Breaking News

नवंबर के पहले हफ्ते में देवघर से शुरू होगी हवाई सेवा, बाबा बैद्यनाथ मंदिर के शिखर के तर्ज पर बनेगा टर्मिनल भवन

  • नागरिक उड्डयन राज्यमंत्री हरदीप सिंह पुरी देवघर में प्रस्तावित निर्माणाधीन हवाई अड्डे का निरीक्षण करने पहुंचे

जल्द देवघर हवाई सेवा से जुड़ने जा रहा है। नवंबर के पहले हफ्ते से देवघर से हवाई सेवा शुरू हो जाएगी। देवघर में हवाई सेवा की मांग सालों पुरानी थी। शनिवार को केंद्रीय नागरिक उड्डयन राज्यमंत्री हरदीप सिंह पुरी देवघर में प्रस्तावित निर्माणाधीन हवाई अड्डे का निरीक्षण करने पहुंचे और जानकारी ली।

शनिवार दोपहर 12 बजे हेलीकॉप्टर से नागरिक उड्डयन राज्यमंत्री हरदीप सिंह पुरी देवघर हवाई अड्डे पर उतरे। निरीक्षण के पश्चात टर्मिनल भवन में उन्होंने पौधरोपण किया। इसके बाद एयरपोर्ट अधिकारी एवं जिले के अधिकारियों के साथ बैठक कर एयरपोर्ट निर्माण से संबंधित कई दिशा-निर्देश दिए। लगभग आधे घंटे तक बैठक करने के बाद वे देवघर से रवाना हो गए। देवघर पहुंचने पर गोड्डा सांसद निशिकांत दुबे ने उनकी अगुवाई की। बैठक के पूर्व सांसद निशिकांत दुबे ने बाबा बैद्यनाथ मंदिर का प्रतीक चिन्ह देकर एवं शॉल उड़ाकर उनका स्वागत किया।

रांची के बाद राज्य का दूसरा सबसे बड़ा एयरपोर्ट होगा

मंत्री ने कहा है कि नवंबर के शुरूआती हफ्ते से देवघर से हवाई सेवाएं शुरू हो जाएंगी। देवघर हवाई अड्डा रांची के बाद राज्य का दूसरा सबसे बड़ा हवाई अड्डा होगा। केन्द्रीय मंत्री शनिवार को देवघर के निर्माणाधीन एयरपोर्ट पर पत्रकारों से बात कर रहे थे। उन्होंने कहा कि एक सप्ताह के भीतर इसको लेकर दिल्ली में संबंधित विभाग व सचिव स्तर की बैठक कर विमानों के परिचालन व उड़ान शुरू होने की तिथि की घोषणा कर दी जाएगी।

टर्मिनल भवन दिसंबर के अंत तक पूरा हो जाएगा
हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि टर्मिनल भवन दिसंबर के अंतिम सप्ताह तक पूरी होने के बाद उड़ानों के संख्याओं को और बढ़ाया जाएगा और व्यापक किया जाएगा। अभी नवंबर के पहले सप्ताह में कुछ चिन्हित जगहों के लिए देवघर से उड़ाने शुरू की जाएंगी जो देवघर के लिए एक मील का पत्थर साबित होगा। जल्द ही दिल्ली में एयरपोर्ट अथॉरिटी के चेयरमैन एवं वन मंत्रालय के अधिकारियों के साथ बैठक कर इसकी घोषणा कर दी जाएगी।

401.34 करोड़ की लागत से हो रहा हवाई अड्डा का निर्माण
देवघर एयरपोर्ट 657 एकड़ भू-भाग में फैला होगा। इसका टर्मिनल भवन 5130 स्क्वायर मीटर क्षेत्र में बनाया जा रहा है। 2500 मीटर लंबे रन-वे के साथ यह एयरपोर्ट एयर बस 320 आदि विमानों के ऑपरेशन के लिए बिल्कुल उपयुक्त रहेगा। टर्मिनल बिल्डिंग में 6 चेक-इन काउंटर होंगे। 1 आगमन प्वाइंट और भीड़-भाड़ की स्थिति में 200 यात्रियों को संभालने की क्षमता होगी। एयरपोर्ट का डिजाइन पर्यावरण के अनुकूल और अत्याधुनिक यात्री सुविधाओं से लैस होगा। टर्मिनल बिल्डिंग का डिजाइन बाबा वैद्यनाथ मंदिर के शिखर से प्रेरित होगा।

एयरपोर्ट के अंदर स्थानीय आदिवासी कला, हस्तशिल्प और स्थानीय पर्यटन स्थलों की तस्वीरें दिखायी जाएंगी, जो इस क्षेत्र की संस्कृति को दर्शाती है। देवघर हवाई अड्डा रक्षा अनुसंधान राज्य सरकार एवं एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के तहत 401.34 करोड़ की लागत से देवघर हवाई अड्डा का निर्माण कराया जा रहा है निर्माण कार्य कराया जा रहा है। बता दें कि 25 मई 2018 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिया ऑनलाइन देवघर हवाई अड्डा निर्माण की आधारशिला रखी थी।

Check Also

केंद्रीय गृहमंत्री शाह कल रांची में विधानसभा चुनाव का फूंकेंगे बिगुल

🔊 Listen to this रांची। आगामी अक्टूबर-नवंबर में संभावित झारखंड विधानसभा चुनाव को लेकर भारतीय …