Breaking News

सोलर पॉवर ग्रिड से चापुडीह वासियों के चेहरे पर आई मुस्कान

  • जिला प्रशासन ने की विकास कार्यों की मुआयना हेतु दौरा

ब्रजेश कुमार
खूँटी । जिले के अंतिम छोर चारों ओर से जंगल और पहाड़ों से घिरा हुआ गाँव बारीगड़ा गांव का एक टोला चापुडीह में जिला प्रशासन की ओर से डीडीसी अरुण कुमार सिन्हा, एसडीएम हेमंत सती, एसी अरविन्द कुमार पहुंचे ।
इस गांव में पहुंचने पर ग्रामीणों ने अतिथियों का स्वागत पारंपरिक ढंग से करते हुए बैठक स्थल तक ले गए जहाँ अधिकारियों ने ग्रामीणों को समस्याओं को सुना और उसके समाधान के उचित दिशा निर्देश दिए। चापुडीह गांव में टाटा ट्रस्ट एवं बैंक ऑफ अमेरिका के वितीय सहयोग तथा प्रदान संस्था के मार्गदर्शन में बने सोलर पॉवर ग्रिड एवं ड्रिंकिंग वॉटर सिस्टम को देखा और इसकी प्रशंसा की। गाँव की दीदियों ने बताया कि पहले हमलोगों के यहाँ बिजली और पानी की व्यवस्था नहीं थी जिसके कारण बहुत सारी समस्याओं का सामना करना पड़ता था। शाम होते ही चारों तरफ अँधेरा छा जाता था। बहुत मुश्किल से मिट्टी तेल से डिबरी जलाकर अपना काम करते थे। पानी के लिए हमारे गाँव में एक मात्र चुआं है, उससे हमलोग पीने का पानी लेते थे। लेकिन अब प्रदान संस्था के सहयोग से हमारे गाँव में सोलर पॉवर ग्रिड एवं साफ पानी के लिए पानी की टंकी का निर्माण हुआ है। जिससे हमलोगों को हर घर में चौबीसों घंटा बिजली और पानी उपलभ है। इस कार्य को देख कर अधिकारियों ने प्रदान संस्था के कार्यों की प्रशंसा की। उन्होंने गाँव में बन रहे रोड एवं पुल का भी निरीक्षण किया और उसमें उचित सुधार करने का आदेश दिया।
साथ ही सभी कोटा गाँव पहुंचकर अड़की महिला संघ और प्रदान संस्था के सहयोग से बनाये जा रहे अस्सी नर्सरी बेड को देखा और टमाटर के नर्सरी बेड में बीज डालकर उसकी शुरुआत की। टमाटर नर्सरी के दिन अधिकारियों के गाँव पहुँचने पर ग्रामीणों का उत्साह देखते बन रहा था। ग्रामीणों ने बताया कि अभी एक सौ नर्सरी बेड और बनाये जायेंगे और लगभग चार सौ किसान एक साथ टमाटर कि खेती करेंगे। प्रदान के शंकर ने बताया कि हमलोग अभी लगभग पंद्रह लाख बीज की नर्सरी छः जगहों में कर रहें हैं। ग्रामीणों का उत्साहवर्धन करते अधिकारियों ने कहा कि बहुत ही अच्छा प्रयास है और इससे किसानों की आय दुगनी करने में मदद मिलेगी। अधिकारियों ने कोटा गाँव में ग्रामीणों की समस्याओं को सुना और उसको तुरंत दूर करने का निर्देश दिया। मौके पर अड़की के प्रमुख सीता नाग, जेएसएलपीएस के डीपीएम शैलेश रंजन, डीआरडी के मनीष कुमार, मुखिया महाबीर सिंह मुंडा, प्रदान संस्था के विजय वीरू, यश, शंकर, अभिषेक, तृषा, बन्दना, गुरजीत, स्वरुप, अशोक एवं अड़की महिला संघ कि हर्समनी देवी उपस्थित थे |

Check Also

जब राजनीति विज्ञान से प्रोफ़ेसर बना जा सकता है तो +2 शिक्षक क्यों नहीं ?

🔊 Listen to this राज्य के +2 विद्यालयों में राजनीति विज्ञान शिक्षक को शामिल करने …