Breaking News

किसान विरोधी बिल वापस लेने तक आंदोलन जारी रहेगा: कांग्रेस

  • गढ़वा में कांग्रेस ने केंद्र सरकार के खिलाफ किया प्रेस कॉन्फ्रेंस

मंदीप आदर्श

गढ़वा। दिल्ली में बैठी केन्द्र सरकार को किसानों के लिए लाई किसान विरोधी काला बिल को वापस लेना होगा। भाजपा की केंद्र सरकार देश के छोटे छोटे किसानों दुकानदारों एवं मजदूरों को बड़े बड़े पूंजीपतियों के हाथों गिरवी रखने का कार्य कर रही हैं।कांग्रेस इसे कभी बर्दाश्त नहीं नहीं करेगा।उक्त बातें जोनल को कॉर्डिनेटर भीम कुमार एवं कांग्रेस जिलाध्यक्ष अरविंद तुफानी ने अशोक बिहार स्थित जिला कांग्रेस कार्यालय में एक वार्ता कर कहा।कांग्रेस नेताओं ने कहा कि कृषि बिल के विरोध में पूरे देश में उबाल मचा है।कृषि बिल किसानों को बड़े पूंजीपतियों के हाथों गिरवी रखने जैसा है।किसानों के समर्थन के लिए एन डी ए का एक घटक अकाली दल ने भी केंद्र सरकार से अपना समर्थन वापस ले लिया है।जोनल कोऑर्डिनेटर श्री भीम कुमार जी एवं जिला अध्यक्ष अरविंद कुमार तूफानी ने प्रेस को संबोधित करते हुए कहा कि मोदी सरकार 3 काले कानूनों के माध्यम से किसान,खेत, मजदूर, छोटे दुकानदार,मंडी मजदूर व कर्मचारियों की अजीब का पर क्रूर हमला बोला है ।

देश की हरित क्रांति को हराने की साजिश कर रही है

किसान खेत और खलिहान के खिलाफ एक घिलौना षडयंत्र है। केंद्रीय भाजपा सरकार तीन काले कानून के माध्यम से देश की हरित क्रांति को हराने की साजिश कर रही है। देश के अन्नदाता और भाग्य विधाता किसान तथा खेतिहर मजदूर की मेहनत को चंद पूंजीपतियों के हाथों गिरवी रखने का षड्यंत्र किया जा रहा है। भाजपा की मोदी सरकार संसद में बगैर किसी चर्चा व राय मशवरा के बिना कृषि ब बिल को पारित करा लिया है।संसदीय प्रणाली को दरकिनार करते हुए काला कानून पास करा दिया l प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भाजपा सरकार देश के किसानों को गुमराह करने का कार्य कर रही है प्रधानमंत्री आज भाजपा सरकार को किसानों खेतिहर मजदूरों मंडी के आढ़तियों व मंडी के मजदूरों मुनीम व कर्मचारियों ट्रांसपोर्टरों कृषि व्यवसाय से जुड़े करोड़ो लोगो के ऐतराज़ का सीधा जवाब देना चाहिये। कांग्रेस पार्टी इस किसान विरोधी बिल के विरोध में गाँव से लेकर राजधानी तक किसानों के हित में आंदोलन करेगा। कांग्रेस पार्टी तब तक इसका विरोध करेंगा जब तक कि कानून को वापस नहीं कर लिया जाता है। आज की प्रेस वार्ता में झारखंड प्रदेश के पूर्व सचिव सुरेंद्र तिवारी, पूर्व प्रत्याशी अमृत शुक्ला,राजेश चौबे,प्रखंड अध्यक्ष योगेंदर चौबे, लातेहार के विधानसभा प्रभारी गणेश रवि, संतु राम सहित कई कांग्रेसी मौजूद थे।

Check Also

जब राजनीति विज्ञान से प्रोफ़ेसर बना जा सकता है तो +2 शिक्षक क्यों नहीं ?

🔊 Listen to this राज्य के +2 विद्यालयों में राजनीति विज्ञान शिक्षक को शामिल करने …