Breaking News

झारखंड में जल्दी ही सरकारी और निजी स्कूल खुल जायेंगे :  शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो

  • अन्य राज्यों की गाइडलाइंस पर भी झारखंड की सरकार विचार कर रही है

रांची : झारखंड में जल्दी ही सरकारी और निजी स्कूल खुल जायेंगे. झारखंड सरकार ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है. शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने गाइडलाइंस के बारे में भी बता दिया है और कहा है कि जल्दी ही स्कूलों को खोलने पर सरकार निर्णय लेगी. शिक्षा मंत्री ने कहा है कि अन्य राज्यों की गाइडलाइंस पर भी झारखंड की सरकार विचार कर रही है. इन राज्यों के गाइडलाइंस का अध्ययन करने के बाद स्थिति को देखते हुए स्कूलों को खोलने पर अंतिम निर्णय लिया जायेगा.

शुरू में 9वीं से 12वीं तक के बच्चों को सीमित संख्या में स्कूल जाने की अनुमति देने पर विचार

ऐसी उम्मीद जतायी जा रही है कि शुरू में 9वीं से 12वीं तक के बच्चों को सीमित संख्या में स्कूल जाने की अनुमति देने पर विचार चल रहा है. इस दौरान बच्चे स्कूल में जाकर क्लासरूम में पढ़ाई नहीं कर सकेंगे. सिर्फ शिक्षकों से मिल सकेंगे और अपनी शंकाओं का समाधान कर सकेंगे. एक तरह से छात्रों को अभिभावकों की अनुमति के बाद कंसल्टेशन के लिए स्कूल जाने देने पर विचार किया जा रहा है.

दूसरी तरफ, प्राइवेट स्कूलों ने सरकार से अपील की है कि कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) आने तक स्कूलों को नहीं खोला जायेगा. ज्ञात हो कि झारखंड में कोरोना संक्रमण के गिरते ग्राफ को देखते हुए राज्य सरकार स्कूलों को खोलने पर विचार कर रही है. शिक्षा विभाग के द्वारा तैयार प्रस्ताव के अनुसार, स्कूलों में कोरोना से बचाव के लिए सारे प्रबंध भी किये जायेंगे और बच्चों को गार्जियन की अनुमति के बाद ही स्कूल आने की अनुमति दी जायेगी. शिक्षा विभाग ने ऐसा एक प्रस्ताव सरकार के पास भेजा है. सरकार उस प्रस्ताव पर विचार कर रही है.

कोरोना संक्रमण के कारण राज्य के स्कूलों में पठन-पाठन का पूरी तरह से ठप है. विकल्प के तौर पर ऑनलाइन क्लास चल रहे हैं. लेकिन, शिक्षा विभाग इससे संतुष्ट नहीं है. यही वजह है कि वर्ष 2021 में मैट्रिक-इंटर की परीक्षा में शामिल होने वाले छात्रों की सहूलियत के लिए सरकार कोविड-19 के नॉर्म्स का पालन करते हुए स्कूल खोलने पर विचार कर रही है.

स्कूल खोलने को लेकर अभिभावकों से पिछले दिनों राय भी मांगी थी

सरकार ने स्कूल खोलने को लेकर अभिभावकों से पिछले दिनों राय भी मांगी थी. अधिकतर अभिभावकों ने कहा था कि कोरोना वायरस की जब तक दवा नहीं आ जाती, स्कूल नहीं खोले जाने चाहिए. वहीं, निजी स्कूलों के अलावा माध्यमिक शिक्षक संघ ने सरकार से आग्रह किया है कि कोरोना वैक्सीन आने तक स्कूल बंद रखे जायें.

Check Also

एमके दिलीप ने किया एमकेडी फिल्म्स प्रोडक्शंस का शुभारंभ

🔊 Listen to this खोरठा ,भक्ति , बांग्ला और हिंदी में करेंगे म्यूजिक वीडियो का …