Breaking News

किसान विरोधी नीतियों के विरोध में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का पुतला दहन

  • किसान मजदूर विरोधी है मोदी सरकार: महेन्द्र पाठक

रामगढ़।आज सोमवार को शहर के सुभाष चौक पर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला दहन किसान समन्वय संघर्ष समिति के बैनर तले किया गया। गगनभेदी नारों के साथ पुतला दहन के कार्यक्रम की अध्यक्षता महेन्द्र पाठक ने किया। किसान समन्वय संघर्ष समिति के सँयोजक सह अखिल भारतीय किसान सभा के महासचिव महेंद्र पाठक अखिल भारतीय किसान महासभा के करमा के नेतृत्व में पुतला दहन किया गया। मौके पर उपस्थित नेताओं ने कहा कि जिस तरह से तानाशाही रवैया अपनाते हुए केंद्र की मोदी सरकार तीनों किसान बिल को लोकसभा और विधानसभा में पास कराया है। वह भी देश का शर्मसार करने वाली है। जबकि देश के 300 से अधिक किसान संगठनों सारा विपक्ष इन मुद्दों के खिलाफ लगातार संघर्ष कर रहा है।विरोध कर रहा है, बावजूद हठधर्मिता अपनाते हुए सरकार ने विधेयक को पास कराया है। अगर यह विधेयक कानून का रूप धारण करता है । तो देश में कंपनी राज स्थापित होगा।जिस तरह से पहले जमीदारी प्रथा में जमींदारों के द्वारा किसानों को शोषण किया जाता था।उसी तरह से अडानी, अंबानी जैसे उद्योगपति कृषि के क्षेत्र में जब निवेश करेंगे तो छोटे-छोटे किसान मारे जाएंगे। अब उनकी उपज मंडियों में नहीं बिक सकती , मंडी समाप्त करने वाली योजना है । जिस तरह से आवश्यक वस्तुओं को सरकारी नियंत्रण हटा दिया गया जमाखोरी बढ़ेगी।तिलहन दलहन आलू प्याज टमाटर से लेकर सारे उद्योगपतियों के गोदाम में जमा हो जाएंगे और मनमानी कीमत आम लोगों से वसूला जाएगा ।

तीनों विधायक किसान विरोधी आम जनता विरोधी

कुल मिलाकर यह तीनों विधायक किसान विरोधी आम जनता विरोधी है ,कार्यक्रम में महेन्द्र पाठक दे ,सरजू बेदीया, शाहिद अनसारी, कयुम खान ,सराफत अनसारी, ईमरान अनसारी, कुलेश्वर मेहता, राकेश गोस्वामी, चीँटु करमाली, मेवालाल प्रसाद ,कयुम खान ,राम सिंह माँझी ,चेत लाल मांझी ,शाहरुख अनसारी ,गोलू ,साबीर अनसारी, मनिंदर हेंब्रम, जोधन ,सोनू, कुमार सुरेश ,अमल घोस,लाल मोहन मुंडा ,अशोक सिंह,पुकार गंझू आदि मौजूद थे।

Check Also

मतदान के बाद जेबीकेएसएस समर्थित निर्दलीय प्रत्याशी ने किया धन्यवाद प्रकट

🔊 Listen to this मतदाताओं ने दिया जागरूकता का परिचय,संघर्ष के सफर में साथ देने …