Breaking News

गुमराह की राजनीति करना कांग्रेस के डीएनए में : दीपक प्रकाश

  • झामुमो और कांग्रेस के आंदोलन पर भाजपा का पलटवार
  • बिचौलिया और दलालों के साथ कांग्रेस, झामुमो

रांची। कृषि कानून को लेकर भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस झामुमो पर कड़ा प्रहार किया।कांग्रेस कृषि कानून को लेकर दुष्प्रचार कर रही है। कांग्रेस बिचौलियों की हितैसी है, बिचौलियों के पक्ष में झूठा आंदोलन खड़ा कर रही है। राजधानी रांची में हुए कांग्रेसी कार्यक्रम में एक भी किसान नहीं थें। कांग्रेस पार्टी ने शुरू से ही किसानों को कानून के नाम पर अनेक बंधनो में जकड़ रखा था अब उन बंधनों से मुक्त करने का कार्य प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कर रहे हैं,यह बात भाजपा प्रदेश अध्यक्ष एवम सांसद दीपक प्रकाश ने प्रदेश कार्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कही।

कांग्रेस पर हमला बोलते हुए श्री प्रकाश ने कहा कि अपने घोषणा पत्र में कृषि सुधार की बात करने वाली कांग्रेस, आज वही कृषि सुधार कानून का विरोध कर रही है। यह कांग्रेस का दोहरा चरित्र है। 55 वर्षों में कांग्रेस ने एकबार किसानों का कर्ज माफ किया और उसमें भी भारी घोटाला हुआ। जबकि मोदी सरकार ने किसान सम्मान निधि के तहत अबतक 92000 करोड़ रुपये की राशि किसानों के खाते में भेजा है।

MSP समाप्त होने का भ्रम फैला रही कांग्रेस

उन्होंने कहा कि कृषि सुधार कानून में MSP व्यवस्था पहले की तरह ही लागू रहेगी ,प्रधानमंत्री जी ने यह बात बार बार कही है। स्वामीनाथन कमिटी की रिपोर्ट को लागू करते हुए मोदी सरकार ने MSP को डेढ़ गुणा किया। साथ ही मंडी व्यवस्था पहले की तरह जारी रहेगी। वन नेशन, वन मार्केट के तहत किसान अपनी फसल कही भी किसी को भी बेच सकेंगे। किसान पार्टनर की तरह जुड़कर ज्यादा मुनाफा कमाएगा। आत्म निर्भर भारत पैकेज में कृषि के लिये 1 लाख करोड़ की व्यवस्था की गई। मोदी सरकार ने 2022 तक प्रत्येक किसान की आय को दुगुनी करने केलिये संकल्पित है। लगातार इस दिशा में सार्थक पहल भी कर रही है।
तीन कृषि सुधार विधेयक जो अब कानून का रूप ले चुका है।पर दीपक प्रकाश ने कहा कि मेरा सौभाग्य है कि मैं इस विधेयक के पारित होने का सदन में साक्षी बना।उन्होंने कहा कृषि और किसान की सशक्तिकरण केलिये यह ऐतिहासिक और महत्वपूर्ण कदम है।

कांग्रेस-झामुमो घोषणा पत्र को लागू करे

दीपक प्रकाश ने राज्य की सत्तारूढ़ पार्टी कांग्रेस और झामुमो पर हमला बोलते हुए कहा कि झूठा आंदोलन और विरोध की नॉटंकी बंद करे राज्य सरकार। सर्व प्रथम अपने घोषणा पत्र को लागू करे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस झामुमो ने सरकार गठन के तुरंत बाद 2 लाख तक का कृषि ऋण माफ, किसानों को स्वरोजगार हेतु 15 हजार का अनुदान, किसान बैंक की स्थापना, प्रखंड मुख्यालयों में कोल्ड स्टोरेज खोला जाना, किसानों को बिजली कनेक्सन मुफ्त, प्रत्येक प्रखंड में किसान स्कूल शुरू करने का आश्वासन दिया था।किंतु सरकार के एक साल होने को इसके बावजूद सरकार ने कोई पहल नहीं किया है जो दुर्भाग्यजनक है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस देश की आजादी के बाद से ही किसानों को गुमराह करते आई है।

किसानों के बीच जाएगी भाजपा

उन्होंने कहा कि कृषि सुधार से सम्बंधित तीनों कानून को लेकर पार्टी किसानों के घर घर पहुंचने का कार्य करेगी। 15 दिन का पखवाड़ा कार्यक्रम होगा, जिसमें किसानों को जागरूक किया जाएगा। चौपाल बैठक, खटिया पंचायत, किसान नेताओं से चर्चा और बुद्धिजीवियों के साथ चर्चा करते हुए प्रधानमंत्री व कृषि मंत्री को आभार पत्र भेजा जाएगा। साथ ही उन्होंने कहा की तीनों कानून का लक्ष्य किसानों का आर्थिक और सामाजिक बेहतर करना है। इन कानूनों के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को आभार प्रकट किया।आज की प्रेसवार्ता में प्रदेश महामंत्री डॉ प्रदीप वर्मा एवम भवनाथपुर के विधायक पूर्व मंत्री भानुप्रताप शाही भी उपस्थित रहे।

Check Also

एक-एक वोट भाजपा के खिलाफ,हर एक वोट इंडिया गठबंधन के लिए

🔊 Listen to this रामगढ़lआगामी 20 मई 2024 को होने वाले लोकसभा चुनाव में हजारीबाग …