्राद्ध करने का फैसला सुनाया.

15 गांवों के मांझी हड़ाम की महापंचायत बैठी

दक्षिणी टुंडी अंतर्गत खोरमो गांव के जोरिया धार टोले की एक युवती के विवाह करने पर युवती के पिता की उपस्थिति में 15 गांवों के मांझी हड़ाम की महापंचायत बैठी. पंचायत ने प्रेमी युगल का सामाजिक बहिष्कार करते हुए गांव में प्रवेश करने पर रोक लगा दी. इसके साथ ही जिंदा में ही श्राद्ध कर युवती के नाम से तिलांजलि देने का निर्णय लिया गया.

ग्रामीणों ने भोज में शामिल होकर युवती को तिलांजलि दी

इसके साथ ही पंचायत ने यह भी कहा कि समाज के खिलाफ जानेवाले लोगों को कभी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. पंचायत के बाद युवती के परिजनों द्वारा युवती के जिंदा रहने पर ही श्राद्ध किया गया और ग्रामीणों ने भोज में शामिल होकर युवती को तिलांजलि दी.

Check Also

धर्मस्थल लुगुबुरु-मरांगबुरु को बेहतर पर्यटन स्थल के रूप में जल्द से जल्द विकसित करें : चम्पाई सोरेन

🔊 Listen to this मुख्यमंत्री ने पर्यटन, कला-संस्कृति, खेल-कूद एवं युवा कार्य विभाग की उच्चस्तरीय …