Breaking News

पानी की तेज धारा में बहने वाले हजारीबाग के उमेश राणा का अब तक अता-पता नहीं, परिजन आक्रोशित

  • 24 घंटे बाद भी युवक का पता नहीं चल सका है
  • एनडीआरएफ की टीम के साथ पुलिस की टीम भी मौजूद

रांची । रांची में सोमवार को हुई तेज बारिश के बाद कोकर खोरहा टोली आइटीआइ लेन की पुलिया के ऊपर पानी की तेज धारा में बहे युवक को ढूंढने एनडीआरएफ की टीम पहुंच गई है। लेकिन 24 घंटे बाद भी युवक का पता नहीं चल सका है। एनडीआरएफ की टीम युवक की तलाश करने नामकुम स्थित स्वर्णरेखा नदी पर पहुंची है। वहां से तलाश करती हुई टीम खोरहाटोली तक पहुंची। एनडीआरएफ की टीम के साथ पुलिस की टीम भी मौजूद है। पानी की तेज धारा में बहने वाले युवक की पहचान हो गई है। वह हजारीबाग का रहने वाला उमेश राणा है। वह रांची के खोरहा टोली में रहकर कारपेंटर का काम करता था। अब तक कोई अता-पता नहीं चलने से उसके परिजन आक्रोशित हैं।

एक युवक को स्थानीय लोगों की सूझबूझ से बचा लिया गया

बता दें कि सोमवार को दो युवक पानी की तेज धारा में बह गए थे। इनमें एक युवक को स्थानीय लोगों की सूझबूझ से बचा लिया गया। हालांकि दूसरा युवक बाइक के साथ ही बह गया। बहकर युवक कहां गया, इसकी जानकारी खबर लिखे तक नहीं मिल पाई है। युवकों के इस तरह बहने की खबर मिलते ही वहां लोगों की भीड़ जुट गई। सदर थाने की पुलिस भी मौके पर पहुंची। पुलिस और स्थानीय लोगों ने बहे युवक की तलाश की लेकिन उसका कोई अता-पता नहीं चल पाया। इसके बाद सदर थाने की पुलिस ने एनडीआरएफ की टीम को सूचना दी।

उफान पर था नाला, पुलिया के ऊपर पानी की तेज धार

तेज बारिश की वजह से कोकर खोरहा टोली स्थित पुलिया उफान पर था। पुलिया के ऊपर पानी की तेज धार बह रही थी। पानी का बहाव इतना तेज था कि पुलिया पर रखा केबलिंग वायर भी बह गया। इसी बीच करीब साढ़े तीन बजे एक बाइक सवार युवक उसी पुलिया से गुजर रहा था। बाइक सवार युवक ने पुलिया आधा पार कर लिया था। इस बीच वह पानी की तेज धार में बहने लगा। इसे देखकर दूसरी छोर पर खड़ा दूसरा युवक पैदल ही उसे बचाने के लिए पुल पर उतर गया।

गर्दन तक पानी होने की वजह से दोनों युवक अनियंत्रित होकर बहने लगे। पुल के बगल में सुशील टोप्पनो नामक व्यक्ति के मकान का निर्माण कार्य चल रहा था। दोनों युवकों को डूबते देखकर सुशील अपने परिवार के सदस्यों के साथ उसे बचाने के लिए निकले। पानी के बहाव के बीच रस्सी फेंका। इसे पकड़ कर काफी मशक्कत के बाद युवक पानी से बाहर आ गया। हालांकि बाइक के साथ डूबे युवक का कोई अता-पता नहीं है।

दोनों को बचाने के लिए फेंकी तीन बार रस्सी, तब आया पकड़ में

बहते हुए युवक को बचाने के लिए सुशील, महताब और सलीम रस्सी लेकर पहुंचे। दो बार रस्सी फेंका, लेकिन युवक तक नहीं पहुंच पाया। तीसरी बार जब रस्सी फेंका तो बाइक सवार को बचाने गए युवक ने रस्‍सी को पकड़ लिया। पांचों मिलकर उसे खींचने लगे। लंबी मशक्कत के बाद उन्होंने एक युवक को बचा लिया। मगर दूसरा बाइक समेत बह गया।

बाइक पकड़े रहने की वजह से बह गया युवक

चश्मदीद रहे सुशील के अनुसार बाइक सवार युवक बाइक पकड़े रहने की वजह से बह गया। कई बार उसे बाइक छोड़ने के लिए आवाज भी लगाई गई। बचाने गए युवक ने भी उसे बाइक छोड़ने की सलाह दी। मगर उस युवक ने बाइक को छोड़ा ही नहीं। इस वजह से युवक बहता चला गया।

Check Also

सितंबर से चालू हो जाएगा कांटाटोली फ्लाईओवर

🔊 Listen to this नगर विकास एवं आवास विभाग के सचिव अरवा राजकमल ने जुडको …