Breaking News

मनरेगा कर्मियों की काम के दौरान मौत होने पर परिजनों को मिलेंगे 5 लाख रुपये, PF का भी मिलेगा लाभ

 रांची : झारखंड के मनरेगा कर्मी अब कर्मचारी भविष्य निधि से जुड़ेंगे. इसके अलावा काम के दौरान दुर्घटना से मौत होने पर उसके परिजनों को सहायता के तौर पर 5 लाख रुपये दिये जायेंगे. गुरुवार को ग्रामीण विकास विभाग मंत्री आलमगीर आलम की अध्यक्षता में अनिश्चितकालीन हड़ताल पर बैठे मनरेगा कर्मियों की प्रतिनिधिमंडल से वार्ता में यह सहमति बनी. मनरेगा कर्मियों की 5 मांगों के एवज में राज्य सरकार ने 3 मांगों को माना. इसके साथ ही 27 जुलाई, 2020 से चली आ रही मनरेगा कर्मियों की अनिश्चितकालीन हड़ताल खत्म हो गयी. इधर, मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने मनरेगा कर्मचारी संघ द्वारा हड़ताल खत्म किये जाने पर संघ के सदस्यों को धन्यवाद दिया है. उन्होंने कहा कि आप सभी अनुबंधकर्मियों की समस्याओं के निदान के लिए सरकार ने पहले ही एक उच्चस्तरीय समिति गठित कर रखी है. झारखंडवासियों की वर्तमान सरकार सभी की पीड़ा और संवेदनाओं को प्राथमिकता पर रखकर कार्य कर रही है और सदैव करते रहेगी.

वार्ता में 3 मांगों पर सहमति बनी

ग्रामीण विकास विभाग मंत्री आलमगीर आलम और मनरेगा प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों के साथ हुई वार्ता में 3 मांगों पर सहमति बनी. इसके तहत काम के दौरान आंशिक, गंभीर और मौत पर राज्य सरकार की ओर से सहायता राशि उपलब्ध करायी जायेगी. इसके अलावा कर्मचारी भविष्य निधि से जोड़ने और मनरेगा कर्मियों के बर्खास्तगी के दौरान उन्हें अपील करने का प्रावधान किया गया है.

Check Also

मुख्यमंत्री द्वारा विभागीय समीक्षा और बड़ी बड़ी घोषणाएं केवल आईवाश: प्रदीप वर्मा

🔊 Listen to this रांचीlभाजपा प्रदेश महामंत्री एवम सांसद डॉ प्रदीप वर्मा ने आज राज्य …